Thursday, August 16, 2018

Breaking News

   मंगल ग्रह पर आशियाना बनाएगा इंसान, वैज्ञानिकों को मिली पानी की सबसे बड़ी झील     ||   भाजपा नेता का अटपटा ज्ञान, 'मृत्युशैया पर हुमायूं ने बाबर से कहा था, गायों का सम्मान करो'     ||   आज से एक हुए IDEA-वोडाफोन! अब बनेगी देश की सबसे बड़ी टेलीकॉम कंपनी     ||   गोवा में बड़ी संख्‍या में लोग बीफ खाते हैं, आप उन्‍हें नहीं रोक सकते: बीजेपी विधायक     ||   चीन फिर चल रहा 'चाल', डोकलाम में चुपचाप फिर शुरू कीं गतिविधियां : अमेरिकी अधिकारी     ||   नीरव मोदी, चोकसी के खिलाफ बड़ा एक्शन, 25-26 सितंबर को कोर्ट में पेश होने के आदेश     ||   जापान में फ़्लैश फ्लड से 200 लोगों की मौत     ||   देहरादून में जलभराव पर सरकार ने लिया संज्ञान अधिकारियों को दिए निर्देश     ||   भारत ने टॉस जीता फील्डिंग करने का फैसला     ||   उपेन्द्र राय मनी लाउंड्रिंग मामले में सीबीआई ने 2 अधिकारियों को गिरफ्तार किया     ||

सरकार बेच सकती है कि एयर इंडिया के 100 फीसदी शेयर, निजीकरण की प्रक्रिया पर हो रहा विचार

अंग्वाल न्यूज डेस्क
सरकार बेच सकती है कि एयर इंडिया के 100 फीसदी शेयर, निजीकरण की प्रक्रिया पर हो रहा विचार

नई दिल्ली। घाटे में चल रही एयर इंडिया की हिस्सेदारी बेचने की असफल कोशिशों के बीच अब सरकार ने इसे घाटे से उबारने के लिए नए तरीके आजमाने शुरू कर दिए हैं।   सरकार की ओर से कहा है कि अब इसके लिए नई गाइडलाइंस जारी की जाएगी। ताकि ज्यादा से ज्यादा निवेशकों को आकर्षित किया जा सके। आर्थिक मामलों के सचिव सुभाष चंद्र गर्ग ने बताया कि एयर इंडिया में लगे क्लॉज माइनरिटी स्टेट स्टेक समेत प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी प्रशासन निजीकरण प्रक्रिया पर पुनर्विचार करने को तैयार है।

ये भी पढ़ें - वर्ली में दीपिका पादुकोण की रिहाइश वाली 33 मंजिला इमारत में लगी भीषण आग, दमकल की 8 गाड़ियां आग...

गौरतलब है कि सचिव सुभाष गर्ग ने बताया कि सरकार कई विकल्पों पर विचार कर रही है और कंपनी के 24 फीसदी शेयर अपने पास रखने का भी उसका कोई इरादा नहीं है। उन्होंने कहा कि सरकार द्वारा पहले दिए गए प्रस्ताव निवेशकों का लुभा नहीं पाए इस वजह से अब कुछ अलग करने का विचार किया गया।  सुभाष गर्ग ने बताया कि ऐसा कुछ फिक्स्ड नहीं है कि सरकार के पास इसका 24 फीसदी हिस्सा होना ही चाहिए। इस पर पुनर्विचार किया जा सकता है।


 

यहां बता दें कि एयर इंडिया को घाटे से उबारने के लिए प्राईवेट हाथों में देने की योजना को उस वक्त झटका लगा था जब एयरलाइंस के 76 फीसद शेयर बेचने की आखिरी तारीख 31 मई निकल जाने के बावजूद किसी भी खरीददार ने उसमें दिलचस्पी नहीं दिखाई। 

Todays Beets: