Friday, December 14, 2018

Breaking News

   कुशल भ्रष्टाचार और अक्षम प्रशासन का मॉडल है कांग्रेस-कम्युन‍िस्ट सरकार-PM मोदी     ||   CBI: राकेश अस्थाना केस में द‍िल्ली हाई कोर्ट में सुनवाई 20 द‍िसंबर तक टली     ||   बैडम‍िंटन खि‍लाड़ी साइना नेहवाल ने पी कश्यप से की शादी     ||   गुलाम नबी आजाद ने जीवन भर कांग्रेस की गुलामी की है: ओवैसी     ||   बाबा रामदेव रांची में खोलेंगे आचार्यकुलम, क्लास 1 से क्लास 4 तक मिलेगी शिक्षा     ||   मैंने महिलाओं व अन्य वर्गों के लिए काम किया, मेरा काम बोलेगा: वसुंधरा राजे     ||   बजरंगबली पर दिए गए बयान को लेकर हिन्दू महासभा ने योगी को कानूनी नोटिस भेजा     ||   पीएम मोदी 3 द‍िसंबर को हैदराबाद में लेंगे पब्ल‍िक मीट‍िंग     ||   भगत स‍िंह आतंकवादी नहीं, हमारे देश को उन पर गर्व है- फारुख अब्दुल्ला     ||   अन‍िल अंबानी की जेब में देश का पैसा जा रहा है-राहुल गांधी     ||

फिल्म रिव्यूः ‘परमाणु’ द स्टोरी आॅफ पोखरण’, जरूर जाएं देखने, देशभक्ति की भावना से भर देगा

अंग्वाल न्यूज डेस्क
फिल्म रिव्यूः  ‘परमाणु’ द स्टोरी आॅफ पोखरण’, जरूर जाएं देखने, देशभक्ति की भावना से भर देगा

नई दिल्ली। अपने नाम को लेकर विवादों में रही अभिनेता जाॅन अब्राहम की फिल्म ‘परमाणु’ द स्टोरी आॅफ पोखरण’ आज यानी की शुक्रवार को बड़े पर्दे पर रिलीज हो गई है। फिल्म की कहानी साल 1998 में अटल बिहारी वाजपेयी सरकार द्वारा राजस्थान के पोखरण में किए गए परमाणु परीक्षण पर आधारित है। बताया जा रहा है कि इस फिल्म की कहानी को सच के करीब दिखाने के लिए कुछ वास्तविक पात्रों को भी  दिखाया गया है वहीं काल्पनिक जगहों का भी सहारा लिया गया है। फिल्म देखकर आपको जरूर गर्व का अनुभव होगा। 

गौरतलब है कि फिल्म परमाणु-द स्टोरी आॅफ पोखरण में अभिनेता जाॅन अब्राहम ने एक दमदार आईएएस अधिकारी की भूमिका निभाई है। फिल्म की कहानी प्रधानमंत्री के ऑफिस में चीन के परमाणु परीक्षण के बारे में बातचीत चल रही होती है। आईएएस ऑफिसर अश्वत रैना (जॉन अब्राहम) भारत को भी एक न्यूक्लियर पावर बनने की सलाह देते हैं। देशभक्त रैना परमाणु परीक्षण के लिए अपना परफेक्ट प्लान बनाता है लेकिन भ्रष्ट नेता द्वारा उनका प्लान चोरी कर लिया जाता है और परीक्षण सफल नहीं हो पाता है।  उसके बाद रैना को बर्खास्त कर दिया जाता है। 

ये भी पढ़ें - रणवीर कपूर और आलिया भट्ट के घर बजेगी शहनाई!, अफवाहों का बाजार गर्म


यहां बता दें कि तत्कालीन प्रधानमंत्री अटल बिहारी वाजपेयी के नेतृत्व में 3 साल के बाद एक बार फिर से इस योजना की तैयारी शुरू की जाती है। इस बार खास ध्यान रखा जाता है कि पाकिस्तान और अमेरिका को इसकी भनक तक न लगे। फिल्म में इस योजना को तैयार करने के लिए 4 विशेषज्ञों की टीम बनाई जाती है जिसमें जाॅन अब्राहम के साथ अभिनेत्री डायना पेंटी भी मौजूद होती हैं। डायना पेंटी ने भी अपने काम को बखूबी अंजाम दिया है। फिल्म में थोड़ा सस्पेंस पैदा करने के लिए यह भी दिखाने की कोशिश की गई है कि परमाणु परीक्षण के दौरान व्यस्त रहने पर अधिकारी अश्वत रैना की पत्नी (अनुजा साठे) को उस पर शक होने लगता है। इसके बाद दूसरे देशों की खूफिया एजेंसी भी भारत की इस तैयारी पर आईएसआई और सीआईए के एजेंट इंडिया द्वारा किए जा रहे परमाणु परीक्षण की खोजबीन में लग जाते हैं। इसके बावजूद भारत का वैज्ञानिक दल और जाबांज सैनिक ना सिर्फ तीन परमाणु बम का सफल परीक्षण करते हैं बल्कि अमेरिकी इंटेलिजेंस और सर्विलांस सिस्टम को चकमा भी देते हैं। यह फिल्म भले ही इतिहास की घटना पर आधारित है लेकिन दर्शकों का मनोरंजन करने में कोई कोर-कसर नहीं छोड़ती है। फिल्म देखते हुए आपको देश भक्ति का एहसास होने के साथ गर्व भी होगा। 

 

Todays Beets: