Sunday, March 24, 2019

Breaking News

    दिल्लीः NGT ने जर्मन कार कंपनी वोक्सवैगन पर 500 करोड़ का जुर्माना ठोंका     ||    दिल्लीः राहुल गांधी 11 मार्च को बूथ कार्यकर्ता सम्मेलन को संबोधित करेंगे     ||    हैदराबाद: टीका लगाने के बाद एक बच्चे की मौत, 16 बीमार पड़े     ||   मध्य प्रदेश के ब्रांड एंबेसडर होंगे सलमान खान, CM कमलनाथ ने दी जानकारी     ||   पाकिस्तान को FATF से मिली राहत, ग्रे लिस्ट में रहेगा बरकरार     ||   आय से अधिक संपत्ति केसः हिमाचल के पूर्व CM वीरभद्र सिंह के खिलाफ आरोप तय     ||   भीमा-कोरेगांव केसः बॉम्बे HC ने आनंद तेलतुंबड़े की याचिका पर सुनवाई 27 तक टाली     ||   हिमाचल प्रदेश: किन्नौर जिले में आया भूकंप, तीव्रता 3.5     ||   PAK सेना के ISPR के डीजी ने कहा- हम युद्ध की तैयारी नहीं कर रहे, भारत धमकी दे रहा है     ||   ICC को खत लिखेगी BCCI- आतंक समर्थक देश के साथ खत्म हो क्रिकेट संबंध     ||

आ रहा है मानसून, इस मौसम में त्वचा संबंधी परेशानियों से कुछ इस तरह करें बचाव 

अंग्वाल न्यूज डेस्क
आ रहा है मानसून, इस मौसम में त्वचा संबंधी परेशानियों से कुछ इस तरह करें बचाव 

नई दिल्ली । मानसून का मौसम जहां एक तरह रोमांच भरा नजर आता है वही इस मौसम में कुछ लोगों को त्वचा संबंधी परेशानियां भी हो जाती हैं। भले ही ये त्वचा संबंधी ये परेशानियां काफी छोटी नजर आएं , लेकिन इन्हें नजरअंदाज करना आने वाले समय में बड़ी परेशानी को जन्म दे सकता है। असल में मानसून में उमस बढ़ने से त्वचा का संक्रमण एक आम समस्या हैं । ऐसे में विशेषज्ञों की राय है कि आम जनता साफ सफाई और फंगस रहित ब्यूटी उत्पादों का प्रयोग कर खुद को बचाएं। इसके साथ ही जिन लोगों को त्वचा संबंधी पुरानी परेशानी है, वो भी इस दौरान छोटे-छोटे नुसखे और सावधानियां बरतते हुए खुद को इस परेशानी से दूर रख सकते हैं। 

नाखूनों में फंगस 

अगर हम बात मानसून में त्वचा संबंधी परेशानियों की करते हैं तो चलिए सबसे पहले नाखूनों से शुरुआत करते हैं। जानकारों का कहना है कि बरसात में नाखून नहीं बढ़ाने चाहिएं, क्योंकि बढे़ हुए नाखून गंदगी को आमंत्रित करते हैं। इससे नाखून बदरंग , खुदरे हो जाते हैं। कई बार बरसात के मौसम में नाखूनों में फंगस लगने का खतरा भी बढ़ जाता है।  ऐसी परेशानी होने पर लोगों को मोइसचर क्रीम या फंगस रोधी पाउडर का इस्तेमाल करना चाहिए। 

घमोरियां 

 

शरीर पर छोटे लाल लाल दाने दिखना घमोरी का लक्षण होता है।  यह घमोरियां पसीने चिपचिपे पन के कारण हो जाती हैं । इसमें रोम छिद्र बंद हो जाते हैं । खुजली करके अगर हमने इन्हें फैलाया नहीं है तो कई बार ये खुद की छूमंतर हो जाती हैं।  बाकि इनसे बचने के लिए खुले सूती कपडे़ पहनें,  कैलेमाइन लोशन खुजली शांत करने में मददगार साबित होता है ।


सोरायसिस

सोरायसिस में त्वचा पर लाल चकते (दपढ़) पढ़ जाते हैं । ऐसे में एलोवेरा त्वचा रोग में हमेशा से लाभदायक साबित हुआ है। इतना ही नहीं इस परेशानी से जूझ रहे लोगों को बैक्टीरिया रोधक साबून पाउडर फेसवाश का इस्तेमाल करना चाहिए । संक्रमित त्वचा पर सरसों का तेल गर्म कर लगाए। गुलाबजल, चने का आटा और दूध का मिश्रण बनाकर संक्रमित जगह पर लगाए । घेरलू  उपचार अजमा कर भी इससे बहुत जल्दी छुटकारा पाया जा सकता है ।

 

पैरों में दाद होना 

यह परेशानी गीले या तंग जूतों को पहनने से होती है। ऐसे में लोगों को इस परेशानी से बचने के लिए मोटी व सख्त सतह वाले जूते पहनने से बचना चाहिए, जैसे चमड़े या प्लास्टिक के जूते इत्यादि । मोइसचर क्रीम का इस्तेमाल करना चाहिए । इस परेशान से जूझ रहे लोगों को साफ जुराब पहननी चाहिए। पैरों को हमेशा साफ रखना चाहिए । बेहतर होगा कि आप जूतों के बजाय चप्पल पहनें।

Todays Beets: