Sunday, February 24, 2019

Breaking News

   पाकिस्तान को FATF से मिली राहत, ग्रे लिस्ट में रहेगा बरकरार     ||   आय से अधिक संपत्ति केसः हिमाचल के पूर्व CM वीरभद्र सिंह के खिलाफ आरोप तय     ||   भीमा-कोरेगांव केसः बॉम्बे HC ने आनंद तेलतुंबड़े की याचिका पर सुनवाई 27 तक टाली     ||   हिमाचल प्रदेश: किन्नौर जिले में आया भूकंप, तीव्रता 3.5     ||   PAK सेना के ISPR के डीजी ने कहा- हम युद्ध की तैयारी नहीं कर रहे, भारत धमकी दे रहा है     ||   ICC को खत लिखेगी BCCI- आतंक समर्थक देश के साथ खत्म हो क्रिकेट संबंध     ||   महाराष्ट्रः ईस्ट इंडिया कंपनी द्वारा चलाई गई शकुंतला नैरो गेज ट्रेन में लगी आग     ||   केरलः दक्षिण पश्चिम तट से अवैध तरीके से भारत में घुसते 3 लोग गिरफ्तार     ||   ताबड़तोड़ एनकाउंटर पर योगी सरकार को SC का नोटिस, CJI बोले- विस्तृत सुनवाई की जरूरत     ||   तेहरान में बोइंग 707 किर्गिज कार्गो प्लेन क्रैश, 10 क्रू मेंबर की मौत     ||

खुलासा- भारतीय रेलवे और IRCTC ऑनलाइन टिकट लेने पर वसूलते हैं ज्यादा किराया , CCI ने दिए जांच के आदेश

अंग्वाल संवाददाता
खुलासा- भारतीय रेलवे और IRCTC ऑनलाइन टिकट लेने पर वसूलते हैं ज्यादा किराया , CCI ने दिए जांच के आदेश

नई दिल्ली । रेलवे की टिकट खिड़की के बजाए ऑन लाइन टिकट खरीदने वाले लोगों से भारतीय रेलवे और उसकी इकाई आईआरसीटीसी द्वारा ज्यादा किराया वसूलने का मुद्दा विवादों में आ गया है। इस मामले की गंभीरता को देखते हुए भारतीय प्रतिस्पर्धा आयोग यानी सीसीआई ने ई टिकट ब्रिकी में मूल कीमत से ज्यादा किराया वसूलने के मामले की जांच के आदेश दिए हैं। सीसीआई ने यह आदेश अहमदाबाद के मीत शाह और राजकोट के आनंद रणपाड़ा की उस शिकायत के बाद दिया है, जिसमें उन्होंने भारतीय रेल और भारतीय रेलवे खानपान एंव पर्यटन निगम लिमिटेड (IRCTC) द्वारा ज्यादा ऑनलाइन टिकट खरीदने पर ज्यादा कीमत वसूलने के आरोप लगाए थे।

बता दें कि पिछले दिनों गुजरात के अमहदाबाद निवासी मीत शाह और राजकोट के आनंद ने आईआरसीटी और रेलवे के खिलाफ शिकायत करते हुए कहा कि दोनों की वास्तविक आधार किराया पर पहुंचने के लिए किराये को 5 के गुण के में निकटतम ऊपरी अँक में तय करते हैं। इससे ई टिकट में रेल टिकट ब्रिकी के लिए लोगों पर कई अनुचित शर्तों को थोपा जा रहा है। इस शिकायत के बाद सीसीआई ने दोनों को प्रथम दृष्टया नियमों के उल्लंघन का दोषी पाया । इसके बाद सीसीआई ने गत 9 नवंबर को इस मामले की जांच के आदेश दिए। इस दौरान कहा गया है कि इस मा्मले की जांच के दौरान उन लोगों की भी जांच की जाए, जो इस मामले से जुड़े हुए हैं।


सीसीआई ने अपने आदेश के साथ ही कहा है कि शिकायत मिलने के बाद प्राथमिक जांच से ऐसा प्रतीत होता है कि रेल मंत्रालय और आईआरसीटीसी बिना किसी उचित कारण के ऑनलाइन बुकिंग करने वाले यात्रियों से किराया राउंड ऑफ करके लेता है। हालांकि इन शिकायतों पर दोनों ही इकाइयों का कहना है कि टिकट मामले में खुदरा राशि लेने और देने से लेन-देन का समय बढ़ेगा। ऐसे में यात्रियों को तेज सेवा देने के उद्देश्य से किराये को राउंड ऑफ करने का फैसला लिया गया है। 

Todays Beets: