Wednesday, September 19, 2018

Breaking News

   ग्रेटर नोएडा प्राधिकरण के पूर्व जीएम के ठिकानों पर आयकर के छापे     ||   बिहार: पूर्व मंत्री मदन मोहन झा बनाए गए प्रदेश कांग्रेस के अध्यक्ष। सांसद अखिलेश सिंह बनाए गए अभियान समिति के अध्यक्ष। कौकब कादिरी समेत चार बनाए गए कार्यकारी अध्यक्ष।     ||   कर्नाटक के मंत्री शिवकुमार के खिलाफ ED ने मनी लॉन्ड्रिंग का केस दर्ज किया    ||   सीतापुर में श्रद्धालुओें से भरी बस खाई में पलटी 26 घायल, 5 की हालत गंभीर     ||   मंगल ग्रह पर आशियाना बनाएगा इंसान, वैज्ञानिकों को मिली पानी की सबसे बड़ी झील     ||   भाजपा नेता का अटपटा ज्ञान, 'मृत्युशैया पर हुमायूं ने बाबर से कहा था, गायों का सम्मान करो'     ||   आज से एक हुए IDEA-वोडाफोन! अब बनेगी देश की सबसे बड़ी टेलीकॉम कंपनी     ||   गोवा में बड़ी संख्‍या में लोग बीफ खाते हैं, आप उन्‍हें नहीं रोक सकते: बीजेपी विधायक     ||   चीन फिर चल रहा 'चाल', डोकलाम में चुपचाप फिर शुरू कीं गतिविधियां : अमेरिकी अधिकारी     ||   नीरव मोदी, चोकसी के खिलाफ बड़ा एक्शन, 25-26 सितंबर को कोर्ट में पेश होने के आदेश     ||

भाजपा सांसद शत्रुघ्न सिन्हा के जुहू स्थित घर पर बीएमसी ने चलाया हथोड़ा, तोड़ा गया अवैध निर्माण

अंग्वाल न्यूज डेस्क
भाजपा सांसद शत्रुघ्न सिन्हा के जुहू स्थित घर पर बीएमसी ने चलाया हथोड़ा, तोड़ा गया अवैध निर्माण

मुंबई । भाजपा सांसद और पूर्व मंत्री शत्रुघ्न सिन्हा के मुंबई, जुहू स्थित आठ मंजिला बंगले में बीएमसी ने सोमवार रात तोड़फोड़ की है। जानकारी के मुताबिक उनकी इमारत में कुछ अवैध निर्माण का नोटिस पिछले दिनों बीएमसी ने भाजपा नेता को दिया था, जिसके बाद बीएमसी ने यह कार्रवाई की है। खबरों के मुताबिक जिस समय ये कार्रवाई की गई उस समय शत्रुघ्न सिन्हा घर में ही मौजूद थे। बॉलिवुड के पूर्व अभिनेता शत्रुघ्न सिन्हा अपने रामायण नाम के इस बंगले में बेटी सोनाक्षी सिन्हा और परिवार के साथ रहते हैं। शत्रुघ्न ने बताया कि उनके घर में मामूली गड़बड़ियां थीं और उन्होंने बीएमसी स्टाफ को इसे हटाने के लिए समर्थन दिया। 

ये भी पढ़ें- वर्ष 2000 में जन्में बच्चों को लेकर मोदी सरकार ने बनाई एक खास रणनीति, 'मिशन-2019' के लिए 2 करोड़ युवा नजर में

भाजपा नेता के घर पर हुई इस कार्रवाई के संबंध में निकाय अधिकारियों ने बताया कि घर में छत पर एक टॉइलट, एक ऑफिस और एक पूजा घर का निर्माण अवैध स्थान पर हुआ था जिसमें पूजा घर को छोड़कर बाकी अवैध ढांचों को गिरा दिया गया। साथ ही बीएमसी अधिकारियों ने पूजा घर में रखे मंदिर को दूसरे स्थान पर शिफ्ट करने और पूजा कमरे को हटाने के लिए कहा था।  शत्रुघ्न को बीएमसी की तरफ से पहली नोटिस 6 दिसंबर को जारी किया गया था, लेकिन बावजूद इसके उन्हें अवैध निर्माण को नहीं हटाया था। 


ये भी पढ़ें- सुप्रीम कोर्ट ने अपना ही फैसला लिया वापस, अब सिनेमा घरों में राष्ट्रगान बजाना नहीं होगा अनिवार्य 

पूरे घटनाक्रम पर शत्रुघ्न सिन्हा ने कहा, 'सरकार घर के अंदर टॉइलट निर्माण को बढ़ावा दे रही थी इसलिए हमने छत पर एक शौचालय निर्माण कराया ताकि बिल्डिंग में काम करने वाले लोग उसे इस्तेमाल में ला सकें। मुझे बीएमसी द्वारा इसको हटाये जाने से कोई आपत्ति नहीं है। पूजा घर को फिलहाल एक अस्थायी जगह शिफ्ट कर दिया गया है और हम इसके लिए स्थायी ठिकाना ढूंढ रहे हैं। मैं अधिकारियों को उनके काम बिना कोई बाधा डाले समर्थन कर रहा हूं।' जब उनसे पूछा गया कि क्या यशवंत सिन्हा को समर्थन देने पर उन्हें ये खामियाजा भुगतना पड़ा तो उन्होंने हंसते हुए इसे टाल दिया।  

Todays Beets: