Monday, February 19, 2018

Breaking News

   98 साल की उम्र में MA करने वाले राज कुमार का संदेश, कहा-हमेशा कोशिश करते रहें     ||   मुंबई स्टॉक एक्सचेंज ने पार किया 34000 का आंकड़ा, ऑफिस में जश्न का माहौल     ||   पं. बंगाल: मालदा से 2 लाख रुपये के फर्जी नोट बरामद, एक गिरफ्तार    ||   सेक्स रैकेट का भंड़ाभोड़: दिल्ली की लेडी डॉन सोनू पंजाबन अरेस्ट    ||   रूपाणी कैबिनेट: पाटीदारों का दबदबा, 1 महिला को भी मंत्रिमंडल में मिली जगह    ||   पशु तस्करों और पुलिस में मुठभेड़, जवाबी गोलीबारी में एक मरा, घायल गायें बरामद    ||   RTI में खुलासा- भगत सिंह-राजगुरु-सुखदेव को अब तक नहीं मिला शहीद का दर्जा, सरकारी किताब में बताया गया 'आतंकी'     ||    गुजरात चुनाव: रैली में बोले BJP नेता- दाढ़ी-टोपी वालों को कम करना पड़ेगा, डराने आया हूं ताकि वो आंख न उठा सकें    ||   मध्य प्रदेश: बाबरी विध्वंस पर जुलूस निकाल रहे विहिप-बजरंग दल कार्यकर्ता पर पथराव, भड़क गई हिंसा    ||   बैंक अकाउंट को आधार से जोड़ने की तारीख बढ़ी, जानिए क्या है नई तारीख    ||

केक पर लगी मोमबत्तियां फूंकना हो सकता है सेहत के लिए हानिकारक, फैलता है संक्रमण का खतरा

अंग्वाल संवाददाता
केक पर लगी मोमबत्तियां फूंकना हो सकता है सेहत के लिए हानिकारक, फैलता है संक्रमण का खतरा

वशिंगटन। जन्मदिन के मौके पर केक काटने और मोमबती बुझाना पुराना रिवाज है, लेकिन यह जलती मोमबत्तियां बुझाना आपकी सेहत पर भारी पड़ सकता है। हाल ही में शोधकर्ताओं ने खुलासा किया है कि इन मोमबत्तियों को बुझाने से संक्रमण का खतरा बढ़ जाता है। बता दें कि पहले की तुलना में केक पर लगी मोमबत्तियों को बुझाने की इस लोकप्रिय परंपरा में 1400 फीसदी तक इजाफा हुआ है। अमेरिका की क्लेमसन यूनिवर्सिटी के शोधकर्ताओं ने जांच की कि आखिर केक पर लगी मोमबत्तियों से किस प्रकार बैक्टीरिया मनुष्य के शरीर पर असर डालते हैं। 

 

 

यह भी पढ़े- जानिए BP, कोलेस्ट्राल के साथ और किन अन्यों चीजों में सेहत के लिए फायदेमंद होता है पपीता  


 

अध्ययन में पाया गया कि मनुष्य की सांस में मौजूद एरोसॉल के कारण बैक्टीरिया केक में शामिल हो जाते हैं। शोधकर्ताओं ने बताया, कि जन्मदिन पर केक काटने से पहले उस पर लगी मोमबत्तियां बुझाने की पंरपरा कैसे शुरू हुई इसके बारे में अलग-अलग तरह की राय है। केक पर मोमबत्ती लगाने का रिवाज सबसे पहले यूनान में शुरू हुआ था। तब लोग केक पर मोमबत्तियां लगा कर आर्टिमिस देवी के मंदिर जाते थे। उनका मानना था कि इसे धुएं से उनकी प्रार्थना ईश्वर तक पहुंचेगी।  

 

यह भी पढ़े- जानिएं कैसे पाएं सिगरेट पीने की लत से छुटकारा...

Todays Beets: