Thursday, November 23, 2017

Breaking News

   मैदान पर विराट के आक्रामक रवैये पर राहुल द्रविड़ को सताई चिंता     ||   अजहर को अंतर्राष्ट्रीय आतंकी घोषित नहीं करेगा चीन, प्रस्ताव पर रोक लगाने के संकेत     ||   दुनिया की सबसे लंबी सुरंग बनाकर चीन अब ब्रह्मपुुत्र नदी का पानी रोकने का बना रहा है प्लान     ||   पीएम मोदी को शीला दीक्षित ने दिया जवाब- हमने नहीं भुलाया पटेल का योगदान    ||   पटना पहुंचे मोहन भागवत, यज्ञ में भाग लेने जाएंगे आरा, नीतीश भी जाएंगे    ||   अखिलेश को आया चाचा शिवपाल का फोन, कहा- आप अध्यक्ष हैं आपको बधाई    ||   अमेरिका में सभी श्रेणियों में H-1B वीजा के लिए आवश्यक कार्रवाई बहाल    ||   रोहिंग्या पर किया वीडियो पोस्ट, म्यांमार की ब्यूटी क्वीन का ताज छिना    ||   अब गेस्ट टीचरों को लेकर CM केजरीवाल और LG में ठनी    ||   केरल में अमित शाह के बाद योगी की पदयात्रा, राजनीतिक हत्याओं पर लेफ्ट को घेरने की रणनीति    ||

किडनी की बीमारी के इलाज में इस्तेमाल होने वाले स्टेरॉयड से बढ़ता है संक्रमण का खतरा 

अंग्वाल संवाददाता
किडनी की बीमारी के इलाज में इस्तेमाल होने वाले स्टेरॉयड से बढ़ता है संक्रमण का खतरा 

नई दिल्ली। भारत में गुर्दे के इलाज में बहुत बड़ी मात्रा में प्रयोग होने वाली स्टेरॉयड से मरीजों में संक्रमण का खतरा काफी हद तक बढ़ने की संभावना होती है। ऐसा दावा करते हुए एक अध्ययन में इलाज के तरीकों को बदलने का सुझाव दिया गया है। जॉर्ज इंस्टीट्यूट फॉर ग्लोबल हेल्थ द्वारा किए गए इस अध्ययन के मुताबिक, मिथाइलप्रेडनिसोलोन की गोलियों से किया जा रहा इलाज विभिन्न प्रकार के प्रतिकूल प्रभावों के खतरे से जुड़ा हुआ है। इसके चलते संक्रमण, गैस्ट्रिक संबंधी परेशानियां और हड्डियों से जुड़ी दिक्कतें इत्यादि होती हैं। खास तौर पर यह दिक्कतें आईजीए नेफ्रोपैथी और जिनको यूरिन में ज्यादा प्रोटीन आता है, उनसे जुड़ी हुई हैं।

यह भी देखें- इन फूड को एक साथ खाना पड़ सकता है भारी, सेहत पर बन सकता है जानलेवा खतरा   

 

 


असल में जब व्यक्ति के गुर्दे में प्रतिजैविक इम्युनोग्लोबुलिन ए (आईजीए) जमा हो जाता है, तब उसे आईजीए नेफ्रोपैथी नामक बीमारी हो जाती है। जीआईजीएस इंडिया के निदेशक विवेकानंद झा ने बताया कि आईजीए नेफ्रोपैथी वाले लोगों में करीब 30 लोगों को गुर्दे की गंभीर समस्याएं हो जाती हैं।  

 

यह भी देखें- इयरफोन से गाने सुनना लगता है अच्छा तो बहरे होने के लिए रहें तैयार, पढ़े पूरी रिपोर्ट

Todays Beets: