Friday, November 16, 2018

Breaking News

   एसबीआई ने क्लासिक कार्ड से पैसे निकालने के बदले नियम    ||   बाजार में मंगलवार को आई बहार, सेंसेक्स और निफ्टी में बढ़त     ||   हिंदूराव अस्पताल के ऑपरेशन थियेटर में निकला सांप , हंगामा     ||   सीबीआई के स्पेशल डायरेक्टर राकेश अस्थाना के आरोपों के बाद हो सकता है उनका लाइ डिटेक्टर टेस्ट    ||   देहरादून की मॉडल ने किया मुंबई में हंगामा , वाचमैन के साथ की हाथापाई , पुलिस आई तो उतार दिए कपड़े     ||   दंतेवाड़ा में नक्सली हमला, दो जवान शहीद , दुरदर्शन के कैमरामैन की भी मौत     ||   सेना हर चुनौती से न‍िपटने के ल‍िए तैयार, सर्जिकल स्ट्राइक भी व‍िकल्‍प: रणबीर सिंह    ||   BJP विधायक मानवेंद्र ने बदला पाला, राज्यवर्धन बोले- कांग्रेस ने 70 साल में मंत्री नहीं बनाया    ||   सबरीमाला मंदिर में महिलाओं के प्रवेश पर छिड़ी जंग, हिरासत में 30 प्रदर्शनकारी    ||   विवेक तिवारी हत्याकांडः HC की लखनऊ बेंच ने CBI जांच की मांग ठुकराई    ||

उत्तराखंड से लगने वाली नेपाल सीमा पर बस गिरी खाई में, 5 लोगों की मौत, 20 से ज्यादा घायल

अंग्वाल न्यूज डेस्क
उत्तराखंड से लगने वाली नेपाल सीमा पर बस गिरी खाई में, 5 लोगों की मौत, 20 से ज्यादा घायल

नई दिल्ली। उत्तराखंड से लगने वाली पड़ोसी देश नेपाल की सीमा में दर्दनाक हादसा हो गया। यहां महेंद्रनगर से प्यूठान जा रही यात्रियों की बस वड्डा के पास असंतुलित होकर खाई में गिर गई, इस हादसे में 5 लोगों की मौके पर ही मौत हो गई है जबकि 20 यात्री घायल हो गए हैं। स्थानीय नेपाली कार्यालय से मिली जानकारी के अनुसार रविवार को वड्डा इलाके में बस खाई में गिर गई। बता दें कि इससे पहले नेपाल के पश्चिमी क्षेत्र के कैलाली और डोटी जिलों के 3 गिरजाघरों में शनिवार को आधी रात में बम विस्फोट हुआ था। धमाके के बाद स्थानीय लोग दहशत की वजह से घरों से बाहर निकल आए थे। 

गौरतलब है कि बस हादसे में घायल हुए सभी 20 यात्रियों को कोहलपुर के सरकारी अस्पताल में भर्ती कराया गया है। जिला पुलिस अधीक्षक राजेंद्र प्रसाद पोखरेल ने बताया कि मृतकों में गोमुख के हीरा टम्टा, हरि मल, प्यूठान की सविता शर्मा, कंचनपुर जिले के कृष्णपुर नगर पालिका वार्ड नंबर दो की सरिता चंद और कैलाली जिले के वार्ड नंबर एक के वीरू चौधरी शामिल हैं।  

ये भी पढ़ें - कर्नाटक चुनावः कांग्रेस के मुख्यमंत्री का बड़ा बयान, दलितों के लिए कुर्सी छोड़ने को तैयार 


यहां बता दें कि इससे पहले कैलाली और डोटी के गिरजाघरों में हुए धमाके ने भी लोगों को इहशत में डाल दिया था। हालांकि किसी संगठन ने अभी तक धमाके की जिम्मेदारी नहीं ली है। गौर करने वाली बात है कि नेपाल के कुछ हिस्सों में ईसाई समाज पर लालच देकर लोगों के धर्मांतरण का आरोप लगता रहा है। अब पुलिस इस मामले की जांच कर रही है। 

 

Todays Beets: