Tuesday, February 19, 2019

Breaking News

   महाराष्ट्रः ईस्ट इंडिया कंपनी द्वारा चलाई गई शकुंतला नैरो गेज ट्रेन में लगी आग     ||   केरलः दक्षिण पश्चिम तट से अवैध तरीके से भारत में घुसते 3 लोग गिरफ्तार     ||   ताबड़तोड़ एनकाउंटर पर योगी सरकार को SC का नोटिस, CJI बोले- विस्तृत सुनवाई की जरूरत     ||   तेहरान में बोइंग 707 किर्गिज कार्गो प्लेन क्रैश, 10 क्रू मेंबर की मौत     ||   PM मोदी बोले- जवानों के बाद किसानों की आंखों में धूल झोंक रही कांग्रेस     ||   PM मोदी बोले- हम ईमानदारी से कोशिश करते हैं, झूठे सपने नहीं दिखाते     ||   कुशल भ्रष्टाचार और अक्षम प्रशासन का मॉडल है कांग्रेस-कम्युन‍िस्ट सरकार-PM मोदी     ||   CBI: राकेश अस्थाना केस में द‍िल्ली हाई कोर्ट में सुनवाई 20 द‍िसंबर तक टली     ||   बैडम‍िंटन खि‍लाड़ी साइना नेहवाल ने पी कश्यप से की शादी     ||   गुलाम नबी आजाद ने जीवन भर कांग्रेस की गुलामी की है: ओवैसी     ||

 उत्तरप्रदेश सचिवालय में होगी हजारों पदों पर भर्ती, जल्द ही निकाले जाएंगे आवेदन

अंग्वाल न्यूज डेस्क
 उत्तरप्रदेश सचिवालय में होगी हजारों पदों पर भर्ती, जल्द ही निकाले जाएंगे आवेदन

लखनऊ। उत्तर प्रदेश सरकार नौजवानों को जल्द ही नौकरी का बड़ा मौका देने जा रही है। उत्तरप्रदेश सचिवालय में खाली पड़े हजारों पदों की भर्ती के लिए उत्तरप्रदेश लोक सेवा आयोग के पास अधिचायन भेजा है। इस पर जल्द ही भर्ती प्रक्रिया शुरू कर दी जाएगी। भर्ती प्रक्रिया पूरी होने पर सचिवालय में कर्मचारियों की कमी दूर हो जाएगी। 

सचिवालय प्रशासन विभाग ने समीक्षा अधिकारी के 441, 

समीक्षा अधिकारी लेखा के 47 पद, 

सहायक समीक्षा अधिकारी के 327, 

सहायक समीक्षा अधिकारी लेखा के 25 पदों पर भर्ती किया जाएगा। इन पदों पर भर्ती के लिए लोक सेवा आयोग इलाहाबाद को अधियाचन भेजा जा चुका है। इसी प्रकार कंप्यूटर सहायक के 144 पद, विधान भवन रक्षक के 69 पद और विधानभवन आग्नेय रक्षक के 13 पदों पर भर्ती के लिए अधीनस्थ सेवा चयन आयोग को अधियाचन भेजा जा चुका है। इन पदों पर भर्ती के साथ ही सचिवालय में स्वीकृत सभी पद भर जाएंगे। 


ये भी पढ़ें - उत्तराखंड मेट्रो रेल काॅरपोरेशन करेगा कई पदों पर भर्तियां, इच्छुक उम्मीदवार करें आवेदन

इन पदों पर भर्ती होने के बाद यूपी में अधिकारियों और कर्मचारियों की कमी दूर हो जाएगी। गौर करने वाली बात है कि अगस्त महीने में मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ ने सचिवालय प्रशासन विभाग की समीक्षा के दौरान लोक सेवा आयोग और अधीनस्थ सेवा चयन आयोग को भेजे गए अधियाचन के लंबित होने के कारणों को पूछा था। कार्मिक विभाग को निर्देशित किया था कि दोनों आयोगों से समन्वय कर भर्ती प्रक्रिया शुरू कराएं। 

मुख्यमंत्री ने दोनों आयोगों के अध्यक्ष और सचिव के साथ बैठक कराने की बात कही थी। सचिवालय प्रशासन विभाग के सूत्रों से मिली जानकारी के मुताबिक, इस संबंध में कार्मिक विभाग को पत्र भेजा गया है। उम्मीद जताई जा रही है कि अगले दो-चार महीनों के अंदर ही आयोग सचिवालय सेवा के रिक्त पदों के लिए विज्ञापन निकालना शुरू कर देंगे।

 

 

Todays Beets: