Sunday, February 24, 2019

Breaking News

   पाकिस्तान को FATF से मिली राहत, ग्रे लिस्ट में रहेगा बरकरार     ||   आय से अधिक संपत्ति केसः हिमाचल के पूर्व CM वीरभद्र सिंह के खिलाफ आरोप तय     ||   भीमा-कोरेगांव केसः बॉम्बे HC ने आनंद तेलतुंबड़े की याचिका पर सुनवाई 27 तक टाली     ||   हिमाचल प्रदेश: किन्नौर जिले में आया भूकंप, तीव्रता 3.5     ||   PAK सेना के ISPR के डीजी ने कहा- हम युद्ध की तैयारी नहीं कर रहे, भारत धमकी दे रहा है     ||   ICC को खत लिखेगी BCCI- आतंक समर्थक देश के साथ खत्म हो क्रिकेट संबंध     ||   महाराष्ट्रः ईस्ट इंडिया कंपनी द्वारा चलाई गई शकुंतला नैरो गेज ट्रेन में लगी आग     ||   केरलः दक्षिण पश्चिम तट से अवैध तरीके से भारत में घुसते 3 लोग गिरफ्तार     ||   ताबड़तोड़ एनकाउंटर पर योगी सरकार को SC का नोटिस, CJI बोले- विस्तृत सुनवाई की जरूरत     ||   तेहरान में बोइंग 707 किर्गिज कार्गो प्लेन क्रैश, 10 क्रू मेंबर की मौत     ||

चुनावों से पहले शिवराज सरकार को बड़ा झटका, कंप्यूटर बाबा ने सरकार को धर्मविरोधी बताते हुए छोड़ दिया मंत्री पद 

अंग्वाल न्यूज डेस्क
चुनावों से पहले शिवराज सरकार को बड़ा झटका, कंप्यूटर बाबा ने सरकार को धर्मविरोधी बताते हुए छोड़ दिया मंत्री पद 

भोपाल । मध्य प्रदेश में विधानसभा चुनावों से पहले शिवराज सिंह सरकार पर उनके ही बनाए गए राज्यमंत्री कंप्यूटर बाबा ने गंभीर आरोप लगाते हुए अपने पद से इस्तीफा देने की बात कही है। कंप्यूटर बाबा ने कहा कि शिवराज सिंह सरकार में शामिल होने से पहले मैंने नर्मदा को स्वच्छ करने, मठ-मंदिरों की सुरक्षा , पौधरोपण और नर्मदा के अवैध खनन रोकने संबंधी कई मुद्दों को लेकर अपनी बात रखी थी। हालांकि 6 महीने के कार्यकाल के बाद मुख्यमंत्री शिवराज सिंह चौहान ने अपने किए गए वादों पर कोई ध्यान नहीं दिया है। कंप्यूटर बाबा ने कहा कि जब इस मुद्दे पर सीएम से बात की गई तो उन्होंने चुनावों का हवाला देते हुए इन मुद्दों पर अभी कोई काम नहीं पाने की बात कही । उन्होंने इस दौरान कहा कि शिवराज सरकार अधर्म की सरकार है। इस सरकार में धर्म नाम की कोई चीज नहीं है। संतो की झोपड़ियां तोड़ी जा रही है इस सरकार के कार्यकाल में।

संतों को भाजपा-संघ का बताया जाता है

न्यूज चैनल आजतक द्वारा आयोजित पंचायत आजतक के कार्यक्रम में शिरकत करने आए कंप्यूर बाबा ने कहा कि पिछले 15 सालों से शिवराज सिंह चौहान राज्य की सत्ता पर काबित हैं। उनके शासनकाल के दौरान संतों पर कुछ ऐसी मुहर लग गई है कि संत या तो संघ से जुड़े हुए हैं या भाजपा के समर्थक हैं। 

ये हमें मूर्ख बनाते हैं


इस दौरान कंप्यूटर बाबा ने कहा कि एक बार फिर से लोकसभा और विधानसभा चुनावों का समय आ गया है। एक बार फिर से राम मंदिर का मुद्दा उठने लगा है। एक बार फिर से हम बाबाओं को एकत्र किया जाएगा , लेकिन ध्यान रहे शिवराज सरकार की अब हम साधू-संत भी संभल गए हैं। हम सम0झ गए हैं कि राजनेता हमें मूर्ख बनाते हैं।

भाजपा मंदिर नहीं बनाएगी

भाजपा और राज्य सरकार पर गुस्सा जाहिर करते हुए कंप्यूटर बाबा ने कहा कि यह बात तो तय हो गई है कि  यह सरकार मंदिर बनाने वाली नहीं है। साधू-संतों को लेकर जिस तरह की हवा उड़ाई गई है, उससे अब संत समाज सतर्क हो गया है। पूरे समय इन्होंने गौ रक्षा , नर्मदा बचाओ अभियान को लेकर रोटियां सैकी, लेकिन एक बार जीत जाने के बाद ये फिर से संत समाज की ओर नहीं देखेंगे।  

Todays Beets: