Thursday, April 26, 2018

Breaking News

   मायावती का पलटवार, कहा- सत्ता के अहंकार में जनता को मूर्ख समझ रही BJP; शाह के गुरू मोदी ने गिराया पार्टी का स्तर     ||   चीन के स्‍पर्म बैंक ने रखी अनोखी शर्त, सिर्फ कम्‍युनिस्‍टों का समर्थन करने वाले ही दान कर सकेंगे स्‍पर्म     ||   CBSE पेपर लीक: हिमाचल से टीचर समेत 3 गिरफ्तार, पूछताछ में हो सकता है अहम खुलासा     ||   बिहार: शराब और मुर्गे के साथ गश्त करने वाली पुलिस टीम निलंबित     ||   रेलवे की 90 हजार नौकरियों के आवेदन की आज लास्ट डेट, दो करोड़ 80 लाख कर चुके हैं अप्लाई     ||   कांग्रेस में बड़ा बदलाव: जनार्दन द्विवेदी की छुट्टी, गहलोत बने नए AICC महासचिव     ||   भारत ने चीन की तिब्बत सीमा पर भेजे और सैनिक, गश्त भी बढ़ाई     ||   अब कॉल सेंटर की नौकरियों पर नजर, अमेरिकी सांसद ने पेश किया बिल     ||   ब्लूमबर्ग मीडिया का दावा, 2019 छोड़िए 2029 तक पीएम रहेंगे नरेंद्र मोदी     ||   फेसबुक को डेटा लीक मामले से लगा तगड़ा झटका, 35 अरब डॉलर का नुकसान     ||

बच्चों को बाथटब में नहलाने वाले माता-पिता हो जाएं सावधान, बच्चा हो सकता है संक्रमण का शिकार

अंग्वाल न्यूज डेस्क
बच्चों को बाथटब में नहलाने वाले माता-पिता हो जाएं सावधान, बच्चा हो सकता है संक्रमण का शिकार

नई दिल्ली। बाजार में आजकल छोटे बच्चों के नहाने के कई रंग-बिरंगे बाथटब मिल रहे हैं। उनमें बच्चों के खेलने के लिए रबर के कई खिलौने भी होते हैं। नहाने के दौरान बच्चे उस खिलौने से खूब मजे करते हैं लेकिन क्या आपको पता है कि यह खिलौना आपके बच्चे की सेहत के लिए काफी नुकसानदेह साबित हो सकती है। एक शोध में इस बात का खुलासा हुआ है कि रबर के खिलौने से संक्रमण होने का खतरा काफी रहता है। 

गौरतलब है कि शोध में बताया गया है कि बाथटब में रखे रबर डक में लीजनैला नाम के बैक्टीरिया के पनपने की सबसे ज्यादा संभवना रहती है। ऐसा इसलिए क्योंकि बाथरूम में काफी नमी रहती है और ऐसी जगह इन बैक्टीरिया के पनपने के लिए काफी मुफीद है। इस बैक्टीरिया की वजह से बच्चों के आंखों, कान और पेट में इंफेक्शन होने का खतरा रहता है।

ये भी पढ़ें - नहाने के पानी में मिलाएं बस एक चम्मच नमक, मिलेगी कई बीमारियों से निजात


शोधकर्ताओं ने 11 हफ्तों तक इन खिलौने पर शोध करने के बाद यह निष्कर्ष निकाला है। आपको बता दें कि उन्होंने इस दौरान रबर के खिलौने को काटकर भी शोध किया जिसमें पाया गया कि 80 प्रतिशत खिलौनों में ये जानलेवा बैक्टीरिया मौजूद था।  उन्होंने यह भी पाया कि प्लास्टिक इन्हें पनपने में मदद करता है। वहीं नाइट्रोजन और फॉस्फोरस भी इसे बढ़ाने में मददगार है जो कि बच्चों के पसीने और यूरीन में पाया जाता है।

 

Todays Beets: