Thursday, May 24, 2018

Breaking News

   कानपुर जहरीली शराब मामले में 5अधिकारी निलंबित     ||   अब जल्द ही बिना नेटवर्क भी कर सकेंगे कॉल, बस Wi-Fi की होगी जरुरत     ||   मौलाना मदनी ने भी की एएमयू से जिन्‍ना की तस्‍वीर हटाने की वकालत     ||   भारत-चीन सेना के बीच हॉटलाइन की तैयारी, LoC पर तनाव होगा दूर     ||   कसौली में धारा 144 लागू, आरोपित पुलिस की गिरफ्त से बाहर     ||   स्कूली बच्चों पर पत्थरबाजी से भड़के उमर अब्दुल्ला, कहा- ये गुंडों जैसी हरकत     ||   थर्ड फ्रंट: ममता, कनिमोझी....और अब केसीआर की एसपी चीफ अखिलेश यादव के साथ बैठक     ||   मायावती का पलटवार, कहा- सत्ता के अहंकार में जनता को मूर्ख समझ रही BJP; शाह के गुरू मोदी ने गिराया पार्टी का स्तर     ||   चीन के स्‍पर्म बैंक ने रखी अनोखी शर्त, सिर्फ कम्‍युनिस्‍टों का समर्थन करने वाले ही दान कर सकेंगे स्‍पर्म     ||   CBSE पेपर लीक: हिमाचल से टीचर समेत 3 गिरफ्तार, पूछताछ में हो सकता है अहम खुलासा     ||

उत्तराखंड से लगने वाली नेपाल सीमा पर बस गिरी खाई में, 5 लोगों की मौत, 20 से ज्यादा घायल

अंग्वाल न्यूज डेस्क
उत्तराखंड से लगने वाली नेपाल सीमा पर बस गिरी खाई में, 5 लोगों की मौत, 20 से ज्यादा घायल

नई दिल्ली। उत्तराखंड से लगने वाली पड़ोसी देश नेपाल की सीमा में दर्दनाक हादसा हो गया। यहां महेंद्रनगर से प्यूठान जा रही यात्रियों की बस वड्डा के पास असंतुलित होकर खाई में गिर गई, इस हादसे में 5 लोगों की मौके पर ही मौत हो गई है जबकि 20 यात्री घायल हो गए हैं। स्थानीय नेपाली कार्यालय से मिली जानकारी के अनुसार रविवार को वड्डा इलाके में बस खाई में गिर गई। बता दें कि इससे पहले नेपाल के पश्चिमी क्षेत्र के कैलाली और डोटी जिलों के 3 गिरजाघरों में शनिवार को आधी रात में बम विस्फोट हुआ था। धमाके के बाद स्थानीय लोग दहशत की वजह से घरों से बाहर निकल आए थे। 

गौरतलब है कि बस हादसे में घायल हुए सभी 20 यात्रियों को कोहलपुर के सरकारी अस्पताल में भर्ती कराया गया है। जिला पुलिस अधीक्षक राजेंद्र प्रसाद पोखरेल ने बताया कि मृतकों में गोमुख के हीरा टम्टा, हरि मल, प्यूठान की सविता शर्मा, कंचनपुर जिले के कृष्णपुर नगर पालिका वार्ड नंबर दो की सरिता चंद और कैलाली जिले के वार्ड नंबर एक के वीरू चौधरी शामिल हैं।  

ये भी पढ़ें - कर्नाटक चुनावः कांग्रेस के मुख्यमंत्री का बड़ा बयान, दलितों के लिए कुर्सी छोड़ने को तैयार 


यहां बता दें कि इससे पहले कैलाली और डोटी के गिरजाघरों में हुए धमाके ने भी लोगों को इहशत में डाल दिया था। हालांकि किसी संगठन ने अभी तक धमाके की जिम्मेदारी नहीं ली है। गौर करने वाली बात है कि नेपाल के कुछ हिस्सों में ईसाई समाज पर लालच देकर लोगों के धर्मांतरण का आरोप लगता रहा है। अब पुलिस इस मामले की जांच कर रही है। 

 

Todays Beets: