Tuesday, August 14, 2018

Breaking News

   मंगल ग्रह पर आशियाना बनाएगा इंसान, वैज्ञानिकों को मिली पानी की सबसे बड़ी झील     ||   भाजपा नेता का अटपटा ज्ञान, 'मृत्युशैया पर हुमायूं ने बाबर से कहा था, गायों का सम्मान करो'     ||   आज से एक हुए IDEA-वोडाफोन! अब बनेगी देश की सबसे बड़ी टेलीकॉम कंपनी     ||   गोवा में बड़ी संख्‍या में लोग बीफ खाते हैं, आप उन्‍हें नहीं रोक सकते: बीजेपी विधायक     ||   चीन फिर चल रहा 'चाल', डोकलाम में चुपचाप फिर शुरू कीं गतिविधियां : अमेरिकी अधिकारी     ||   नीरव मोदी, चोकसी के खिलाफ बड़ा एक्शन, 25-26 सितंबर को कोर्ट में पेश होने के आदेश     ||   जापान में फ़्लैश फ्लड से 200 लोगों की मौत     ||   देहरादून में जलभराव पर सरकार ने लिया संज्ञान अधिकारियों को दिए निर्देश     ||   भारत ने टॉस जीता फील्डिंग करने का फैसला     ||   उपेन्द्र राय मनी लाउंड्रिंग मामले में सीबीआई ने 2 अधिकारियों को गिरफ्तार किया     ||

भाजपा नेता ज्ञानदेव आहुजा ने पंडित नेहरू को लेकर दिया विवादित बयान, कहा-गाय का मांस खाने वाला पंडित नहीं हो सकता

अंग्वाल न्यूज डेस्क
भाजपा नेता ज्ञानदेव आहुजा ने पंडित नेहरू को लेकर दिया विवादित बयान, कहा-गाय का मांस खाने वाला पंडित नहीं हो सकता

नई दिल्ली। अक्सर अपने बयानों से सुर्खियों में रहने वाले राजस्थान भाजपा के बयानवीर नेता ज्ञानदेव आहुजा ने एक बार फिर से विवादित बयान दिया है। इस बार उन्होंने देश के पहले प्रधानमंत्री पंडित जवाहर लाल नेहरू को लेकर कहा कि ‘‘वे पंडित नहीं थे और उनके नाम में यह उपाधि कांग्रेस पार्टी ने जोड़ी है’’। उन्होंने बेहद ही सख्त लहजे में कहा कि जो शख्स गाय और सुअर का मांस खाता है वह पंडित नहीं हो सकता है। भाजपा मुख्यालय के दौरे पर उन्होंने ऐसी बातें कहीं हैं। ज्ञानदेव आहुजा ने कहा कि कांग्रेस जातिवाद के आधार पर चुनाव लड़ती है। 

गौरतलब है कि भाजपा के नेता ने यह बयान कांग्रेस के प्रदेश प्रमुख सचिन पायलट के बयान के बाद दिया है। बता दें कि सचिन पायलट ने कहा था कि राहुल गांधी अपनी दादी इंदिरा गांधी के साथ मंदिरों में जाते थे। इस पर ज्ञानदेव आहुजा ने पलटवार करते हुए कहा कि ‘राहुल गांधी इंदिरा गांधी के साथ कभी मंदिर नहीं गए। यदि मेरा दावा गलत है तो मैं अपना पद छोड़ दूंगा नही ंतो सचिन पायलट को अपना पद छोड़ना होगा’।

ये भी पढ़ें - घाटी के युवाओं में आतंकियों का खौफ बरकरार, 9 एसपीओ ने छोड़ी नौकरी


यहां बता दें कि ज्ञानदेव आहुजा ने राहुल की प्रस्तावित मंदिर यात्रा पर सवाल उठाते हुए पूछा, ‘पायलट, गहलोत या गुलाम नबी आजाद को यह बताना चाहिए कि राहुल का यज्ञोपवीत संस्कार कब हुआ। जनेऊ यज्ञोपवीत संस्कार होने के बाद ही धारण किया जाता है।’ गौर करने वाली बात है कि ज्ञानदेव आहुजा ने इससे पहले गौहत्या और लव जेहाद को लेकर भी विवादित बयान दिया था।  

 

Todays Beets: