Tuesday, January 22, 2019

Breaking News

   ताबड़तोड़ एनकाउंटर पर योगी सरकार को SC का नोटिस, CJI बोले- विस्तृत सुनवाई की जरूरत     ||   तेहरान में बोइंग 707 किर्गिज कार्गो प्लेन क्रैश, 10 क्रू मेंबर की मौत     ||   PM मोदी बोले- जवानों के बाद किसानों की आंखों में धूल झोंक रही कांग्रेस     ||   PM मोदी बोले- हम ईमानदारी से कोशिश करते हैं, झूठे सपने नहीं दिखाते     ||   कुशल भ्रष्टाचार और अक्षम प्रशासन का मॉडल है कांग्रेस-कम्युन‍िस्ट सरकार-PM मोदी     ||   CBI: राकेश अस्थाना केस में द‍िल्ली हाई कोर्ट में सुनवाई 20 द‍िसंबर तक टली     ||   बैडम‍िंटन खि‍लाड़ी साइना नेहवाल ने पी कश्यप से की शादी     ||   गुलाम नबी आजाद ने जीवन भर कांग्रेस की गुलामी की है: ओवैसी     ||   बाबा रामदेव रांची में खोलेंगे आचार्यकुलम, क्लास 1 से क्लास 4 तक मिलेगी शिक्षा     ||   मैंने महिलाओं व अन्य वर्गों के लिए काम किया, मेरा काम बोलेगा: वसुंधरा राजे     ||

बच्चों का ज्यादा टीवी देखना है खतरनाक, हो सकता है मोटापे का शिकार 

अंग्वाल न्यूज डेस्क
बच्चों का ज्यादा टीवी देखना है खतरनाक, हो सकता है मोटापे का शिकार 

नई दिल्ली। बच्चों की शारीरिक कमजोरी और बढ़ते मोटापे के लिए टीवी को काफी हद तक जिम्मेदार माना गया है। यूरोपीय एकेडमी आॅफ पेडियाट्रिक्स में हुए शोध में इस बात का पता चला है कि अगर बच्चा 90 मिनट यानी कि डेढ़ घंटे से ज्यादा टीवी देखता है तो उसमें मोटापे की समस्या ज्यादा रहती है। ऐसे में अगर आपके घर में भी अगर छोटे बच्चों की ऐसी आदत है तो सावधान हो जाएं। 

टीवी के सामने बैठना नुकसानदायक

गौरतलब है कि स्वतंत्र रूप से शोध कर रहे यूरोपीय एकेडमी आॅफ पेडियाट्रिक्स के चाइल्ड हेल्थ विशेषज्ञों के एक समूह का कहना है कि बच्चों में बढ़ रहे मोटापे का सोशल मीडिया से सीधा संबंध है। शोध में पता चला है कि मोटापा और लंबे समय तक टीवी या कम्प्यूटर के सामने बैठे रहने का गहरा संबंध है। खासकर कम उम्र के बच्चों में इसका प्रभाव देखने को मिलता है।


ये भी पढ़ें - सर्दियों में जमकर खाएं अमरूद और पाएं बीमारियों से निजात

4 साल के बच्चों के लिए खतरनाक

आपको बता दें कि शोध में मिले आंकड़े और तथ्यों के आधार पर विशेषज्ञों का कहना है कि बच्चों के माता-पिता को सावधान हो जाना चाहिए। बच्चों में मोटापा और सोशल मीडिया पर शोध रिपोर्ट लिखने वाले डॉ एडम्स हदजीपनायिस ने लिखा है कि माता-पिता को चाहिए कि वह बच्चों लिए टीवी या कम्प्यूटर के सामने लगातार डेढ़ घंटे से ज्यादा न बैठने दें।  विशेषज्ञों का मानना है कि बचपन में मोटापे का बढ़ना एक खतरनाक स्तर में है। ऐसे में माता-पिता को सतर्क हो जाना चाहिए। शोध में इसबात का भी पता चला है कि भारत में 14.4 मिलियन बच्चे यानी एक करोड़ 40 लाख 40 हजार बच्चे मोटापा के शिकार हैं।

Todays Beets: