Thursday, April 26, 2018

Breaking News

   मायावती का पलटवार, कहा- सत्ता के अहंकार में जनता को मूर्ख समझ रही BJP; शाह के गुरू मोदी ने गिराया पार्टी का स्तर     ||   चीन के स्‍पर्म बैंक ने रखी अनोखी शर्त, सिर्फ कम्‍युनिस्‍टों का समर्थन करने वाले ही दान कर सकेंगे स्‍पर्म     ||   CBSE पेपर लीक: हिमाचल से टीचर समेत 3 गिरफ्तार, पूछताछ में हो सकता है अहम खुलासा     ||   बिहार: शराब और मुर्गे के साथ गश्त करने वाली पुलिस टीम निलंबित     ||   रेलवे की 90 हजार नौकरियों के आवेदन की आज लास्ट डेट, दो करोड़ 80 लाख कर चुके हैं अप्लाई     ||   कांग्रेस में बड़ा बदलाव: जनार्दन द्विवेदी की छुट्टी, गहलोत बने नए AICC महासचिव     ||   भारत ने चीन की तिब्बत सीमा पर भेजे और सैनिक, गश्त भी बढ़ाई     ||   अब कॉल सेंटर की नौकरियों पर नजर, अमेरिकी सांसद ने पेश किया बिल     ||   ब्लूमबर्ग मीडिया का दावा, 2019 छोड़िए 2029 तक पीएम रहेंगे नरेंद्र मोदी     ||   फेसबुक को डेटा लीक मामले से लगा तगड़ा झटका, 35 अरब डॉलर का नुकसान     ||

नए कपड़ों को बिना धोए पहनने की आदत बदल लें, हो सकते हैं संक्रमण और दूसरी बीमारियों के शिकार

अंग्वाल न्यूज डेस्क
नए कपड़ों को बिना धोए पहनने की आदत बदल लें, हो सकते हैं संक्रमण और दूसरी बीमारियों के शिकार

नई दिल्ली। अक्सर आप दुकानों से कपड़े खरीदने के बाद उसे बिना धोए पहन लेते हैं तो सावधान हो जाएं। एलर्जी के साथ कई दूसरी बीमारी के शिकार हो सकते हैं। अमेरिका में हुए एक शोध में पता चला है कि किसी शख्स के द्वारा ट्रायल के बाद कपड़ों को बिना किसी जांच के सीधे सेल्फ में लगा दिया जाता है ऐसे में दूसरा व्यक्ति एलर्जी का शिकार हो सकता है। डाॅक्टरों की यह भी सलाह होती है कि कपड़ों की दुकानों से वापस लौटने के बाद साबुन से हाथ धोना चाहिए। वहीं विशेषज्ञों की तरह से कपड़ों से एलर्जी होने की बात को ज्यादा तरजीह नहीं दी जा रही है। 

गौरतलब है कि ऐसा अक्सर देखा जाता है कि हम दुकानों से कपड़े खरीदने के बाद सीधे उसे पहन लेते हैं। ऐसा करना स्वास्थ्य के लिए खतरनाक हो सकता है।अमेरिका में हुए एक अध्ययन में न्यूयॉर्क यूनिवर्सिटी में माइक्रोबायोलॉजी और पैथोलॉजी विभाग के प्रमुख डॉक्टर फिलिप टियर्नो का कहना है कि किसी भी स्टोर से खरीदे गए कपड़ों में कुछ ऐसे बैक्टीरिया हो सकते हैं, जो आपके लिए गंभीर संक्रमण का कारण बन सकते हैं। 


ये भी पढ़ें - शादीशुदा लोग डिप्रेशन का कम होते हैं शिकार, शोध में हुआ खुलासा

इस तरह से बैक्टीरिया और वायरस के संक्रमण के अलावा डायरिया, एमआरएसए, नोरोवायरस का संक्रमण हो सकता है। डॉ. टियर्नो ने इस अध्ययन के लिए शर्ट, पैंट से लेकर स्विमसूट तक 14 विभिन्न तरह के कपड़ों में बैक्टीरिया और गंदगी की पड़ताल की। कुछ कपड़ों में इतनी ज्यादा गंदगी मिली कि उन्हें खुद भी हैरानी हो रही थी। पसीने से लेकर शरीर से निकलने वाले कई तरह के पदार्थ नए खरीद गए कपड़ों पर पाए गए। डॉ. टियर्नो का कहना है कि इससे बड़ा सवाल यह पैदा होता है कि स्टोर में कपड़े खरीदने से पहले ट्रायल करना चाहिए या नहीं। बिना ट्रायल के कपड़े नहीं खरीदे जा सकते हैं मगर उन्हें पहनने से पहले धोना बेहद जरूरी है। 

Todays Beets: