Monday, July 23, 2018

Breaking News

   जापान में फ़्लैश फ्लड से 200 लोगों की मौत     ||   देहरादून में जलभराव पर सरकार ने लिया संज्ञान अधिकारियों को दिए निर्देश     ||   भारत ने टॉस जीता फील्डिंग करने का फैसला     ||   उपेन्द्र राय मनी लाउंड्रिंग मामले में सीबीआई ने 2 अधिकारियों को गिरफ्तार किया     ||   नीतीश का गठबंधन को जवाब कहा गठबंधन सिर्फ बिहार में है बाहर नहीं     ||   जापान में बारिश का कहर जारी 100 से ज्यादा लोगों की मौत     ||   PM मोदी के नोएडा दौरे से पहले लगा भारी जाम, पढ़ें पूरी ट्रैफिक एडवाइजरी     ||    नीतीश ने दिए संकेत: केवल बिहार में है भाजपा और जदयू का गठबंधन, राष्ट्रीय स्तर पर हम साथ नहीं    ||   निर्भया मामले में तीनों दोषियों को होगी फांसी, सुप्रीम कोर्ट ने याचिका ठुकराई    ||   उत्तर भारत में धूल: चंडीगढ़ में सुबह 11 बजे अंधेरा छाया, 26 उड़ानें रद्द; दिल्ली में भी धूल कायम     ||

रसोई घर में इस्तेमाल होने वाले सामानों में होते हैं बैक्टीरिया, बना सकते हैं आपको बीमार

अंग्वाल न्यूज डेस्क
रसोई घर में इस्तेमाल होने वाले सामानों में होते हैं बैक्टीरिया, बना सकते हैं आपको बीमार

नई दिल्ली। आमतौर पर घर परिवार के लोगों को सेहतमंद रखने की शुरुआत रसोई से ही होती है इस वजह से वहां साफ-सफाई का खास ख्याल रखा जाता है। यह बात शायद की कोई सोच सकता है कि इतनी सफाई के बावजूद आप रोग के शिकार हो सकते हैं। हालांकि रसोई को आमतौर पर साफ रखा जाता है इसके बावजूद वहां इस्तेमाल होने वाले कई सामान ऐसे हैं जिनमें बहुत से कीटाणु होते हैं। इसकी वजह से संक्रमण के कारण फैलने वाली ई-कोलाई और सालमोनेला जैसी खतरनाक बीमारियां हो सकती हैं। इनमें बर्तन से लेकर सब्जियां काटने वाली चाॅपिंग बोर्ड तक शामिल हैं। 

शौचालय से भी गंदा है किचन

गौरतलब है कि हाल में हुए एक शोध में इस बात का खुलासा हुआ कि रसोईघर के प्रतिवर्ग इंच जगह में करीब 61,597 बैक्टीरिया हो सकते हैं।  इतनी बड़ी तादाद में बैक्टीरिया में पाए जाने की वजह से रसोई घर को शौचालय से भी ज्यादा गंदा जगह माना गया है। इन बैक्टीरिया के चलते लोगों को मिचली, डायरिया और असहनीय पेट दर्द का सामना करना पड़ सकता है।  


चाॅपिंग बोर्ड का बदलाव जरूरी

स्वास्थ्य के क्षेत्र में काम करने वाली एक वेबसाइट ‘द हाइजीन डाॅक्टर’ की चिकित्सक का कहना है कि चाॅपिंग बोर्ड बैक्टीरिया के पनपने की खास जगह मानी जाती है। ऐसे में अपने चाॅपिंग बोर्ड को समय-समय पर बदलते रहना चाहिए। इसके साथ ही बर्तनों को साबुन से साफ करने के साथ कीटाणुनाशक से भी साफ करना चाहिए।  

 

Todays Beets: