Sunday, June 24, 2018

Breaking News

   उत्तर भारत में धूल: चंडीगढ़ में सुबह 11 बजे अंधेरा छाया, 26 उड़ानें रद्द; दिल्ली में भी धूल कायम     ||   टेस्ट में भारत की सबसे बड़ी जीत: अफगानिस्तान को एक दिन में 2 बार ऑलआउट किया, डेब्यू टेस्ट 2 दिन में खत्म     ||   पेशावर स्कूल हमले का मास्टरमाइंड और मलाला पर गोली चलवाने वाला आतंकी फजलुल्लाह मारा गया: रिपोर्ट     ||   कानपुर जहरीली शराब मामले में 5अधिकारी निलंबित     ||   अब जल्द ही बिना नेटवर्क भी कर सकेंगे कॉल, बस Wi-Fi की होगी जरुरत     ||   मौलाना मदनी ने भी की एएमयू से जिन्‍ना की तस्‍वीर हटाने की वकालत     ||   भारत-चीन सेना के बीच हॉटलाइन की तैयारी, LoC पर तनाव होगा दूर     ||   कसौली में धारा 144 लागू, आरोपित पुलिस की गिरफ्त से बाहर     ||   स्कूली बच्चों पर पत्थरबाजी से भड़के उमर अब्दुल्ला, कहा- ये गुंडों जैसी हरकत     ||   थर्ड फ्रंट: ममता, कनिमोझी....और अब केसीआर की एसपी चीफ अखिलेश यादव के साथ बैठक     ||

दुनिया को बिग बैंग थ्योरी समझाने वाले प्रोफेसर स्टीफन हाॅकिंस का निधन, काफी समय से थे अस्वस्थ

अंग्वाल न्यूज डेस्क
दुनिया को बिग बैंग थ्योरी समझाने वाले प्रोफेसर स्टीफन हाॅकिंस का निधन, काफी समय से थे अस्वस्थ

नई दिल्ली। विश्वप्रसिद्ध भौतिक वैज्ञानिक स्टीफन हाॅकिंस का बुधवार की सुबह 76 साल की उम्र में देहांत हो गया है। उनके परिवार के लोगों ने उनके निधन के बारे में जानकारी दी है। बता दें कि प्रोफेसर हॉकिंस ने बिग बैंग सिद्धांत और ब्लैक होल को समझने में खास योगदान दिया है। यही कारण है कि उन्हें अमेरिका के सबसे उच्च नागरिक सम्मान से नवाजा जा चुका है। बताया जा रहा है कि प्रोफेसर हाॅकिंग काफी समय से बीमार थे। नोबल पुरस्कार से सम्मानित हॉकिंस की गिनती दुनिया के महान भौतिक वैज्ञानिकों में होती है। उनका जन्म इंग्लैंड में 8 जनवरी 1942 को ऑक्सफोर्ड में जन्म हुआ था।

ये भी पढ़ें - पीएनबी महाघोटाले के बाद आरबीआई का बड़ा फैसला, सभी बैंकों के लेटर आॅफ क्रेडिट और अंडरटेकिंग जार...


बड़ी बात यह है कि इस वैज्ञानिक के दिमाग को छोड़कर उनके शरीर का कोई भी भाग काम नहीं करता था। बेस्टसेलर रही किताब ‘अ ब्रीफ हिस्ट्री ऑफ टाईम’ के लेखक स्टीफन हॉकिंस ने शारीरिक अक्षमताओं को पीछे छोड़ते हु्ए यह साबित किया कि अगर इच्छा शक्ति हो तो व्यक्ति कुछ भी कर सकता है।

Todays Beets: