Monday, June 25, 2018

Breaking News

   उत्तर भारत में धूल: चंडीगढ़ में सुबह 11 बजे अंधेरा छाया, 26 उड़ानें रद्द; दिल्ली में भी धूल कायम     ||   टेस्ट में भारत की सबसे बड़ी जीत: अफगानिस्तान को एक दिन में 2 बार ऑलआउट किया, डेब्यू टेस्ट 2 दिन में खत्म     ||   पेशावर स्कूल हमले का मास्टरमाइंड और मलाला पर गोली चलवाने वाला आतंकी फजलुल्लाह मारा गया: रिपोर्ट     ||   कानपुर जहरीली शराब मामले में 5अधिकारी निलंबित     ||   अब जल्द ही बिना नेटवर्क भी कर सकेंगे कॉल, बस Wi-Fi की होगी जरुरत     ||   मौलाना मदनी ने भी की एएमयू से जिन्‍ना की तस्‍वीर हटाने की वकालत     ||   भारत-चीन सेना के बीच हॉटलाइन की तैयारी, LoC पर तनाव होगा दूर     ||   कसौली में धारा 144 लागू, आरोपित पुलिस की गिरफ्त से बाहर     ||   स्कूली बच्चों पर पत्थरबाजी से भड़के उमर अब्दुल्ला, कहा- ये गुंडों जैसी हरकत     ||   थर्ड फ्रंट: ममता, कनिमोझी....और अब केसीआर की एसपी चीफ अखिलेश यादव के साथ बैठक     ||

पूर्व सीएम अखिलेश यादव पर आई आफत, राज्यपाल ने कार्रवाई के लिए योगी सरकार से की सिफारिश

अंग्वाल संवाददाता
पूर्व सीएम अखिलेश यादव पर आई आफत, राज्यपाल ने कार्रवाई के लिए योगी सरकार से की सिफारिश

लखनऊ । समाजवादी पार्टी के अध्यक्ष और प्रदेश के पूर्व मुख्यमंत्री अखिलेश यादव एक बड़े विवाद में घिर गए हैं। सरकारी बंगला खाली करने से पहले ही बंगले में हुई तोड़फोड़ के मामला गर्मा गया है। सूबे के राज्यपाल राम नाइक ने इस मामले में राज्य की योगी सरकार से कार्रवाई करने की सिफारिश की है। इतना ही नहीं सरकारी बंगले में तोड़फोड़ के मामले की जांच कराए जाने की भी बात कही है। हालांकि इस पूरे विवाद को लेकर खुद को घिरता देख अखिलेश यादव अब से थोड़ी देर में एक पत्रकार वार्ता कर अपना पक्ष रखेंगे। बावजूद इस सब के इस मामले के गर्माने के साथ ही अखिलेश यादव इस विवाद में घिर गए हैं।

राज्यपाल बोले- तोड़फोड़ अनुचित और गंभीर

पिछले कुछ दिनों से सोशल मीडिया में सीएम हाउस से अखिलेश यादव के जाने के बाद बंगले की फोटो वायरल हो रही है, जिसमें दिखाया जा रहा है कि किस तरह अखिलेश यादव बंगले से निकलने के साथ ही वहां का सारा कीमती सामान अपने साथ ले गए । इतना ही नहीं बंगले में काफी तोड़फोड़ की गई। इस पूरे मामले को अब राज्यपाल राम नाइक ने संज्ञान में लेते हुए कहा कि पूरे देश में देशवासियों से वसूले गए टैक्स से रखरखाव का काम होता है। ऐसे में अखिलेश यादव के बंगला खाली करने से पहले ही वहां की गई जमकर तोड़फोड़ पूरी तरह अनुचित है और यह मामला गंभीर भी है। ऐसे में इस मामले की जांच के साथ ही आरोपियों के खिलाफ कार्रवाई की जानी चाहिए।

राइन नाइक ने सरकार को लिखा पत्र

इस संबंध में राज्यपाल ने योगी सरकार को एक पत्र भी लिखा है, जिसमें सीएम के बंगले में तोड़ फोड़ को लेकर चिंता जताते हुए इस मामले की जांच किए जाने की सिफारिश की है। पत्र में लिखा गया है कि 4 विक्रमादित्य मार्ग में सीएम हाउस में की गई तोड़फोड़ गंभीर मामला है। 


संपत्ति विभाग सौंपेगा सरकार को रिपोर्ट

इस पूरे मामले को लेकर उठे विवाद और इस पर राज्यपाल की कार्रवाई की सिफारिश के बाद अब राज्य का संपत्ति विभाग इस मामले में एक रिपोर्ट बुधवार शाम तक सरकार को सौंप सकती है। राज्यपाल ने मंगलवार को संपत्ति विभाग से इस तोड़फोड़ मामले की जानकारी ली थी। इस दौरान अधिकारियों  ने राज्यपाल को बताया कि बंगले में हुई तोड़फोड़ की पूरी वीडियो रिकॉर्डिंग करवाई गई है। 

क्या है मामला

बता दें कि सुप्रीम कोर्ट के आदेश के बाद पिछले दिनों सूबे के पूर्व मुख्यमंत्री को अपना सरकारी बंगला खाली करना पड़ा था। इस दौरान बंगले में काफी तोड़फोड़ करके बंगले में लगाया गया सारा कीमती सामान उखाड़ लिया गया। कहा गया कि बाथरूम में लगे सभी कीमती नलों तक को उखाड़ लिया गया। इतना ही वहीं बंगले के भीतर लगा कीमत पत्थर तक उखाड़ लिया गया था। इसी के साथ बंगले में मौजूद सभी कीमती सामान को अखिलेश अपने साथ ले गए। इस दौरान बंगले में चीजों को उखाड़ने और निकालने के लिए जमकर तोड़फोड़ की गई, जिसके चलते बंगले में मौजूद स्वीमिंग पूल को मलबे से भर दिया गया।  

Todays Beets: