Wednesday, January 17, 2018

Breaking News

   98 साल की उम्र में MA करने वाले राज कुमार का संदेश, कहा-हमेशा कोशिश करते रहें     ||   मुंबई स्टॉक एक्सचेंज ने पार किया 34000 का आंकड़ा, ऑफिस में जश्न का माहौल     ||   पं. बंगाल: मालदा से 2 लाख रुपये के फर्जी नोट बरामद, एक गिरफ्तार    ||   सेक्स रैकेट का भंड़ाभोड़: दिल्ली की लेडी डॉन सोनू पंजाबन अरेस्ट    ||   रूपाणी कैबिनेट: पाटीदारों का दबदबा, 1 महिला को भी मंत्रिमंडल में मिली जगह    ||   पशु तस्करों और पुलिस में मुठभेड़, जवाबी गोलीबारी में एक मरा, घायल गायें बरामद    ||   RTI में खुलासा- भगत सिंह-राजगुरु-सुखदेव को अब तक नहीं मिला शहीद का दर्जा, सरकारी किताब में बताया गया 'आतंकी'     ||    गुजरात चुनाव: रैली में बोले BJP नेता- दाढ़ी-टोपी वालों को कम करना पड़ेगा, डराने आया हूं ताकि वो आंख न उठा सकें    ||   मध्य प्रदेश: बाबरी विध्वंस पर जुलूस निकाल रहे विहिप-बजरंग दल कार्यकर्ता पर पथराव, भड़क गई हिंसा    ||   बैंक अकाउंट को आधार से जोड़ने की तारीख बढ़ी, जानिए क्या है नई तारीख    ||

अखिलेश-राहुल की सियासी दोस्ती में आई दरार!, सपा अध्यक्ष बोले- राजनीति में गठबंधन समय की बर्बादी

अंग्वाल न्यूज डेस्क
अखिलेश-राहुल की सियासी दोस्ती में आई दरार!, सपा अध्यक्ष बोले- राजनीति में गठबंधन समय की बर्बादी

नई दिल्ली । यूपी विधानसभा चुनावों में कांग्रेस के साथ गठबंधन करने वाली समाजवादी पार्टी अब आगामी लोकसभा चुनावों की तैयारी में जुट गई है। इसके साथ ही सपा अध्यक्ष अखिलेश यादव की कांग्रेस अध्यक्ष राहुल गांधी के साथ पिछले दिनों नजर आई सियासी दोस्ती में अब दरार पड़ गई है। ऐसा हम नहीं कह रहे बल्कि अखिलेश यादव ने खुद राजनीति में गठबंधन को समय की बर्बादी करार दिया। इस बार अकेले ही लोकसभा के चुनावी समर में कूदने की तैयारी कर रहे अखिलेश यादव ने कहा कि इस समय मेरी प्राथमिकता 2019 के लिए पार्टी को मजबूत करना है। अखिलेश ने हाल में कहा कि अब मैं किसी प्रकार के गठबंधन के बारे में नहीं सोच रहा हूं। गठबंधन और सीट को आपस में बांटकर चुनावों में जाने के बारे में न तो मैं सोच रहा हूं न ही ऐसा करके मैं अपना समय बर्बाद नहीं करना चाहता। मैं खुद को किसी भ्रम में नहीं रहना चाहता। 


अखिलेश यादव ने कहा कि इस समय हम अपने आप को सिर्फ यूपी तक सीमित न रखना चाहते। मध्य प्रदेश, झारखंड, छत्तीसगढ़ में भी हमारे पास मजबूत संगठन है। हम काफी समय से उत्तराखंड और राजस्थान में भी अपने आधार को और मजबूत कर रहे हैं। अखिलेश यादव ने कहा कि भले ही इस बार जनता भाजपा के दिखाए सपनों में खोकर उन्हें वोट दे गई, लेकिन अब गुजरते समय के साथ जनता हमारे शासनकाल को याद कर रही है। 

Todays Beets: