Monday, October 22, 2018

Breaking News

   सेना हर चुनौती से न‍िपटने के ल‍िए तैयार, सर्जिकल स्ट्राइक भी व‍िकल्‍प: रणबीर सिंह    ||   BJP विधायक मानवेंद्र ने बदला पाला, राज्यवर्धन बोले- कांग्रेस ने 70 साल में मंत्री नहीं बनाया    ||   सबरीमाला मंदिर में महिलाओं के प्रवेश पर छिड़ी जंग, हिरासत में 30 प्रदर्शनकारी    ||   विवेक तिवारी हत्याकांडः HC की लखनऊ बेंच ने CBI जांच की मांग ठुकराई    ||   केरलः अंतरराष्ट्रीय हिंदू परिषद ने सबरीमाला फैसले के खिलाफ HC में लगाई याचिका    ||   कोलकाताः HC ने दुर्गा पूजा आयोजकों को ममता के 28 करोड़ देने के फैसले पर रोक लगाई    ||    रूस के साथ S-400 एयर डिफेंस मिसाइल पर भारत की डील    ||   नार्वेः राजधानी ओस्लो में आज होगा शांति के नोबेल पुरस्कार का ऐलान    ||   अंकित सक्सेना मर्डर केसः ट्रायल के लिए अभियोगपक्ष के 2 वकीलों की नियुक्ति    ||   जम्मू कश्मीर में नेशनल कॉफ्रेंस के दो कार्यकर्ताओं की गोली मारकर हत्या, मरने वालों में एक MLA का पीए भी     ||

 उत्तरप्रदेश सचिवालय में होगी हजारों पदों पर भर्ती, जल्द ही निकाले जाएंगे आवेदन

अंग्वाल न्यूज डेस्क
 उत्तरप्रदेश सचिवालय में होगी हजारों पदों पर भर्ती, जल्द ही निकाले जाएंगे आवेदन

लखनऊ। उत्तर प्रदेश सरकार नौजवानों को जल्द ही नौकरी का बड़ा मौका देने जा रही है। उत्तरप्रदेश सचिवालय में खाली पड़े हजारों पदों की भर्ती के लिए उत्तरप्रदेश लोक सेवा आयोग के पास अधिचायन भेजा है। इस पर जल्द ही भर्ती प्रक्रिया शुरू कर दी जाएगी। भर्ती प्रक्रिया पूरी होने पर सचिवालय में कर्मचारियों की कमी दूर हो जाएगी। 

सचिवालय प्रशासन विभाग ने समीक्षा अधिकारी के 441, 

समीक्षा अधिकारी लेखा के 47 पद, 

सहायक समीक्षा अधिकारी के 327, 

सहायक समीक्षा अधिकारी लेखा के 25 पदों पर भर्ती किया जाएगा। इन पदों पर भर्ती के लिए लोक सेवा आयोग इलाहाबाद को अधियाचन भेजा जा चुका है। इसी प्रकार कंप्यूटर सहायक के 144 पद, विधान भवन रक्षक के 69 पद और विधानभवन आग्नेय रक्षक के 13 पदों पर भर्ती के लिए अधीनस्थ सेवा चयन आयोग को अधियाचन भेजा जा चुका है। इन पदों पर भर्ती के साथ ही सचिवालय में स्वीकृत सभी पद भर जाएंगे। 


ये भी पढ़ें - उत्तराखंड मेट्रो रेल काॅरपोरेशन करेगा कई पदों पर भर्तियां, इच्छुक उम्मीदवार करें आवेदन

इन पदों पर भर्ती होने के बाद यूपी में अधिकारियों और कर्मचारियों की कमी दूर हो जाएगी। गौर करने वाली बात है कि अगस्त महीने में मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ ने सचिवालय प्रशासन विभाग की समीक्षा के दौरान लोक सेवा आयोग और अधीनस्थ सेवा चयन आयोग को भेजे गए अधियाचन के लंबित होने के कारणों को पूछा था। कार्मिक विभाग को निर्देशित किया था कि दोनों आयोगों से समन्वय कर भर्ती प्रक्रिया शुरू कराएं। 

मुख्यमंत्री ने दोनों आयोगों के अध्यक्ष और सचिव के साथ बैठक कराने की बात कही थी। सचिवालय प्रशासन विभाग के सूत्रों से मिली जानकारी के मुताबिक, इस संबंध में कार्मिक विभाग को पत्र भेजा गया है। उम्मीद जताई जा रही है कि अगले दो-चार महीनों के अंदर ही आयोग सचिवालय सेवा के रिक्त पदों के लिए विज्ञापन निकालना शुरू कर देंगे।

 

 

Todays Beets: