Thursday, September 21, 2017

Breaking News

   जम्मू कश्मीर के नौगाम में लश्कर कमांडर अबू इस्माइल के साथ मुठभेड़,     ||   राम रहीम मामले पर गौतम का गंभीर प्रहार, कहा- धार्मिक मार्केटिंग का यह एक क्लासिक उदाहरण    ||   ट्राई ने ओवरचार्जिंग के लिए आइडिया पर लगाया 2.9 करोड़ का जुर्माना    ||   मदरसों का 15 अगस्त को ही वीडियोग्राफी क्यों? याचिका दायर, सुनवाई अगले सप्ताह    ||   पंचकूला से लंदन तक दिखा राम-रहीम विवाद का असर, ब्रिटेन ने जारी की एडवाइजरी    ||   PAK कोर्ट ने हिंदू लड़की को मुस्लिम पति के साथ रहने की मंजूरी दी    ||   बिहार आए पीएम मोदी, बाढ़ से हुई तबाही की गहन समीक्षा की    ||   जेल में ही वीडियो कांफ्रेंसिंग के जरिए राम रहीम को सुनाई जाएगी सजा    ||   मच्छल में घुसपैठ नाकाम, पांच आतंकी ढेर, भारी मात्रा में गोलाबारूद बरामद    ||   जापान के बाद अब अमेरिका के साथ युद्धाभ्यास की तैयारी में भारत    ||

बैंकिंग सेक्टर में करियर बनाने वालों के लिए एक झटका देने वाली खबर

अंग्वाल संवाददाता
बैंकिंग सेक्टर में करियर बनाने वालों के लिए एक झटका देने वाली खबर

नई दिल्ली। अगर आप युवा हैं और बैंकिंग सेक्टर में अपना करियर बनाना चाहते हैं तो आपको यह खबर झटका दे सकती है। दरअसल, एक रिपोर्ट के मुताबिक आने वाले 5 साल में बैंकिंग सेक्टर में 30 फीसदी नौकरियों के घटने की आंशका जताई जा रही है। ऐसा कहना किसी और का नहीं बल्कि सिटी बैंक के पूर्व सीईओ विक्रम पंडित का है। उन्होंने हाल ही में एक इंटरव्यू के दौरान कहा कि उनका मानना है कि जिस तरह से बैंकों में रोबोट और ऑटोमेटिक मशीनरी को बढ़ावा दिया जा रहा है, उसे देखकर यह कहा जा सकता है कि अगले 5 सालों में बैंकिंग सेक्टर में नौकरी की संख्या में कमी आ सकती है। ऐसा नहीं है कि बैंकिंग क्षेत्र में नौकरियां कम होने को लेकर किसी ने पहली बार यह आंशका जताई हो। 

यह भी पढ़े-  12वीं पास के लिए रेलवे में नौकरी का मौका, जल्द करें आवेदन 


आपको बता दें कि इससे पहले बीसीजी ग्रुप के सौरभ त्रिपाठी ने कहा था कि छोटे पद की नौकरियां खत्म हो सकती हैं। उनके अनुसार, मशीनों और तकनीक की वजह से डाटा एंट्री वाले पद तक की नौकरियां खत्म हो सकती हैं। उन्होंने अपने बयान में कहा था कि जो भी चीजें आर्टिफीशियल इंटेलिजेंस, रोबोटिक्स और नेचुरल लेंग्वेज से होती हैं, उन सभी को आसान बनाने की कोशिश की जा रही है।  इससे नतीजे भी काफी अच्छे देखने को मिलते हैं। अब बैंकों में डाटा एंट्री, रकम जमा करना, रकम निकालना, फॉर्म भरने जैसे काम ऑनलाइन या मशीनों द्वारा काम काम किए जाने पर जोर दिया जा रहा है। इसका सीधा असर बैंक कर्मचारियों की संख्या पर पड़ेगा। 

Todays Beets: