Thursday, October 19, 2017

Breaking News

   पटना पहुंचे मोहन भागवत, यज्ञ में भाग लेने जाएंगे आरा, नीतीश भी जाएंगे    ||   अखिलेश को आया चाचा शिवपाल का फोन, कहा- आप अध्यक्ष हैं आपको बधाई    ||   अमेरिका में सभी श्रेणियों में H-1B वीजा के लिए आवश्यक कार्रवाई बहाल    ||   रोहिंग्या पर किया वीडियो पोस्ट, म्यांमार की ब्यूटी क्वीन का ताज छिना    ||   अब गेस्ट टीचरों को लेकर CM केजरीवाल और LG में ठनी    ||   केरल में अमित शाह के बाद योगी की पदयात्रा, राजनीतिक हत्याओं पर लेफ्ट को घेरने की रणनीति    ||   जम्मू कश्मीर के नौगाम में लश्कर कमांडर अबू इस्माइल के साथ मुठभेड़,     ||   राम रहीम मामले पर गौतम का गंभीर प्रहार, कहा- धार्मिक मार्केटिंग का यह एक क्लासिक उदाहरण    ||   ट्राई ने ओवरचार्जिंग के लिए आइडिया पर लगाया 2.9 करोड़ का जुर्माना    ||   मदरसों का 15 अगस्त को ही वीडियोग्राफी क्यों? याचिका दायर, सुनवाई अगले सप्ताह    ||

फिर निकला अगस्ता वेस्टलैंड का 'जिन्न', पूर्व वायुसेना प्रमुख समेत तीनों आरोपियों को पेशी का समन

अंग्वाल संवाददाता
फिर निकला अगस्ता वेस्टलैंड का

नई दिल्ली । दिल्ली की पटियाला हाउस कोर्ट ने अगस्ता वेस्टलैंड मामले में दाखिर आरोप पत्र का संज्ञान लेते हुए भारतीय वायुसेना के पूर्व प्रमुख एसपी त्यागी समेत अन्य लोगों को 20 दिसंबर को कोर्ट में पेश होने को कहा है। ब्रिटेन की कंपनी अगस्ता वेस्टलैंड से 3 हजार 767 करोड़ रुपये की लागत से खरीदे गए 12 वीवीआईपी हेलीकॉप्टर रिश्वतकांड में भारतीय जांच एजेंसियों ने तीन यूरोपीय बिचौलियों में से एक कार्लोस गेरोसा को इंटरपोल ने इटली में गिरफ्तार किया था। यह गिरफ्तारी भारतीय प्रवर्तन निदेशालय (ईडी) की अपील पर हुई है। सीबीआई ने वीवीआईपी हेलीकॉप्टर डील मामले में वायुसेना के पूर्व प्रमुख त्यागी समेत तीन लोगों को गिरफ्तार किया था, जो इन दिनों अभी जमानत पर रिहा हैं। 

ये भी पढ़ें- घाटी में दो 'देशद्रोही' पुलिस कॉस्टेंबल गिरफ्तार, हिजबुल आतंकियों को सप्लाई करते थे हथियार

बता दें कि अगस्ता वेस्टलैंड हेलीकॉप्टर घोटाले में इटली के मिलान शहर की अदालत ने कंपनी के दो अधिकारियों को घूस देने का दोषी पाया था। इटली की अदालत के फैसले के बाद ही भारत में सीबीआई ने यूपीए सरकार के समय केस दर्ज कर इस केस की जांच शुरू की थी। उस दौरान जांच में पूर्व वायुसेना प्रमुख त्यागी का नाम भी सामने आया। सीबीआई ने इसके बार कार्रवाई करते हुए उन्हें इस मामले में गिरफ्तार किया और उनसे कई बार पूछताछ की। देश के इतिहास में यह पहली मौका था जब किसी पूर्व या वर्तमान वायुसेना प्रमुख को गिरफ्तार किया गया था। 


ये भी पढ़ें-  कुछ डॉक्टर-इंजीनियर और सरकारी अफसर भी गांव में रहें तो बदल जाएगी देश की सूरत - पीएम मोदी

चलिए बतातें हैं कि आखिर इटली की अदालत ने इस घूसकांड में क्या पाया था। इटली की अदालत में सबूतों के आधार पर यह साबित हुआ था कि भारत को बेचे गए 12 अगस्ता हेलिकॉप्टर सौदे में 7 करोड़ यूरो की राशि (लगभग 3 हजार 767 करोड़) घूस दी गई है। अब इटली ने हेलीकॉप्टर सौदे में घूस देने वालों को तो सजा दे दी, लेकिन भारत में इस सौदे के लिए घूस लेने वालों पर कार्रवाई होना अभी बाकि है। 

Todays Beets: