Sunday, July 22, 2018

Breaking News

   जापान में फ़्लैश फ्लड से 200 लोगों की मौत     ||   देहरादून में जलभराव पर सरकार ने लिया संज्ञान अधिकारियों को दिए निर्देश     ||   भारत ने टॉस जीता फील्डिंग करने का फैसला     ||   उपेन्द्र राय मनी लाउंड्रिंग मामले में सीबीआई ने 2 अधिकारियों को गिरफ्तार किया     ||   नीतीश का गठबंधन को जवाब कहा गठबंधन सिर्फ बिहार में है बाहर नहीं     ||   जापान में बारिश का कहर जारी 100 से ज्यादा लोगों की मौत     ||   PM मोदी के नोएडा दौरे से पहले लगा भारी जाम, पढ़ें पूरी ट्रैफिक एडवाइजरी     ||    नीतीश ने दिए संकेत: केवल बिहार में है भाजपा और जदयू का गठबंधन, राष्ट्रीय स्तर पर हम साथ नहीं    ||   निर्भया मामले में तीनों दोषियों को होगी फांसी, सुप्रीम कोर्ट ने याचिका ठुकराई    ||   उत्तर भारत में धूल: चंडीगढ़ में सुबह 11 बजे अंधेरा छाया, 26 उड़ानें रद्द; दिल्ली में भी धूल कायम     ||

गाड़ी का पॉल्यूशन सर्टिफिकेट है तो ही होगा इंश्योरेंस रिन्यू - सुप्रीम कोर्ट

अंग्वाल न्यूज डेस्क
गाड़ी का पॉल्यूशन सर्टिफिकेट है तो ही होगा इंश्योरेंस रिन्यू - सुप्रीम कोर्ट

नई दिल्ली । वाहनों से होने वाले प्रदूषण पर अंकुश लगाने के लिए सुप्रीम कोर्ट ने एक नया नियम लागू किया है। शीर्ष अदालत ने वाहनों के इंश्योरेंस रिन्यू कराने के लिए नियमों में बदलाव करते हुए अब इस काम के लिए वाहन का पॉल्यूशन अंडर कंट्रोल सर्टिफिकेट जरूरी कर दिया है। वाहन का पॉल्यूशन सर्टिफिकेट नहीं होने पर वाहन का इंश्योरेंस रिन्यू नहीं होगा। सुप्रीम कोर्ट का कहना है कि यह नियम वाहनों से होने वाले प्रदूषण पर अंकुश लगाने के मद्देनजर लिया गया है, ताकि वाहन चालक उत्सर्जन मानदंडों के तहत अनुपालन कर सकें। 


जस्टिस मदन बी लोकुर की पीठ ने यह आदेश दिया है। उन्होंने अपने आदेश में सभी इंश्योरेंस कंपनियों को निर्देश दिया है कि सभी प्रदूषणकारी वाहन सड़कों से दूर रहें।  पीठ ने पॉल्यूशन अंडर कंट्रोल (पीयूसी) केंद्रों के लिए ऑल इंडिया रीयल टाइम ऑनलाइन प्रणाली का भी आदेश दिया ताकि प्रदूषण प्रमाण पत्र देने के दौरान किसी भी हेर-फेर की जांच हो सके। 

Todays Beets: