Wednesday, September 26, 2018

Breaking News

   ग्रेटर नोएडा प्राधिकरण के पूर्व जीएम के ठिकानों पर आयकर के छापे     ||   बिहार: पूर्व मंत्री मदन मोहन झा बनाए गए प्रदेश कांग्रेस के अध्यक्ष। सांसद अखिलेश सिंह बनाए गए अभियान समिति के अध्यक्ष। कौकब कादिरी समेत चार बनाए गए कार्यकारी अध्यक्ष।     ||   कर्नाटक के मंत्री शिवकुमार के खिलाफ ED ने मनी लॉन्ड्रिंग का केस दर्ज किया    ||   सीतापुर में श्रद्धालुओें से भरी बस खाई में पलटी 26 घायल, 5 की हालत गंभीर     ||   मंगल ग्रह पर आशियाना बनाएगा इंसान, वैज्ञानिकों को मिली पानी की सबसे बड़ी झील     ||   भाजपा नेता का अटपटा ज्ञान, 'मृत्युशैया पर हुमायूं ने बाबर से कहा था, गायों का सम्मान करो'     ||   आज से एक हुए IDEA-वोडाफोन! अब बनेगी देश की सबसे बड़ी टेलीकॉम कंपनी     ||   गोवा में बड़ी संख्‍या में लोग बीफ खाते हैं, आप उन्‍हें नहीं रोक सकते: बीजेपी विधायक     ||   चीन फिर चल रहा 'चाल', डोकलाम में चुपचाप फिर शुरू कीं गतिविधियां : अमेरिकी अधिकारी     ||   नीरव मोदी, चोकसी के खिलाफ बड़ा एक्शन, 25-26 सितंबर को कोर्ट में पेश होने के आदेश     ||

आने वाले समय में इन क्षेत्रों में होंगे रोजगार के सबसे ज्यादा मौके, नौजवान अभी से शुरू कर दें तैयारी 

अंग्वाल न्यूज डेस्क
आने वाले समय में इन क्षेत्रों में होंगे रोजगार के सबसे ज्यादा मौके, नौजवान अभी से शुरू कर दें तैयारी 

नई दिल्ली। कभी लाखों की तादाद में नौजवानों को रोजगार देने वाले आईटी क्षेत्र में इन दिनों काफी मारामारी चल रही है। एक रिपोर्ट में कहा गया कि आने वाले वक्त में जमीन जायदाद, संगठित खुदरा, सौंदर्य एवं स्वास्थ्य, परिवहन और लॉजिस्टिक क्षेत्र में सबसे ज्यादा रोजगार के मौके होंगे। ऐसे में जो छात्र या नौजवान अभी 10वीं या 12वीं में हैं वे इस क्षेत्र के लिए अपने आपको तैयार कर सकते हैं।  

आईटी क्षेत्र के रोजगार में आई कमी  

गौरतलब है कि ‘एसोचैम-थॉट आर्बि्रटेज रिसर्च इंस्टीट्यूट पेपर’ की रिपोर्ट यह बताती है कि देश की सूचना प्रौद्योगिकी तथा आईटी से संबंधित सेवा क्षेत्र में अगले कुछ सालों में 10 लाख रोजगार सृजित हो सकते हैं। रिपोर्ट में यह भी कहा गया है कि आईटी क्षेत्र में रोजगार की कमी की संभावना पहले से ही थी। साल 2013 में इस क्षेत्र में रोजगार आधार 33 लाख था और 2022 तक इसमें 22 लाख और लोगों की जरूरत होगी। इसमें से करीब 10 लाख पिछले तीन-चार साल में जोड़े जा चुके हैं। यहां बता दें कि आईटी क्षेत्र में काम करने वाले ज्यादातर नौजवान देश से बाहर चले जाते हैं। अब अमेरिका में वीजा प्रतिबंध और हर रोज हो रहे प्रौद्योगिकी के विकास जैसी चुनौतियों से जूझ रहा है। 


अनआॅर्गेनाइज्ड क्षेत्र में ज्यादा संभावना

एसोचैम के महासचिव डी एस रावत ने कहा, हमारे देश में ही हर साल करीब डेढ़ से 2 करोड़ रोजगार की जरूरत है। ऐसे में हमें उन क्षेत्रों की तरफ भी ध्यान देना चाहिए जिनका विस्तार न केवल निर्यात बाजार में बल्कि देश के अंदर भी हुआ है। रोजगार सृजन की रिपोर्ट देते हुए रावत ने बताया कि साल 2013 में निर्माण और रीयल एस्टेट (बुनियादी ढांचा समेत) क्षेत्र में 4.54 करोड़ लोगों को रोजगार मिला हुआ था वहीं आने वाले समय में इस क्षेत्र में 3.11 करोड़ और लोगों की जरूरत होगी। इसी तरह से खुदरा क्षेत्र में आने वाले 5 सालों में कम से कम एक से सवा करोड़ नए रोजगार पैदा हो सकते हैं। इसके अलावा फैशन के क्षेत्र में रोजगार की काफी संभावनाएं पैदा होने वाली हैं।  

Todays Beets: