Saturday, September 23, 2017

Breaking News

   जम्मू कश्मीर के नौगाम में लश्कर कमांडर अबू इस्माइल के साथ मुठभेड़,     ||   राम रहीम मामले पर गौतम का गंभीर प्रहार, कहा- धार्मिक मार्केटिंग का यह एक क्लासिक उदाहरण    ||   ट्राई ने ओवरचार्जिंग के लिए आइडिया पर लगाया 2.9 करोड़ का जुर्माना    ||   मदरसों का 15 अगस्त को ही वीडियोग्राफी क्यों? याचिका दायर, सुनवाई अगले सप्ताह    ||   पंचकूला से लंदन तक दिखा राम-रहीम विवाद का असर, ब्रिटेन ने जारी की एडवाइजरी    ||   PAK कोर्ट ने हिंदू लड़की को मुस्लिम पति के साथ रहने की मंजूरी दी    ||   बिहार आए पीएम मोदी, बाढ़ से हुई तबाही की गहन समीक्षा की    ||   जेल में ही वीडियो कांफ्रेंसिंग के जरिए राम रहीम को सुनाई जाएगी सजा    ||   मच्छल में घुसपैठ नाकाम, पांच आतंकी ढेर, भारी मात्रा में गोलाबारूद बरामद    ||   जापान के बाद अब अमेरिका के साथ युद्धाभ्यास की तैयारी में भारत    ||

अगर जोडों के दर्द से हैं परेशान तो  मिर्च को खाने में करें शामिल और घुटने के दर्द से पाएं निजात

अंग्वाल न्यूज डेस्क
अगर जोडों के दर्द से  हैं परेशान तो  मिर्च को खाने में करें शामिल और घुटने के दर्द से पाएं निजात

नई दिल्ली। मिर्ची खाना सबके बस की बात नहीं है। एक छोटी सी मिर्च आपकी आंख, नाक और कान को लाल करने के लिए काफी होती है। आइए आपको बता दें कि मिर्च सिर्फ आपके खाने को ही स्वादिष्ट नहीं बनाता है बल्कि इसमें औषधीय गुण भी भरपूर है। मिर्च आपके शरीर में होने वाले दर्द को खत्म करने में भी मददगार साबित हो सकता है। जी हां, विशेषज्ञों ने इसमें पाए जाने वाले ट्रांस कैप्सेसिन निकालने का दावा किया है। 

घुटनों के दर्द से मिलेगी निजात

गौरतलब है कि ट्रांस कैप्सेसिन शरीर में दर्द देने वाले फाइबर को निकाल देता है। शोधकर्ताओं ने इसके जरिए एक दर्दनिवारक दवाई बनाने का दावा किया है जो घुटनों के दर्द से राहत दिलाएगी। यह दवा दर्द की जगह पर इंजेक्शन के जरिये दी जाएगी। खास बात यह है कि दवा की एक खुराक लेने के बाद मरीज को 6 महीने के लिए राहत मिल जाएगी। इस दवा का परीक्षण घुटनों में ऑस्टियोआर्थराइटिस के 175 जटिल मरीजों पर किया गया।


सूजन को खत्म करने में सहायक

आपको बता दें कि इस बीमारी में कार्टिलेज को क्षति होती है, साथ ही दर्द, सूजन और शरीर का वह जोड़ लगभग निष्क्रिय हो जाता है। अध्ययन के दौरान जमा किए आंकड़ों में कहा गया है कि जिन मरीजों को मिर्च के तत्व ट्रांस कैप्सेसिन से बनी दवा दी गई उन्हें दर्द में काफी राहत महसूस हुई। इसके साथ ही उनके घुटनों की अकड़न भी कम हुई और अगले 6 महीने तक उन्हें किसी प्रकार के जोड़ों का दर्द नहीं हुआ।    

Todays Beets: