Saturday, April 21, 2018

Breaking News

   मायावती का पलटवार, कहा- सत्ता के अहंकार में जनता को मूर्ख समझ रही BJP; शाह के गुरू मोदी ने गिराया पार्टी का स्तर     ||   चीन के स्‍पर्म बैंक ने रखी अनोखी शर्त, सिर्फ कम्‍युनिस्‍टों का समर्थन करने वाले ही दान कर सकेंगे स्‍पर्म     ||   CBSE पेपर लीक: हिमाचल से टीचर समेत 3 गिरफ्तार, पूछताछ में हो सकता है अहम खुलासा     ||   बिहार: शराब और मुर्गे के साथ गश्त करने वाली पुलिस टीम निलंबित     ||   रेलवे की 90 हजार नौकरियों के आवेदन की आज लास्ट डेट, दो करोड़ 80 लाख कर चुके हैं अप्लाई     ||   कांग्रेस में बड़ा बदलाव: जनार्दन द्विवेदी की छुट्टी, गहलोत बने नए AICC महासचिव     ||   भारत ने चीन की तिब्बत सीमा पर भेजे और सैनिक, गश्त भी बढ़ाई     ||   अब कॉल सेंटर की नौकरियों पर नजर, अमेरिकी सांसद ने पेश किया बिल     ||   ब्लूमबर्ग मीडिया का दावा, 2019 छोड़िए 2029 तक पीएम रहेंगे नरेंद्र मोदी     ||   फेसबुक को डेटा लीक मामले से लगा तगड़ा झटका, 35 अरब डॉलर का नुकसान     ||

केरल के सीएम ने आरएसएस पर लगाए गंभीर आरोप, बाबा रामदेव उतरे स्वयं सेवक संघ के समर्थन में

अंग्वाल न्यूज डेस्क
केरल के सीएम ने आरएसएस पर लगाए गंभीर आरोप, बाबा रामदेव उतरे स्वयं सेवक संघ के समर्थन में

नई दिल्ली। राष्ट्रीय स्वयं सेवक संघ पर केरल के मुख्यमंत्री पिनाराई विजयन के बयान पर सियासी घमासान तेज गया है। पिनाराई विजयन ने आरएसएस पर आरोप लगाते हुए कहा है कि वह पीएफआई के साथ मिलकर वह अवैध हथियारों का ट्रेनिंग कर रहा है और उनके खिलाफ सख्त कार्रवाई की जाएगी यहां कि जरूरत पड़ने पर प्रतिबंध भी लगाया जा सकता है। इस आरोप के बाद आरएसएस के समर्थन में योग गुरू बाबा रामदेव उतर आए हैं। रामदेव ने कहा कि मैंने आरएसएस के नेताओं को करीब से देखा है। वह कोई आतंकवादी या नक्सली नहीं है। आरएसएस एक राष्ट्रवादी संगठन है। वो ऐसा कुछ भी नहीं करेंगे जिससे राष्ट्र की छवि पर दाग लगेगा। 

ये भी पढ़ें - सपा-बसपा की बढ़ती नजदीकियों को कम करने के लिए योगी सरकार ने चला महादलित कार्ड, नौकरी में आरक्ष...


गौरतलब है कि विधानसभा में प्रश्नकाल के दौरान सीएम विजयन ने कहा कि सरकार एक कानून बनाकर सार्वजनिक और पूजा स्थलों पर किए जाने वाले कसरत और हथियारों के प्रशिक्षण पर प्रतिबंध लगाएगी। उन्होंने कहा कि लाठियों का इस्तेमाल करते हुए संघ के कार्यकर्ता विद्यालयों के मैदानों, पूजा स्थलों और खाली जमीनों पर कसरत करते हैं। बता दें कि मुख्यमंत्री ने कहा था कि हथियारों की अवैध ट्रेनिंग में शामिल लोगों के खिलाफ सख्त कार्रवाई की जाएगी।यहां आपको बता दें कि मुख्यमंत्री विजयन के इस बयान के बाद केरल में मौजूद संघ के नेताओं और कार्यकर्ताओं द्वारा कड़ा विरोध जताया है। 

Todays Beets: