Sunday, January 21, 2018

Breaking News

   98 साल की उम्र में MA करने वाले राज कुमार का संदेश, कहा-हमेशा कोशिश करते रहें     ||   मुंबई स्टॉक एक्सचेंज ने पार किया 34000 का आंकड़ा, ऑफिस में जश्न का माहौल     ||   पं. बंगाल: मालदा से 2 लाख रुपये के फर्जी नोट बरामद, एक गिरफ्तार    ||   सेक्स रैकेट का भंड़ाभोड़: दिल्ली की लेडी डॉन सोनू पंजाबन अरेस्ट    ||   रूपाणी कैबिनेट: पाटीदारों का दबदबा, 1 महिला को भी मंत्रिमंडल में मिली जगह    ||   पशु तस्करों और पुलिस में मुठभेड़, जवाबी गोलीबारी में एक मरा, घायल गायें बरामद    ||   RTI में खुलासा- भगत सिंह-राजगुरु-सुखदेव को अब तक नहीं मिला शहीद का दर्जा, सरकारी किताब में बताया गया 'आतंकी'     ||    गुजरात चुनाव: रैली में बोले BJP नेता- दाढ़ी-टोपी वालों को कम करना पड़ेगा, डराने आया हूं ताकि वो आंख न उठा सकें    ||   मध्य प्रदेश: बाबरी विध्वंस पर जुलूस निकाल रहे विहिप-बजरंग दल कार्यकर्ता पर पथराव, भड़क गई हिंसा    ||   बैंक अकाउंट को आधार से जोड़ने की तारीख बढ़ी, जानिए क्या है नई तारीख    ||

बथुआ है औषधीय गुणों से भरपूर, रोजाना करें सेवन और कई बीमारियों से पाएं निजात

अंग्वाल न्यूज डेस्क
बथुआ है औषधीय गुणों से भरपूर, रोजाना करें सेवन और कई बीमारियों से पाएं निजात

नई दिल्ली। ठंड के मौसम में बाजार में फलों और सब्जियों की भरमार रहती है। इन मौसमी सब्जियों के अपने अलग फायदे हैं। इस मौसम में बाजार में पालक, सरसों, चने और बथुए का साग बड़ी मात्रा में मिलने लगते हैं। क्या आपको पता है कि बथुआ के साग खाने से कई तरह की बीमारियों से आपको निजात मिल सकती है। अगन नहीं तो हम आपको बता रहे हैं बथुए के साग के फायदे के बारे में।

 

-अगर आप रोजाना बथुए का सेवन करते हैं तो आपको गुर्दे की पथरी की समस्या नहीं होगी। 

-यह आपके अमाशय को मजबूत बनाता है। इसके सेवन से कब्ज की परेशानी से भी निजात मिलता है। यह आपके शरीर को चुस्त और फुर्तीला बनाता है।

- अगर आप पथरी की समस्या से जूझ रहे हैं तो एक गिलास कच्चे बथुए के रस में चीनी मिलाकर नित्य सेवन करें तो पथरी टूटकर बाहर निकल आएगी।


ये भी पढ़ें - कम पानी पीने वालों का ध्यान रखेगी स्मार्ट बोतल, साधारण पानी को भी बनाएगा स्वादिष्ट 

-बथुआ महिलाओं के लिए भी काफी लाभदायक है। अगर मासिक धर्म रुका हुआ हो तो दो चम्मच बथुए के बीज एक गिलास पानी में उबालें और आधा रहने पर छानकर पी जाएं। मासिक धर्म की समस्या से निजात मिलेगी।

-बथुआ के सेवन से पेशाब में जलन, पेशाब कर चुकने के बाद होने वाला दर्द, टीस उठना ठीक हो जाता है।

- कच्चे बथुए का रस एक कप में स्वादानुसार मिलाकर एक बार नित्य पीते रहने से कृमि मर जाते हैं। बथुए के बीज एक चम्मच पिसे हुए शहद में मिलाकर चाटने से भी कृमि मर जाते हैं तथा रक्तपित्त ठीक हो जाता है।  

 

Todays Beets: