Tuesday, October 23, 2018

Breaking News

   सेना हर चुनौती से न‍िपटने के ल‍िए तैयार, सर्जिकल स्ट्राइक भी व‍िकल्‍प: रणबीर सिंह    ||   BJP विधायक मानवेंद्र ने बदला पाला, राज्यवर्धन बोले- कांग्रेस ने 70 साल में मंत्री नहीं बनाया    ||   सबरीमाला मंदिर में महिलाओं के प्रवेश पर छिड़ी जंग, हिरासत में 30 प्रदर्शनकारी    ||   विवेक तिवारी हत्याकांडः HC की लखनऊ बेंच ने CBI जांच की मांग ठुकराई    ||   केरलः अंतरराष्ट्रीय हिंदू परिषद ने सबरीमाला फैसले के खिलाफ HC में लगाई याचिका    ||   कोलकाताः HC ने दुर्गा पूजा आयोजकों को ममता के 28 करोड़ देने के फैसले पर रोक लगाई    ||    रूस के साथ S-400 एयर डिफेंस मिसाइल पर भारत की डील    ||   नार्वेः राजधानी ओस्लो में आज होगा शांति के नोबेल पुरस्कार का ऐलान    ||   अंकित सक्सेना मर्डर केसः ट्रायल के लिए अभियोगपक्ष के 2 वकीलों की नियुक्ति    ||   जम्मू कश्मीर में नेशनल कॉफ्रेंस के दो कार्यकर्ताओं की गोली मारकर हत्या, मरने वालों में एक MLA का पीए भी     ||

स्वस्थ जीवन के लिए बस करना होगा जीवनशैली में ये छोटा सा बदलाव, फिर हर दिन रहेंगे ऊर्जा से भरपूर

अंग्वाल न्यूज डेस्क
स्वस्थ जीवन के लिए बस करना होगा जीवनशैली में ये छोटा सा बदलाव, फिर हर दिन रहेंगे ऊर्जा से भरपूर

नई दिल्ली। रोजमर्रा के व्यस्त जीवन में खुद की सेहत का ख्याल रखना हम कहीं न कहीं भूला देते हैं। मौजूदा जीवनशैली में लोग इस कदर अपने में रमे हुए हैं कि उनके पास खुद के लिए भी समय नहीं है। इस कारण आजकल लोग कम उम्र में ही कई गंभीर बीमारियों की चपेट में आ जाते हैं। ऐसे में लंबी उम्र और स्वस्थ जीवन कौन नहीं चाहता। इसलिए खुद को चुस्त और सेहतमंद बनाए रखने के लिए हमें लगातार प्रयास करते रहना चाहिए। आज हम आपको एक ऐसा उपाए बताने जा रहे हैं जिसका पालन करते हुए आप लंबी उम्र और सेहतमंद जीवन जी सकते हैं।

तेज कदमों के साथ करें वॉक

अगर आप भी लंबी उम्र और सेहतमंद जीवन चाहते हैं, तो तेज गति से चलना शुरू कर दें। ऐसा करने से आप न केवल सेहतमंद रहेंगे बल्कि दिल से संबंधी बीमारियों को भी अपने से दूर रख सकते हैं।

क्या कहते हैं शोध


कई शोध में यह बात सामने आई है कि औसत गति से चलने से दिल से संबंधी बीमारियों की मृत्युदर 21 फीसदी कमी आती है, जबकि दूसरी ओर तेज गति से चलने पर मृत्युदर में 24 फीसदी तक की कमी देखी जा सकती है।

हेल्थ प्रोफेसर एमानुएल स्टामाटेकिस के अनुसार

सिडनी विश्वविद्यलय के चाल्स परकिंस सेंटर व स्कूल ऑफ पब्लिक हेल्थ प्रोफेसर एमानुएल के मुताबिक औसत गति से चलना सभी तरह के मृत्युदर के खतरे को कम करने में सहायक होता है। हालांकि, ऐसा कोई परिणाम नहीं है कि तेजी से चलने से कैंसर की मृत्युदर पर असर करता है। यहां आपको बता दें कि तेज गति से चलना आमतौर पर 5 से 7 किलोमीटर प्रति घंटा होता है, लेकिन यह चलने वाले की फिटनेस के स्तर पर भी निर्भर करता है।

Todays Beets: