Monday, January 22, 2018

Breaking News

   98 साल की उम्र में MA करने वाले राज कुमार का संदेश, कहा-हमेशा कोशिश करते रहें     ||   मुंबई स्टॉक एक्सचेंज ने पार किया 34000 का आंकड़ा, ऑफिस में जश्न का माहौल     ||   पं. बंगाल: मालदा से 2 लाख रुपये के फर्जी नोट बरामद, एक गिरफ्तार    ||   सेक्स रैकेट का भंड़ाभोड़: दिल्ली की लेडी डॉन सोनू पंजाबन अरेस्ट    ||   रूपाणी कैबिनेट: पाटीदारों का दबदबा, 1 महिला को भी मंत्रिमंडल में मिली जगह    ||   पशु तस्करों और पुलिस में मुठभेड़, जवाबी गोलीबारी में एक मरा, घायल गायें बरामद    ||   RTI में खुलासा- भगत सिंह-राजगुरु-सुखदेव को अब तक नहीं मिला शहीद का दर्जा, सरकारी किताब में बताया गया 'आतंकी'     ||    गुजरात चुनाव: रैली में बोले BJP नेता- दाढ़ी-टोपी वालों को कम करना पड़ेगा, डराने आया हूं ताकि वो आंख न उठा सकें    ||   मध्य प्रदेश: बाबरी विध्वंस पर जुलूस निकाल रहे विहिप-बजरंग दल कार्यकर्ता पर पथराव, भड़क गई हिंसा    ||   बैंक अकाउंट को आधार से जोड़ने की तारीख बढ़ी, जानिए क्या है नई तारीख    ||

बिहार में समीक्षा यात्रा पर निकले सीएम नीतीश कुमार पर बक्सर में पथराव, बचाने में कई सुरक्षाकमर्मी घायल 

अंग्वाल न्यूज डेस्क
बिहार में समीक्षा यात्रा पर निकले सीएम नीतीश कुमार पर बक्सर में पथराव, बचाने में कई सुरक्षाकमर्मी घायल 

पटना। बिहार के बक्सर में समीक्षा यात्रा के लिए पहुंचे राज्य के मुख्यमंत्री नीतीश कुमार पर भीड़ ने हमला कर दिया। इस दौरान भीड़ ने मुख्यमंत्री के काफिले पर पत्थर फेंके और नीतीश के खिलाफ नारेबाजी की। हालांकि पथराव शुरू होते ही उनके सुरक्षाकर्मियों ने सुरक्षा घेरा बनाते हुए सीएम को तो सुरक्षित गाड़ी में बैठा दिया लेकिन इस घटना में कुछ पुलिसवालों को चोटें आईं हैं। पत्थरबाजों ने इस दौरान नीतीश समेत उनके काफिले में मौोजूद गाड़ियों के शीशे तोड़ डाले। इस दौरान हुई पत्थरबाजी में काफिले में भगदड़ मच गई, वहीं कई सामान्य लोग चोटिस भी हुई हैं। वहीं गुस्साए लोगों का कहना था कि वह सब राजनीति करते हैं। इलाके के गांवों का कोई विकास नहीं हो रहा है और लोगों को काफी खराब स्थिति में जीने को मजबूत होना पड़ रहा है। 

विकास कार्यों की समीक्षा के लिए गए थे

बता दें कि मुख्यमंत्री नीतीश कुमार इन दिनों विकास कार्यों की हकीकत जानने के लिए बिहार राज्य में आयोजित समीक्षा यात्रा पर हैं। पिछले साल सात दिसंबर को समीक्षा यात्रा पश्चिम चंपारण जिले से शुरू हुई। यात्रा के दौरान मुख्यमंत्री प्रशासनिक अधिकारियों के साथ हर जिले का दौरा कर रहे हैं और जिले के विकास कामों की समीक्षा कर रहे हैं। समीक्षा यात्रा के दौरान हर जिले में 'सात निश्चय' से संबंधित योजनाओं की प्रगति, शराबबंदी, बाल विवाह मुक्त एवं दहेज उन्मूलन कार्यक्रम, बिहार लोक शिकायत निवारण कानून के क्रियान्वयन सहित विभिन्न कार्यक्रमों में की गई घोषणाओं का अनुपालन और अन्य विकास एवं कल्याणकारी योजनाओं की समीक्षा की जा रही है। 

18 जनवरी तक चलेगी यात्रा


बता दें कि सीएम नीतीश कुमार की यह यात्रा 18 जनवरी तक जारी रहेगी।  इस दौरान कुछ दिनों के लिए मुख्यमंत्री पटना लौटेंगे और फिर कुछ दिनों के अंतराल पर पुन: यात्रा पर निकल जाएंगे। नीतीश अंतिम पड़ाव में 16 से 18 जनवरी के बीच नवादा, गया, औरंगाबाद और जहानाबाद जिले में यात्रा करेंगे। 

पहले भी हुआ है विरोध 

यह पहला मौका नहीं है जब सीएम नीतीश कुमार को लोगों के विरोध का सामना करना पड़ रहा हो। इससे पहले भी समीक्षा यात्रा के दौरान  मुख्यमंत्री को लोगों के विरोध का भी सामना करना पड़ा था। मधुबनी में समीक्षा यात्रा के दौरान वित्त रहित शिक्षकों द्वारा मुख्यमंत्री को काले झंडे दिखाए गए। नीतीश कुमार ने जैसे ही भाषण की शुरुआत की, शिक्षकों ने उन्हें काले  झंडे दिखाए। 

Todays Beets: