Thursday, August 16, 2018

Breaking News

   मंगल ग्रह पर आशियाना बनाएगा इंसान, वैज्ञानिकों को मिली पानी की सबसे बड़ी झील     ||   भाजपा नेता का अटपटा ज्ञान, 'मृत्युशैया पर हुमायूं ने बाबर से कहा था, गायों का सम्मान करो'     ||   आज से एक हुए IDEA-वोडाफोन! अब बनेगी देश की सबसे बड़ी टेलीकॉम कंपनी     ||   गोवा में बड़ी संख्‍या में लोग बीफ खाते हैं, आप उन्‍हें नहीं रोक सकते: बीजेपी विधायक     ||   चीन फिर चल रहा 'चाल', डोकलाम में चुपचाप फिर शुरू कीं गतिविधियां : अमेरिकी अधिकारी     ||   नीरव मोदी, चोकसी के खिलाफ बड़ा एक्शन, 25-26 सितंबर को कोर्ट में पेश होने के आदेश     ||   जापान में फ़्लैश फ्लड से 200 लोगों की मौत     ||   देहरादून में जलभराव पर सरकार ने लिया संज्ञान अधिकारियों को दिए निर्देश     ||   भारत ने टॉस जीता फील्डिंग करने का फैसला     ||   उपेन्द्र राय मनी लाउंड्रिंग मामले में सीबीआई ने 2 अधिकारियों को गिरफ्तार किया     ||

कांग्रेस अध्यक्ष चुनाव - राहुल के सामने चुनाव लड़ने को अयूब अली ने भरा नामांकन, पार्टी नेे बिना कारण बताए आवेदन खारिज किया

अंग्वाल न्यूज डेस्क
कांग्रेस अध्यक्ष चुनाव - राहुल के सामने चुनाव लड़ने को अयूब अली ने भरा नामांकन, पार्टी नेे बिना कारण बताए आवेदन खारिज किया

 नई दिल्ली। कांग्रेस में अध्यक्ष पद के लिए पिछले दिनों पार्टी उपाध्यक्ष राहुल गांधी ने अपना नामांकन पत्र भरा। इसके साथ ही पार्टी ने अभी तक किसी ओर से नामांकन नहीं आने की बात कही है, लेकिन यूपी कांग्रेस के एक मुस्लिम नेता ने पार्टी अध्यक्ष पद के चुनाव में सवाल खड़े कर दिए हैं। कांग्रेसी नेता अयूब अली का कहना है कि वह चुनाव की प्रक्रिया के तहत अपना नामांकन पर्चा लेकर गए थे। उन्होंने पूरी प्रक्रिया का पालन करते हुए दो प्रस्तावकों के नाम भी उनकी सदस्यता संख्या के साथ नामांकन पत्र में अंकित किए थे। हालांकि उनके नामांकन पत्र को लेकर बाद में उसे खारिज कर दिया गया। अयूब अली का कहना है कि चुनाव की इस प्रक्रिया से जुड़े अधिकारियों ने बिना कोई कारण बताए उनके नामांकन पत्र को खारिज कर दिया है। 

ये भी पढ़ें- केन्द्र ने लोगों को दी राहत, सुप्रीम कोर्ट में कहा- आधार लिंकिंग 31 मार्च 2018 तक बढ़ाई जाएगी 

बता दें कि पिछले दिनों कांग्रेस ने अपने नए अध्यक्ष के चुनाव का ऐलान करने के साथ ही नामांकन के लिए समयावधि तय कर दी है। इस क्रम में पिछले दिनों पार्टी उपाध्यक्ष राहुल गांधी ने अपना चुनाव नामांकन भरा। हालांकि उनका विरोध पार्टी के ही एक नेता शहजाद पूनावाला ने करते हुए कहा कि जब उनके सामने कोई आएगा की नहीं तो इस चुनाव क्यों कहा जा रहा है, जब उन्हें ही चुनना है तो इसे इलेक्शन की जगह सलेक्शन कहा जाए। हालांकि बाद में इस मुद्दे पर विवाद बढ़ने पर कांग्रेस ने अपने इस नेता की बातों को ही खारिज करते हुए उन्हें कांग्रेसी मानने से इनकार कर दिया। 

ये भी पढ़ें- दिल्ली हाईकोर्ट ने जदयू के पार्टी निशान को लेकर चुनाव आयोग और नीतीश कुमार को नोटिस भेजा


इन सारे विवादों के बाद गुरुवार को यूपी कांग्रेस के मुस्लिम नेता अयूब अली ने चुनावों पर सवाल खड़े कर दिए हैं। पार्टी में लोकतंत्र की कोई जगह नहीं होने की बात कहते हुए अयूब अली ने कहा कि मैंने पार्टी अध्यक्ष पद के लिए चुनाव में हिस्सा लेने के लिए अपना नामांकन पत्र भरा। इसमें नियमों के तहत दो प्रस्तावकों का पूरा उल्लेख किया गया था। फार्म पूरी तरह से सही था। मैंने प्रस्तावकों की सदस्यता संख्या तक लिखी थी, लेकिन मेरे नामांकन को लेने के बाद उसे खारिज कर दिया गया। इस दौरान मेरे नामांकन को खारिज करने के कारणों के बारे में कोई जानकारी नहीं दी गई है। 

ये भी पढ़ें- राम बनाम रोम' का पहला चरण आज खत्म, 9 दिसंबर को गुजरात विधानसभा की 89 सीटों पर मतदान

अयूब अली ने कहा कि भाजपा कांग्रेस पर जिस वंशवाद का आरोप लगाती आ रही है, वह सही साबित हो रहा है। जिस तरह से राहुल गांधी को पार्टी अध्यक्ष बनाने के लिए दूसरों के नामांकन को रद्द किया जा रहा है, उससे भाजपा की बातें सच साबित होती हैं।  

Todays Beets: