Sunday, July 22, 2018

Breaking News

   जापान में फ़्लैश फ्लड से 200 लोगों की मौत     ||   देहरादून में जलभराव पर सरकार ने लिया संज्ञान अधिकारियों को दिए निर्देश     ||   भारत ने टॉस जीता फील्डिंग करने का फैसला     ||   उपेन्द्र राय मनी लाउंड्रिंग मामले में सीबीआई ने 2 अधिकारियों को गिरफ्तार किया     ||   नीतीश का गठबंधन को जवाब कहा गठबंधन सिर्फ बिहार में है बाहर नहीं     ||   जापान में बारिश का कहर जारी 100 से ज्यादा लोगों की मौत     ||   PM मोदी के नोएडा दौरे से पहले लगा भारी जाम, पढ़ें पूरी ट्रैफिक एडवाइजरी     ||    नीतीश ने दिए संकेत: केवल बिहार में है भाजपा और जदयू का गठबंधन, राष्ट्रीय स्तर पर हम साथ नहीं    ||   निर्भया मामले में तीनों दोषियों को होगी फांसी, सुप्रीम कोर्ट ने याचिका ठुकराई    ||   उत्तर भारत में धूल: चंडीगढ़ में सुबह 11 बजे अंधेरा छाया, 26 उड़ानें रद्द; दिल्ली में भी धूल कायम     ||

उत्तराखंड से लगने वाली नेपाल सीमा पर बस गिरी खाई में, 5 लोगों की मौत, 20 से ज्यादा घायल

अंग्वाल न्यूज डेस्क
उत्तराखंड से लगने वाली नेपाल सीमा पर बस गिरी खाई में, 5 लोगों की मौत, 20 से ज्यादा घायल

नई दिल्ली। उत्तराखंड से लगने वाली पड़ोसी देश नेपाल की सीमा में दर्दनाक हादसा हो गया। यहां महेंद्रनगर से प्यूठान जा रही यात्रियों की बस वड्डा के पास असंतुलित होकर खाई में गिर गई, इस हादसे में 5 लोगों की मौके पर ही मौत हो गई है जबकि 20 यात्री घायल हो गए हैं। स्थानीय नेपाली कार्यालय से मिली जानकारी के अनुसार रविवार को वड्डा इलाके में बस खाई में गिर गई। बता दें कि इससे पहले नेपाल के पश्चिमी क्षेत्र के कैलाली और डोटी जिलों के 3 गिरजाघरों में शनिवार को आधी रात में बम विस्फोट हुआ था। धमाके के बाद स्थानीय लोग दहशत की वजह से घरों से बाहर निकल आए थे। 

गौरतलब है कि बस हादसे में घायल हुए सभी 20 यात्रियों को कोहलपुर के सरकारी अस्पताल में भर्ती कराया गया है। जिला पुलिस अधीक्षक राजेंद्र प्रसाद पोखरेल ने बताया कि मृतकों में गोमुख के हीरा टम्टा, हरि मल, प्यूठान की सविता शर्मा, कंचनपुर जिले के कृष्णपुर नगर पालिका वार्ड नंबर दो की सरिता चंद और कैलाली जिले के वार्ड नंबर एक के वीरू चौधरी शामिल हैं।  

ये भी पढ़ें - कर्नाटक चुनावः कांग्रेस के मुख्यमंत्री का बड़ा बयान, दलितों के लिए कुर्सी छोड़ने को तैयार 


यहां बता दें कि इससे पहले कैलाली और डोटी के गिरजाघरों में हुए धमाके ने भी लोगों को इहशत में डाल दिया था। हालांकि किसी संगठन ने अभी तक धमाके की जिम्मेदारी नहीं ली है। गौर करने वाली बात है कि नेपाल के कुछ हिस्सों में ईसाई समाज पर लालच देकर लोगों के धर्मांतरण का आरोप लगता रहा है। अब पुलिस इस मामले की जांच कर रही है। 

 

Todays Beets: