Thursday, September 21, 2017

Breaking News

   जम्मू कश्मीर के नौगाम में लश्कर कमांडर अबू इस्माइल के साथ मुठभेड़,     ||   राम रहीम मामले पर गौतम का गंभीर प्रहार, कहा- धार्मिक मार्केटिंग का यह एक क्लासिक उदाहरण    ||   ट्राई ने ओवरचार्जिंग के लिए आइडिया पर लगाया 2.9 करोड़ का जुर्माना    ||   मदरसों का 15 अगस्त को ही वीडियोग्राफी क्यों? याचिका दायर, सुनवाई अगले सप्ताह    ||   पंचकूला से लंदन तक दिखा राम-रहीम विवाद का असर, ब्रिटेन ने जारी की एडवाइजरी    ||   PAK कोर्ट ने हिंदू लड़की को मुस्लिम पति के साथ रहने की मंजूरी दी    ||   बिहार आए पीएम मोदी, बाढ़ से हुई तबाही की गहन समीक्षा की    ||   जेल में ही वीडियो कांफ्रेंसिंग के जरिए राम रहीम को सुनाई जाएगी सजा    ||   मच्छल में घुसपैठ नाकाम, पांच आतंकी ढेर, भारी मात्रा में गोलाबारूद बरामद    ||   जापान के बाद अब अमेरिका के साथ युद्धाभ्यास की तैयारी में भारत    ||

नकली करेंसी छापने के मामले में पाकिस्तान को मात देने निकाला है बंगलादेश  

अंग्वाल संवाददाता
नकली करेंसी छापने के मामले में पाकिस्तान को मात देने निकाला है बंगलादेश  

नई दिल्ली। पिछले साल नवबंर के महीने में भारत में नोटबंदी का फैसला जाली मुद्रा पर रोक और काले धन पर काबू पाने के लिया गया था। हालांकि पूरी तरह तो नहीं पर सरकार का यह मकसद में कुछ हद तक पूरा हो गया है। तभी पाकिस्तान से भारत आने वाली जाली मुद्रा में बड़ी मात्रा में कमी देखी गई है, लेकिन अब पाकिस्तान के बजाय बंगलादेश में मुद्रा तस्करी और नकली नोटों की छपाई का काम बढ़ गया है। रिपोर्ट के मुताबिक, बीएसएफ द्वारा बांगलादेश की सीमा से जब्त किए गए जाली नोटों के आंकड़े इस ओर इशारा कर रहे हैं। बंगालदेश की सीमा से सुरक्षाबलों ने करीब 6.90 लाख रुपये के नकली नोट बरामद किए हैं। मालदा के बीएसएफ चुरियंतपुर आउट पोस्ट पर 2000 के नकली नोटों जब्त किए हैं। 

यह भी पढ़े- रेयान स्कूल हत्याकांड में मलिकों की अग्रिम जमानत पर बॉम्बे हाईकोर्ट में आज सुनवाई 

बता दें कि पहले पाकिस्तान और बंगलादेश से जुड़ी 13 सीमाई इलाकों से जाली नोट भारत आते थे। ये इलाके जम्मू-कश्मीर, पंजाब, राजस्थान, गुजरात, पश्चिम बंगाल, असम और मेघालय से लगते हैं, मगर पिछले साल नोटबंदी के बाद इनमें से 11 सीमाई इलाकों में नकली नोट बरामद होने के मामले लगभग न के बराबर ही सामने आए हैं।  मगर असम और पश्चिम बंगाल में बांगलादेश से सटे सीमाई इलाकों में इस साल की शुरुआत से जाली नोटों की बरामदगी में बढ़ोतरी देखने को मिली है।


यह भी पढ़े- मोदी सरकार के खिलाफ भारतीय मजदूर संघ का प्रदर्शन, 5 लाख मजदूर करेंगे संसद तक मार्च 

बीएसएफ के खुफिया सूत्रों की मानें तो नोटबंदी के बाद पाकिस्तान में संभवत: नकली नोट छापने वाले गिरोह ने अब तक नए सिरे से बड़ा निवेश नहीं किया है। जबकि बांगलादेश ने 2,000 के नकली नोट छापने के लिए सऊदी अरब और मलेशिया से उपयुक्त कागज मंगवाना शुरू कर दिया है। 

Todays Beets: