Sunday, January 21, 2018

Breaking News

   98 साल की उम्र में MA करने वाले राज कुमार का संदेश, कहा-हमेशा कोशिश करते रहें     ||   मुंबई स्टॉक एक्सचेंज ने पार किया 34000 का आंकड़ा, ऑफिस में जश्न का माहौल     ||   पं. बंगाल: मालदा से 2 लाख रुपये के फर्जी नोट बरामद, एक गिरफ्तार    ||   सेक्स रैकेट का भंड़ाभोड़: दिल्ली की लेडी डॉन सोनू पंजाबन अरेस्ट    ||   रूपाणी कैबिनेट: पाटीदारों का दबदबा, 1 महिला को भी मंत्रिमंडल में मिली जगह    ||   पशु तस्करों और पुलिस में मुठभेड़, जवाबी गोलीबारी में एक मरा, घायल गायें बरामद    ||   RTI में खुलासा- भगत सिंह-राजगुरु-सुखदेव को अब तक नहीं मिला शहीद का दर्जा, सरकारी किताब में बताया गया 'आतंकी'     ||    गुजरात चुनाव: रैली में बोले BJP नेता- दाढ़ी-टोपी वालों को कम करना पड़ेगा, डराने आया हूं ताकि वो आंख न उठा सकें    ||   मध्य प्रदेश: बाबरी विध्वंस पर जुलूस निकाल रहे विहिप-बजरंग दल कार्यकर्ता पर पथराव, भड़क गई हिंसा    ||   बैंक अकाउंट को आधार से जोड़ने की तारीख बढ़ी, जानिए क्या है नई तारीख    ||

आईटी सेक्टर के लिए अच्छी खबर,इंफोसिस इस साल देगा 20,000 लोगो को नौकरी

मेघा वर्मा
आईटी सेक्टर के लिए अच्छी खबर,इंफोसिस इस साल देगा 20,000 लोगो को नौकरी

नई दिल्ली। देश में आईटी सेक्टर में छटनी की खबर से मचे हंगामे के बीच कर्मचारियों को लिए एक राहत भरी खबर आ रही है। शुक्रवार को आईटी सेक्टर की बड़ी कंपनियों में से एक इंफोसिस कंपनी ने इस साल 20,000 नई भर्ती करने के लिए कहा है। केवल 400 कर्मचारियों को ही उनके प्रर्दशन के आधार पर नौकरी छोड़ने के लिए कहा गया है। कंपनी के मुताबिक आईटी कंपनियो ने छंटनी की बात को बढ़ा-चढ़ाकर पेश किया गया है। इंफोसिस के सीओओ यूबी प्रवीण झा राव ने कहा प्रोद्यगिकी आधारित बदलाव इंफोसिस जैसी कंपनियों के लिए नए अवसर प्रदान करते है। राव ने कंपनी के को-चेयरमैन रवि वेंकटेशन के साथ शुक्रवार को सूचना प्रोद्यगिकी मंत्री रविशंकर प्रसाद से मुलाकात की औक यह बैठक लगभग आधे तक चली । इसके बाद राव ने कहा कि कर्मचारियों के छंटनी कि को मीडिया ने बढ़ा-चढ़ाकर पेश किया गया है। कर्मचारी के प्रर्दशन ने आधार प यह हर साल किया जाता है। छंटनी वाले कर्मीयों की संख्या केवल 300-400 है। सह कोई नई बात नहीं है। कंपनी और नए रोटगार की तैयारियां कर रही हैं। आपको याद दिला दें कि इंफोसिस के सह-संस्थापक एनआर नायारणमूर्ति ने कहा था कि अगर वरिष्ठ अधिकारी अपने वेतन में कटौती को तैयार हो जाएं तो युवाओं की नौकरियां बचाई जा सकती है। वेतन कटौती से होने वाली बचत को कर्मचारियों की ट्रेनिंग में लगाई दानी चाहिए। टाटा और इंफोसिस जैसी आईटी कंपनियां बढ़ी संख्या में नियुक्ति जारी रखेंगी।


Todays Beets: