Monday, May 27, 2019

Breaking News

   अमित शाह बोले - साध्वी प्रज्ञा ठाकुर के गोसडे पर दिए बयान से भाजपा का सरोकार नहीं    ||   भाजपा के संकल्प पत्र में आतंकवाद और भ्रष्टाचार के खिलाफ कार्रवाई का वादा     ||   सुप्रीम कोर्ट ने लोकसभा चुनाव में ईवीएम और वीवीपैट के मिलान को पांच गुना बढ़ाया    ||    दिल्लीः NGT ने जर्मन कार कंपनी वोक्सवैगन पर 500 करोड़ का जुर्माना ठोंका     ||    दिल्लीः राहुल गांधी 11 मार्च को बूथ कार्यकर्ता सम्मेलन को संबोधित करेंगे     ||    हैदराबाद: टीका लगाने के बाद एक बच्चे की मौत, 16 बीमार पड़े     ||   मध्य प्रदेश के ब्रांड एंबेसडर होंगे सलमान खान, CM कमलनाथ ने दी जानकारी     ||   पाकिस्तान को FATF से मिली राहत, ग्रे लिस्ट में रहेगा बरकरार     ||   आय से अधिक संपत्ति केसः हिमाचल के पूर्व CM वीरभद्र सिंह के खिलाफ आरोप तय     ||   भीमा-कोरेगांव केसः बॉम्बे HC ने आनंद तेलतुंबड़े की याचिका पर सुनवाई 27 तक टाली     ||

MODI LIVE - कांग्रेस के राजदरबारी एक ही परिवार के गीत गाते हैं, इन्हें चुन-चुनकर घर भेजा जाए 

अंग्वाल न्यूज डेस्क
MODI LIVE - कांग्रेस के राजदरबारी एक ही परिवार के गीत गाते हैं, इन्हें चुन-चुनकर घर भेजा जाए 

अंबिकापुर । प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने शुक्रवार को छत्तीसगढ़ के अंबिकापुर में एक चुनावी रैली को संबोधित किया। इस दौरान उन्होंने पहले चरण में हुए मतदान के लिए लोगों का आभार प्रकट करते हुए लोगों के गौरव गान करने की बात कही। उन्होंने कहा कि मौत के साए में लोग घर से अपने लोकतंत्र को बचाने के लिए निकले। बस्तर के लोगों ने जो हिम्मत दिखाई, उसके आगे हम नतमस्तक हैं। अब अंबिकापुर की बारी है। जिन्होंने अंबिकापुर वालों को बदनाम किया उन लोगों से बदला लेंगे की नहीं, उन लोगों को चुनचुन कर वापस घर लौटाएंगे। जिन लोगों को एक ही घर के लोगों की जयजयकार की लत लग गई है, उन्हें अंबिकापुर के लोग ही सबक सिखा सकते हैं। 

 

लोगों को डर दिखाकर डराया गया

इस दौरान पीएम ने कहा कि चुनावों से पहले लोगों को डर दिखाया गया, लोगों को मौत का डर दिखाकर लोगों को दबाया गया। सारी दुनिया को इस बात को समझना होगा कि भारत के गांव 0 गलियारों में लोकतंत्र के प्रति कितनी आस्था है। पहले चरण के मतदान में लोगों ने जिस तरह लोकतंत्र के प्रति आस्था प्रकट की है, बिना डरे , बिना झुके जिस तरह लोगों ने मतदान किया वो एक तरह से भारत के लोकतंत्र को आदिवासी भाई बहनों से सिद्ध कर दिया है कि हिंसा के रास्ते पर चलने वाले और विकास में बाधक बनने वालों को डर के साए में मतदान करके चोट दी जा सकती है। 


 

जो हमें वोट नहीं देंगे उनका भी विकास करना है

सरकार किसके लिए होती है, क्या अमीरों के लिए होती है। अगर अमीरों के बच्चों को पढ़ना होता है तो वे तो किसी भी बड़े स्कूल में अपने बच्चे का दाखिला करवा सकते हैं। लेकिन सरकार असल में गरीबों के लिए होती है। अगर अमीर के परिवार का कोई बीमार पड़ जाए तो वह हवाई जहाज से उसे देश के बड़े से बड़े अस्पताल में ले जा सकता है, लेकिन सरकार का कर्तव्य गरीब लोगों के लिए स्वास्थ सेवाएं मुहैया करवाना होता है। ऐसे में सरकार को ध्यान रखना चाहिए कि सरकार गांव और शहर के बीच , तेरी बिरादरी - मेरी बिरादरी , अमीर -गरीब में भेद न करें न उन्हें ऐसा करना चाहिए। आज देश में भाजपा दे्श में एकमात्र ऐसी पार्टी हैं जो इन सभी बातों से ऊपर उठकर देश के विकास में लगी है। भाजपा का एक ही मंत्र है , सबका साथ- सबका विकास । मोदी ने कहा कि हमें विकास सबका कहना है, जो हमें वोट नहीं दे पाते मुझे उनका भी विकास करने के लिए काम करना है। 

Todays Beets: