Saturday, February 23, 2019

Breaking News

   पाकिस्तान को FATF से मिली राहत, ग्रे लिस्ट में रहेगा बरकरार     ||   आय से अधिक संपत्ति केसः हिमाचल के पूर्व CM वीरभद्र सिंह के खिलाफ आरोप तय     ||   भीमा-कोरेगांव केसः बॉम्बे HC ने आनंद तेलतुंबड़े की याचिका पर सुनवाई 27 तक टाली     ||   हिमाचल प्रदेश: किन्नौर जिले में आया भूकंप, तीव्रता 3.5     ||   PAK सेना के ISPR के डीजी ने कहा- हम युद्ध की तैयारी नहीं कर रहे, भारत धमकी दे रहा है     ||   ICC को खत लिखेगी BCCI- आतंक समर्थक देश के साथ खत्म हो क्रिकेट संबंध     ||   महाराष्ट्रः ईस्ट इंडिया कंपनी द्वारा चलाई गई शकुंतला नैरो गेज ट्रेन में लगी आग     ||   केरलः दक्षिण पश्चिम तट से अवैध तरीके से भारत में घुसते 3 लोग गिरफ्तार     ||   ताबड़तोड़ एनकाउंटर पर योगी सरकार को SC का नोटिस, CJI बोले- विस्तृत सुनवाई की जरूरत     ||   तेहरान में बोइंग 707 किर्गिज कार्गो प्लेन क्रैश, 10 क्रू मेंबर की मौत     ||

भाजपा नेता ज्ञानदेव आहुजा ने पंडित नेहरू को लेकर दिया विवादित बयान, कहा-गाय का मांस खाने वाला पंडित नहीं हो सकता

अंग्वाल न्यूज डेस्क
भाजपा नेता ज्ञानदेव आहुजा ने पंडित नेहरू को लेकर दिया विवादित बयान, कहा-गाय का मांस खाने वाला पंडित नहीं हो सकता

नई दिल्ली। अक्सर अपने बयानों से सुर्खियों में रहने वाले राजस्थान भाजपा के बयानवीर नेता ज्ञानदेव आहुजा ने एक बार फिर से विवादित बयान दिया है। इस बार उन्होंने देश के पहले प्रधानमंत्री पंडित जवाहर लाल नेहरू को लेकर कहा कि ‘‘वे पंडित नहीं थे और उनके नाम में यह उपाधि कांग्रेस पार्टी ने जोड़ी है’’। उन्होंने बेहद ही सख्त लहजे में कहा कि जो शख्स गाय और सुअर का मांस खाता है वह पंडित नहीं हो सकता है। भाजपा मुख्यालय के दौरे पर उन्होंने ऐसी बातें कहीं हैं। ज्ञानदेव आहुजा ने कहा कि कांग्रेस जातिवाद के आधार पर चुनाव लड़ती है। 

गौरतलब है कि भाजपा के नेता ने यह बयान कांग्रेस के प्रदेश प्रमुख सचिन पायलट के बयान के बाद दिया है। बता दें कि सचिन पायलट ने कहा था कि राहुल गांधी अपनी दादी इंदिरा गांधी के साथ मंदिरों में जाते थे। इस पर ज्ञानदेव आहुजा ने पलटवार करते हुए कहा कि ‘राहुल गांधी इंदिरा गांधी के साथ कभी मंदिर नहीं गए। यदि मेरा दावा गलत है तो मैं अपना पद छोड़ दूंगा नही ंतो सचिन पायलट को अपना पद छोड़ना होगा’।

ये भी पढ़ें - घाटी के युवाओं में आतंकियों का खौफ बरकरार, 9 एसपीओ ने छोड़ी नौकरी


यहां बता दें कि ज्ञानदेव आहुजा ने राहुल की प्रस्तावित मंदिर यात्रा पर सवाल उठाते हुए पूछा, ‘पायलट, गहलोत या गुलाम नबी आजाद को यह बताना चाहिए कि राहुल का यज्ञोपवीत संस्कार कब हुआ। जनेऊ यज्ञोपवीत संस्कार होने के बाद ही धारण किया जाता है।’ गौर करने वाली बात है कि ज्ञानदेव आहुजा ने इससे पहले गौहत्या और लव जेहाद को लेकर भी विवादित बयान दिया था।  

 

Todays Beets: