Sunday, May 27, 2018

Breaking News

   कानपुर जहरीली शराब मामले में 5अधिकारी निलंबित     ||   अब जल्द ही बिना नेटवर्क भी कर सकेंगे कॉल, बस Wi-Fi की होगी जरुरत     ||   मौलाना मदनी ने भी की एएमयू से जिन्‍ना की तस्‍वीर हटाने की वकालत     ||   भारत-चीन सेना के बीच हॉटलाइन की तैयारी, LoC पर तनाव होगा दूर     ||   कसौली में धारा 144 लागू, आरोपित पुलिस की गिरफ्त से बाहर     ||   स्कूली बच्चों पर पत्थरबाजी से भड़के उमर अब्दुल्ला, कहा- ये गुंडों जैसी हरकत     ||   थर्ड फ्रंट: ममता, कनिमोझी....और अब केसीआर की एसपी चीफ अखिलेश यादव के साथ बैठक     ||   मायावती का पलटवार, कहा- सत्ता के अहंकार में जनता को मूर्ख समझ रही BJP; शाह के गुरू मोदी ने गिराया पार्टी का स्तर     ||   चीन के स्‍पर्म बैंक ने रखी अनोखी शर्त, सिर्फ कम्‍युनिस्‍टों का समर्थन करने वाले ही दान कर सकेंगे स्‍पर्म     ||   CBSE पेपर लीक: हिमाचल से टीचर समेत 3 गिरफ्तार, पूछताछ में हो सकता है अहम खुलासा     ||

कांग्रेस अध्यक्ष चुनाव - राहुल के सामने चुनाव लड़ने को अयूब अली ने भरा नामांकन, पार्टी नेे बिना कारण बताए आवेदन खारिज किया

अंग्वाल न्यूज डेस्क
कांग्रेस अध्यक्ष चुनाव - राहुल के सामने चुनाव लड़ने को अयूब अली ने भरा नामांकन, पार्टी नेे बिना कारण बताए आवेदन खारिज किया

 नई दिल्ली। कांग्रेस में अध्यक्ष पद के लिए पिछले दिनों पार्टी उपाध्यक्ष राहुल गांधी ने अपना नामांकन पत्र भरा। इसके साथ ही पार्टी ने अभी तक किसी ओर से नामांकन नहीं आने की बात कही है, लेकिन यूपी कांग्रेस के एक मुस्लिम नेता ने पार्टी अध्यक्ष पद के चुनाव में सवाल खड़े कर दिए हैं। कांग्रेसी नेता अयूब अली का कहना है कि वह चुनाव की प्रक्रिया के तहत अपना नामांकन पर्चा लेकर गए थे। उन्होंने पूरी प्रक्रिया का पालन करते हुए दो प्रस्तावकों के नाम भी उनकी सदस्यता संख्या के साथ नामांकन पत्र में अंकित किए थे। हालांकि उनके नामांकन पत्र को लेकर बाद में उसे खारिज कर दिया गया। अयूब अली का कहना है कि चुनाव की इस प्रक्रिया से जुड़े अधिकारियों ने बिना कोई कारण बताए उनके नामांकन पत्र को खारिज कर दिया है। 

ये भी पढ़ें- केन्द्र ने लोगों को दी राहत, सुप्रीम कोर्ट में कहा- आधार लिंकिंग 31 मार्च 2018 तक बढ़ाई जाएगी 

बता दें कि पिछले दिनों कांग्रेस ने अपने नए अध्यक्ष के चुनाव का ऐलान करने के साथ ही नामांकन के लिए समयावधि तय कर दी है। इस क्रम में पिछले दिनों पार्टी उपाध्यक्ष राहुल गांधी ने अपना चुनाव नामांकन भरा। हालांकि उनका विरोध पार्टी के ही एक नेता शहजाद पूनावाला ने करते हुए कहा कि जब उनके सामने कोई आएगा की नहीं तो इस चुनाव क्यों कहा जा रहा है, जब उन्हें ही चुनना है तो इसे इलेक्शन की जगह सलेक्शन कहा जाए। हालांकि बाद में इस मुद्दे पर विवाद बढ़ने पर कांग्रेस ने अपने इस नेता की बातों को ही खारिज करते हुए उन्हें कांग्रेसी मानने से इनकार कर दिया। 

ये भी पढ़ें- दिल्ली हाईकोर्ट ने जदयू के पार्टी निशान को लेकर चुनाव आयोग और नीतीश कुमार को नोटिस भेजा


इन सारे विवादों के बाद गुरुवार को यूपी कांग्रेस के मुस्लिम नेता अयूब अली ने चुनावों पर सवाल खड़े कर दिए हैं। पार्टी में लोकतंत्र की कोई जगह नहीं होने की बात कहते हुए अयूब अली ने कहा कि मैंने पार्टी अध्यक्ष पद के लिए चुनाव में हिस्सा लेने के लिए अपना नामांकन पत्र भरा। इसमें नियमों के तहत दो प्रस्तावकों का पूरा उल्लेख किया गया था। फार्म पूरी तरह से सही था। मैंने प्रस्तावकों की सदस्यता संख्या तक लिखी थी, लेकिन मेरे नामांकन को लेने के बाद उसे खारिज कर दिया गया। इस दौरान मेरे नामांकन को खारिज करने के कारणों के बारे में कोई जानकारी नहीं दी गई है। 

ये भी पढ़ें- राम बनाम रोम' का पहला चरण आज खत्म, 9 दिसंबर को गुजरात विधानसभा की 89 सीटों पर मतदान

अयूब अली ने कहा कि भाजपा कांग्रेस पर जिस वंशवाद का आरोप लगाती आ रही है, वह सही साबित हो रहा है। जिस तरह से राहुल गांधी को पार्टी अध्यक्ष बनाने के लिए दूसरों के नामांकन को रद्द किया जा रहा है, उससे भाजपा की बातें सच साबित होती हैं।  

Todays Beets: