Sunday, December 16, 2018

Breaking News

   कुशल भ्रष्टाचार और अक्षम प्रशासन का मॉडल है कांग्रेस-कम्युन‍िस्ट सरकार-PM मोदी     ||   CBI: राकेश अस्थाना केस में द‍िल्ली हाई कोर्ट में सुनवाई 20 द‍िसंबर तक टली     ||   बैडम‍िंटन खि‍लाड़ी साइना नेहवाल ने पी कश्यप से की शादी     ||   गुलाम नबी आजाद ने जीवन भर कांग्रेस की गुलामी की है: ओवैसी     ||   बाबा रामदेव रांची में खोलेंगे आचार्यकुलम, क्लास 1 से क्लास 4 तक मिलेगी शिक्षा     ||   मैंने महिलाओं व अन्य वर्गों के लिए काम किया, मेरा काम बोलेगा: वसुंधरा राजे     ||   बजरंगबली पर दिए गए बयान को लेकर हिन्दू महासभा ने योगी को कानूनी नोटिस भेजा     ||   पीएम मोदी 3 द‍िसंबर को हैदराबाद में लेंगे पब्ल‍िक मीट‍िंग     ||   भगत स‍िंह आतंकवादी नहीं, हमारे देश को उन पर गर्व है- फारुख अब्दुल्ला     ||   अन‍िल अंबानी की जेब में देश का पैसा जा रहा है-राहुल गांधी     ||

भाजपा नेता ज्ञानदेव आहुजा ने पंडित नेहरू को लेकर दिया विवादित बयान, कहा-गाय का मांस खाने वाला पंडित नहीं हो सकता

अंग्वाल न्यूज डेस्क
भाजपा नेता ज्ञानदेव आहुजा ने पंडित नेहरू को लेकर दिया विवादित बयान, कहा-गाय का मांस खाने वाला पंडित नहीं हो सकता

नई दिल्ली। अक्सर अपने बयानों से सुर्खियों में रहने वाले राजस्थान भाजपा के बयानवीर नेता ज्ञानदेव आहुजा ने एक बार फिर से विवादित बयान दिया है। इस बार उन्होंने देश के पहले प्रधानमंत्री पंडित जवाहर लाल नेहरू को लेकर कहा कि ‘‘वे पंडित नहीं थे और उनके नाम में यह उपाधि कांग्रेस पार्टी ने जोड़ी है’’। उन्होंने बेहद ही सख्त लहजे में कहा कि जो शख्स गाय और सुअर का मांस खाता है वह पंडित नहीं हो सकता है। भाजपा मुख्यालय के दौरे पर उन्होंने ऐसी बातें कहीं हैं। ज्ञानदेव आहुजा ने कहा कि कांग्रेस जातिवाद के आधार पर चुनाव लड़ती है। 

गौरतलब है कि भाजपा के नेता ने यह बयान कांग्रेस के प्रदेश प्रमुख सचिन पायलट के बयान के बाद दिया है। बता दें कि सचिन पायलट ने कहा था कि राहुल गांधी अपनी दादी इंदिरा गांधी के साथ मंदिरों में जाते थे। इस पर ज्ञानदेव आहुजा ने पलटवार करते हुए कहा कि ‘राहुल गांधी इंदिरा गांधी के साथ कभी मंदिर नहीं गए। यदि मेरा दावा गलत है तो मैं अपना पद छोड़ दूंगा नही ंतो सचिन पायलट को अपना पद छोड़ना होगा’।

ये भी पढ़ें - घाटी के युवाओं में आतंकियों का खौफ बरकरार, 9 एसपीओ ने छोड़ी नौकरी


यहां बता दें कि ज्ञानदेव आहुजा ने राहुल की प्रस्तावित मंदिर यात्रा पर सवाल उठाते हुए पूछा, ‘पायलट, गहलोत या गुलाम नबी आजाद को यह बताना चाहिए कि राहुल का यज्ञोपवीत संस्कार कब हुआ। जनेऊ यज्ञोपवीत संस्कार होने के बाद ही धारण किया जाता है।’ गौर करने वाली बात है कि ज्ञानदेव आहुजा ने इससे पहले गौहत्या और लव जेहाद को लेकर भी विवादित बयान दिया था।  

 

Todays Beets: