Thursday, October 18, 2018

Breaking News

   सेना हर चुनौती से न‍िपटने के ल‍िए तैयार, सर्जिकल स्ट्राइक भी व‍िकल्‍प: रणबीर सिंह    ||   BJP विधायक मानवेंद्र ने बदला पाला, राज्यवर्धन बोले- कांग्रेस ने 70 साल में मंत्री नहीं बनाया    ||   सबरीमाला मंदिर में महिलाओं के प्रवेश पर छिड़ी जंग, हिरासत में 30 प्रदर्शनकारी    ||   विवेक तिवारी हत्याकांडः HC की लखनऊ बेंच ने CBI जांच की मांग ठुकराई    ||   केरलः अंतरराष्ट्रीय हिंदू परिषद ने सबरीमाला फैसले के खिलाफ HC में लगाई याचिका    ||   कोलकाताः HC ने दुर्गा पूजा आयोजकों को ममता के 28 करोड़ देने के फैसले पर रोक लगाई    ||    रूस के साथ S-400 एयर डिफेंस मिसाइल पर भारत की डील    ||   नार्वेः राजधानी ओस्लो में आज होगा शांति के नोबेल पुरस्कार का ऐलान    ||   अंकित सक्सेना मर्डर केसः ट्रायल के लिए अभियोगपक्ष के 2 वकीलों की नियुक्ति    ||   जम्मू कश्मीर में नेशनल कॉफ्रेंस के दो कार्यकर्ताओं की गोली मारकर हत्या, मरने वालों में एक MLA का पीए भी     ||

गाजियाबाद में 5 मंजिला इमारत गिरने के बाद प्रशासन की खुली नींद, 7 दिनों के अंदर अवैध निर्माण को गिराने के निर्देश

अंग्वाल न्यूज डेस्क
गाजियाबाद में 5 मंजिला इमारत गिरने के बाद प्रशासन की खुली नींद, 7 दिनों के अंदर अवैध निर्माण को गिराने के निर्देश

नई दिल्ली। ग्रेटर नोएडा और गाजियाबाद में लगातार अवैध तरीके से निर्माणाधीन इमारतों के गिरने का सिलसिला जारी है। रविवार को गाजियाबाद के मसूरी थाना क्षेत्र 5 मंजिला निर्माणाधीन इमारत के गिरने से 2 लोगों की मौत हो गई और 9 से ज्यादा घायल बताए जा रहे हैं। एनडीआरएफ की टीम मौके पर राहत और बचाव कार्य चला रही है। इमारतों के गिरने के बाद अब प्रशासन की नींद खुली है। सोमवार को प्रशासन ने अवैध तरीके से निर्माणाधीन इमारतों को 7 दिनों के अंदर गिराने के निर्देश दिए हैं इसके लिए बाकायदा नोटिस भी चस्पा कर दिए गए हैं। प्रशासन की ओर से स्पष्ट कर दिया गया है कि अगर नोटिस का उल्लंघन किया जाता है तो प्रशासन खुद ही इमारत को गिरा देगा।  

गौरतलब है कि प्रशासन के इस फैसले के बाद वहां रहने वाले लोगों के माथे पर बल गए हैं। उनका कहना है कि वे कहां जाएंगे। स्थानीय लोगों का कहना है कि जिस समय निर्माण हो रहा था उस समय प्रशासन ने बिल्डरों को क्यों नहीं रोका? वहीं अब मकानों को खाली करने का नोटिस चस्पा होने के बाद उनलोगों की परेशानियां और भी बढ़ गई हैं। उत्तरप्रदेश सरकार ने भी कहा कि दोषियों को किसी भी कीमत पर बख्शा नहीं जाएगा। 


ये भी पढ़ें - भाजपा के चंदन मित्रा ने थामा तृणमूल कांग्रेस का दामन, 5 कांग्रेसी विधायकों ने भी छोड़ा पार्टी का साथ

यहां बता दें कि ग्रेटर नोएडा के शाहबेरी गांव में भी पिछले दिनों 2 इमारतों के गिरने की वजह से कई लोगों की जानें चली गई थी। भारी बारिश और रास्ता संकरा होने की वजह से रेस्क्यू आॅपरेशन में दिक्कतें भी आई थी। उत्तरप्रदेश के मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ ने रविवार को गाजियाबाद इलाके में हुई दुर्घटना का संज्ञान लेते हुए मंडलायुक्त मेरठ, डीएम गाजियाबाद और एडीएम वित्त एवं राजस्व की अध्यक्षता में जांच कमेटी गठित कर दी है। प्रदेश सरकार ने मृतक के परिजनों को दो लाख और घायलों को 50-50 हजार रुपये की आर्थिक सहायता देने की घोषणा भी की है।

Todays Beets: