Thursday, October 18, 2018

Breaking News

   सेना हर चुनौती से न‍िपटने के ल‍िए तैयार, सर्जिकल स्ट्राइक भी व‍िकल्‍प: रणबीर सिंह    ||   BJP विधायक मानवेंद्र ने बदला पाला, राज्यवर्धन बोले- कांग्रेस ने 70 साल में मंत्री नहीं बनाया    ||   सबरीमाला मंदिर में महिलाओं के प्रवेश पर छिड़ी जंग, हिरासत में 30 प्रदर्शनकारी    ||   विवेक तिवारी हत्याकांडः HC की लखनऊ बेंच ने CBI जांच की मांग ठुकराई    ||   केरलः अंतरराष्ट्रीय हिंदू परिषद ने सबरीमाला फैसले के खिलाफ HC में लगाई याचिका    ||   कोलकाताः HC ने दुर्गा पूजा आयोजकों को ममता के 28 करोड़ देने के फैसले पर रोक लगाई    ||    रूस के साथ S-400 एयर डिफेंस मिसाइल पर भारत की डील    ||   नार्वेः राजधानी ओस्लो में आज होगा शांति के नोबेल पुरस्कार का ऐलान    ||   अंकित सक्सेना मर्डर केसः ट्रायल के लिए अभियोगपक्ष के 2 वकीलों की नियुक्ति    ||   जम्मू कश्मीर में नेशनल कॉफ्रेंस के दो कार्यकर्ताओं की गोली मारकर हत्या, मरने वालों में एक MLA का पीए भी     ||

घाटी के युवाओं में आतंकियों का खौफ बरकरार, 9 एसपीओ ने छोड़ी नौकरी

अंग्वाल न्यूज डेस्क
घाटी के युवाओं में आतंकियों का खौफ बरकरार, 9 एसपीओ ने छोड़ी नौकरी

श्रीनगर। जम्मू कश्मीर के नौजवानों में आतंकवादियों का खौफ साफ तौर पर देखा जा सकता है। पिछले दिनों आतंकी संगठन हिजबुल मुजाहिदीन द्वारा स्पेशल पुलिस अफसर (एसपीओ) के तौर पर नौकरी करने वाले युवाओं को नौकरी छोड़ने की धमकी दी थी। आतंकियों के डर से अब तक पुलवामा के त्राल इलाके में 9 एसपीओ ने नौकरी छोड़ दी है। त्राल की मस्जिदों से इनके नौकरी छोड़ने का ऐलान किया गया। हालांकि पुलिस का कहना है कि अभी मामले की जांच की जा रही है।

गौरतलब है कि आतंकी संगठन हिजबुल मुजाहिदीन ने पिछले दिनों त्राल में एसपीओ के तौर पर नौकरी करने वालों को नौकरी छोड़ने का पोस्टर चस्पा किया था। इसमें कहा गया था कि 15 दिनों के अंदर नौकरी छोड़कर सामान्य जीवन यापन करें नहीं तो परिणाम भुगतने के लिए तैयार रहें। आतंकियों की धमकी के मद्देनजर पुलवामा जिले के त्राल इलाके में 9 एसपीओ ने नौकरी छोड़ दी है। फिलहाल पुलिस इस मामले की छानबीन शुरू कर दी है।

ये भी पढ़ें - पीएम और सीएम पर आतंकी कर सकते हैं केमिकल अटैक!, सुरक्षा बढ़ाई गई


यहां बता दें कि सभी 9 एसपीओ के नाम का त्राल स्थित मस्जिद से ऐलान किया गया। मस्जिदों के इमाम ने बताया कि सभी एसपीओ ने पत्र में माफी भी मांगी है और स्वैच्छिक सेवानिवृत्ति की बात कही गई है। बताया जा रहा है कि 9 एसपीओ के नौकरी छोड़ने के बाद पुलिस प्रशासन सभी की सुरक्षा की नए सिरे से कवायद कर रही है। 

गौर करने वाली बात है कि आतंकियों ने पिछले कुछ  दिनों में कई एसपीओ को अगवाकर उनकी हत्या कर दी थी। 6 अगस्त को लोरोव गांव में आतंकियों ने घर पर मौजूद एसपीओ इशहाक अहमद भट पर अंधाधुंध गोलियां बरसाई लेकिन वह भागकर जान बचाने में कामयाब रहा था। 

Todays Beets: