Wednesday, August 15, 2018

Breaking News

   मंगल ग्रह पर आशियाना बनाएगा इंसान, वैज्ञानिकों को मिली पानी की सबसे बड़ी झील     ||   भाजपा नेता का अटपटा ज्ञान, 'मृत्युशैया पर हुमायूं ने बाबर से कहा था, गायों का सम्मान करो'     ||   आज से एक हुए IDEA-वोडाफोन! अब बनेगी देश की सबसे बड़ी टेलीकॉम कंपनी     ||   गोवा में बड़ी संख्‍या में लोग बीफ खाते हैं, आप उन्‍हें नहीं रोक सकते: बीजेपी विधायक     ||   चीन फिर चल रहा 'चाल', डोकलाम में चुपचाप फिर शुरू कीं गतिविधियां : अमेरिकी अधिकारी     ||   नीरव मोदी, चोकसी के खिलाफ बड़ा एक्शन, 25-26 सितंबर को कोर्ट में पेश होने के आदेश     ||   जापान में फ़्लैश फ्लड से 200 लोगों की मौत     ||   देहरादून में जलभराव पर सरकार ने लिया संज्ञान अधिकारियों को दिए निर्देश     ||   भारत ने टॉस जीता फील्डिंग करने का फैसला     ||   उपेन्द्र राय मनी लाउंड्रिंग मामले में सीबीआई ने 2 अधिकारियों को गिरफ्तार किया     ||

बच्चों का ज्यादा टीवी देखना है खतरनाक, हो सकता है मोटापे का शिकार 

अंग्वाल न्यूज डेस्क
बच्चों का ज्यादा टीवी देखना है खतरनाक, हो सकता है मोटापे का शिकार 

नई दिल्ली। बच्चों की शारीरिक कमजोरी और बढ़ते मोटापे के लिए टीवी को काफी हद तक जिम्मेदार माना गया है। यूरोपीय एकेडमी आॅफ पेडियाट्रिक्स में हुए शोध में इस बात का पता चला है कि अगर बच्चा 90 मिनट यानी कि डेढ़ घंटे से ज्यादा टीवी देखता है तो उसमें मोटापे की समस्या ज्यादा रहती है। ऐसे में अगर आपके घर में भी अगर छोटे बच्चों की ऐसी आदत है तो सावधान हो जाएं। 

टीवी के सामने बैठना नुकसानदायक

गौरतलब है कि स्वतंत्र रूप से शोध कर रहे यूरोपीय एकेडमी आॅफ पेडियाट्रिक्स के चाइल्ड हेल्थ विशेषज्ञों के एक समूह का कहना है कि बच्चों में बढ़ रहे मोटापे का सोशल मीडिया से सीधा संबंध है। शोध में पता चला है कि मोटापा और लंबे समय तक टीवी या कम्प्यूटर के सामने बैठे रहने का गहरा संबंध है। खासकर कम उम्र के बच्चों में इसका प्रभाव देखने को मिलता है।


ये भी पढ़ें - सर्दियों में जमकर खाएं अमरूद और पाएं बीमारियों से निजात

4 साल के बच्चों के लिए खतरनाक

आपको बता दें कि शोध में मिले आंकड़े और तथ्यों के आधार पर विशेषज्ञों का कहना है कि बच्चों के माता-पिता को सावधान हो जाना चाहिए। बच्चों में मोटापा और सोशल मीडिया पर शोध रिपोर्ट लिखने वाले डॉ एडम्स हदजीपनायिस ने लिखा है कि माता-पिता को चाहिए कि वह बच्चों लिए टीवी या कम्प्यूटर के सामने लगातार डेढ़ घंटे से ज्यादा न बैठने दें।  विशेषज्ञों का मानना है कि बचपन में मोटापे का बढ़ना एक खतरनाक स्तर में है। ऐसे में माता-पिता को सतर्क हो जाना चाहिए। शोध में इसबात का भी पता चला है कि भारत में 14.4 मिलियन बच्चे यानी एक करोड़ 40 लाख 40 हजार बच्चे मोटापा के शिकार हैं।

Todays Beets: