Friday, December 15, 2017

Breaking News

   पशु तस्करों और पुलिस में मुठभेड़, जवाबी गोलीबारी में एक मरा, घायल गायें बरामद    ||   RTI में खुलासा- भगत सिंह-राजगुरु-सुखदेव को अब तक नहीं मिला शहीद का दर्जा, सरकारी किताब में बताया गया 'आतंकी'     ||    गुजरात चुनाव: रैली में बोले BJP नेता- दाढ़ी-टोपी वालों को कम करना पड़ेगा, डराने आया हूं ताकि वो आंख न उठा सकें    ||   मध्य प्रदेश: बाबरी विध्वंस पर जुलूस निकाल रहे विहिप-बजरंग दल कार्यकर्ता पर पथराव, भड़क गई हिंसा    ||   बैंक अकाउंट को आधार से जोड़ने की तारीख बढ़ी, जानिए क्या है नई तारीख    ||   पशु तस्करों और पुलिस में मुठभेड़, जवाबी गोलीबारी में एक मरा, घायल गायें बरामद     ||   अश्विन ने लगाया विकेटों का सबसे तेज 'तिहरा शतक', लिली को छोड़ा पीछे     ||   पूरा हुआ सपना चौधरी का 'सपना', बेघर होने के साथ बॉलीवुड से मिला बड़ा ऑफर    ||   PAK सरकार ने शर्तें मानीं, प्रदर्शन खत्म करने कानून मंत्री को देना पड़ा इस्तीफा    ||   मैदान पर विराट के आक्रामक रवैये पर राहुल द्रविड़ को सताई चिंता     ||

बच्चों का ज्यादा टीवी देखना है खतरनाक, हो सकता है मोटापे का शिकार 

अंग्वाल न्यूज डेस्क
बच्चों का ज्यादा टीवी देखना है खतरनाक, हो सकता है मोटापे का शिकार 

नई दिल्ली। बच्चों की शारीरिक कमजोरी और बढ़ते मोटापे के लिए टीवी को काफी हद तक जिम्मेदार माना गया है। यूरोपीय एकेडमी आॅफ पेडियाट्रिक्स में हुए शोध में इस बात का पता चला है कि अगर बच्चा 90 मिनट यानी कि डेढ़ घंटे से ज्यादा टीवी देखता है तो उसमें मोटापे की समस्या ज्यादा रहती है। ऐसे में अगर आपके घर में भी अगर छोटे बच्चों की ऐसी आदत है तो सावधान हो जाएं। 

टीवी के सामने बैठना नुकसानदायक

गौरतलब है कि स्वतंत्र रूप से शोध कर रहे यूरोपीय एकेडमी आॅफ पेडियाट्रिक्स के चाइल्ड हेल्थ विशेषज्ञों के एक समूह का कहना है कि बच्चों में बढ़ रहे मोटापे का सोशल मीडिया से सीधा संबंध है। शोध में पता चला है कि मोटापा और लंबे समय तक टीवी या कम्प्यूटर के सामने बैठे रहने का गहरा संबंध है। खासकर कम उम्र के बच्चों में इसका प्रभाव देखने को मिलता है।


ये भी पढ़ें - सर्दियों में जमकर खाएं अमरूद और पाएं बीमारियों से निजात

4 साल के बच्चों के लिए खतरनाक

आपको बता दें कि शोध में मिले आंकड़े और तथ्यों के आधार पर विशेषज्ञों का कहना है कि बच्चों के माता-पिता को सावधान हो जाना चाहिए। बच्चों में मोटापा और सोशल मीडिया पर शोध रिपोर्ट लिखने वाले डॉ एडम्स हदजीपनायिस ने लिखा है कि माता-पिता को चाहिए कि वह बच्चों लिए टीवी या कम्प्यूटर के सामने लगातार डेढ़ घंटे से ज्यादा न बैठने दें।  विशेषज्ञों का मानना है कि बचपन में मोटापे का बढ़ना एक खतरनाक स्तर में है। ऐसे में माता-पिता को सतर्क हो जाना चाहिए। शोध में इसबात का भी पता चला है कि भारत में 14.4 मिलियन बच्चे यानी एक करोड़ 40 लाख 40 हजार बच्चे मोटापा के शिकार हैं।

Todays Beets: