Monday, September 24, 2018

Breaking News

   ग्रेटर नोएडा प्राधिकरण के पूर्व जीएम के ठिकानों पर आयकर के छापे     ||   बिहार: पूर्व मंत्री मदन मोहन झा बनाए गए प्रदेश कांग्रेस के अध्यक्ष। सांसद अखिलेश सिंह बनाए गए अभियान समिति के अध्यक्ष। कौकब कादिरी समेत चार बनाए गए कार्यकारी अध्यक्ष।     ||   कर्नाटक के मंत्री शिवकुमार के खिलाफ ED ने मनी लॉन्ड्रिंग का केस दर्ज किया    ||   सीतापुर में श्रद्धालुओें से भरी बस खाई में पलटी 26 घायल, 5 की हालत गंभीर     ||   मंगल ग्रह पर आशियाना बनाएगा इंसान, वैज्ञानिकों को मिली पानी की सबसे बड़ी झील     ||   भाजपा नेता का अटपटा ज्ञान, 'मृत्युशैया पर हुमायूं ने बाबर से कहा था, गायों का सम्मान करो'     ||   आज से एक हुए IDEA-वोडाफोन! अब बनेगी देश की सबसे बड़ी टेलीकॉम कंपनी     ||   गोवा में बड़ी संख्‍या में लोग बीफ खाते हैं, आप उन्‍हें नहीं रोक सकते: बीजेपी विधायक     ||   चीन फिर चल रहा 'चाल', डोकलाम में चुपचाप फिर शुरू कीं गतिविधियां : अमेरिकी अधिकारी     ||   नीरव मोदी, चोकसी के खिलाफ बड़ा एक्शन, 25-26 सितंबर को कोर्ट में पेश होने के आदेश     ||

दुनिया को बिग बैंग थ्योरी समझाने वाले प्रोफेसर स्टीफन हाॅकिंस का निधन, काफी समय से थे अस्वस्थ

अंग्वाल न्यूज डेस्क
दुनिया को बिग बैंग थ्योरी समझाने वाले प्रोफेसर स्टीफन हाॅकिंस का निधन, काफी समय से थे अस्वस्थ

नई दिल्ली। विश्वप्रसिद्ध भौतिक वैज्ञानिक स्टीफन हाॅकिंस का बुधवार की सुबह 76 साल की उम्र में देहांत हो गया है। उनके परिवार के लोगों ने उनके निधन के बारे में जानकारी दी है। बता दें कि प्रोफेसर हॉकिंस ने बिग बैंग सिद्धांत और ब्लैक होल को समझने में खास योगदान दिया है। यही कारण है कि उन्हें अमेरिका के सबसे उच्च नागरिक सम्मान से नवाजा जा चुका है। बताया जा रहा है कि प्रोफेसर हाॅकिंग काफी समय से बीमार थे। नोबल पुरस्कार से सम्मानित हॉकिंस की गिनती दुनिया के महान भौतिक वैज्ञानिकों में होती है। उनका जन्म इंग्लैंड में 8 जनवरी 1942 को ऑक्सफोर्ड में जन्म हुआ था।

ये भी पढ़ें - पीएनबी महाघोटाले के बाद आरबीआई का बड़ा फैसला, सभी बैंकों के लेटर आॅफ क्रेडिट और अंडरटेकिंग जार...


बड़ी बात यह है कि इस वैज्ञानिक के दिमाग को छोड़कर उनके शरीर का कोई भी भाग काम नहीं करता था। बेस्टसेलर रही किताब ‘अ ब्रीफ हिस्ट्री ऑफ टाईम’ के लेखक स्टीफन हॉकिंस ने शारीरिक अक्षमताओं को पीछे छोड़ते हु्ए यह साबित किया कि अगर इच्छा शक्ति हो तो व्यक्ति कुछ भी कर सकता है।

Todays Beets: