Monday, May 21, 2018

Breaking News

   अब जल्द ही बिना नेटवर्क भी कर सकेंगे कॉल, बस Wi-Fi की होगी जरुरत     ||   मौलाना मदनी ने भी की एएमयू से जिन्‍ना की तस्‍वीर हटाने की वकालत     ||   भारत-चीन सेना के बीच हॉटलाइन की तैयारी, LoC पर तनाव होगा दूर     ||   कसौली में धारा 144 लागू, आरोपित पुलिस की गिरफ्त से बाहर     ||   स्कूली बच्चों पर पत्थरबाजी से भड़के उमर अब्दुल्ला, कहा- ये गुंडों जैसी हरकत     ||   थर्ड फ्रंट: ममता, कनिमोझी....और अब केसीआर की एसपी चीफ अखिलेश यादव के साथ बैठक     ||   मायावती का पलटवार, कहा- सत्ता के अहंकार में जनता को मूर्ख समझ रही BJP; शाह के गुरू मोदी ने गिराया पार्टी का स्तर     ||   चीन के स्‍पर्म बैंक ने रखी अनोखी शर्त, सिर्फ कम्‍युनिस्‍टों का समर्थन करने वाले ही दान कर सकेंगे स्‍पर्म     ||   CBSE पेपर लीक: हिमाचल से टीचर समेत 3 गिरफ्तार, पूछताछ में हो सकता है अहम खुलासा     ||   बिहार: शराब और मुर्गे के साथ गश्त करने वाली पुलिस टीम निलंबित     ||

पाकिस्तान आर्थिक गलियारे में भ्रष्टाचार के आरोपों के बाद चीन ने फंडिंग पर लगाई रोक

अंग्वाल न्यूज डेस्क
पाकिस्तान आर्थिक गलियारे में भ्रष्टाचार के आरोपों के बाद चीन ने फंडिंग पर लगाई रोक

नई दिल्ली । चीन-पाकिस्तान के आर्थिक गलियारे के तहत बन रहे तीन बड़ी रोड परियोजनाओं पर भी भ्रष्टाचार की चोट लगी है। करोड़ों डॉलर की कीमत से बनने वाले इस गलियारे पर भ्रष्टाचार के आरोप लगे हैं, जिसके चलते चीन ने फिलहाल अस्थायी रूप से इस परियोजना के लिए फंडिंग पर रोक लगाने का फैसला लिया है। मंगलवार के इससे संबंधित एक मीडिया रिपोर्ट जारी हुई। उधर, चीन के इस रुक से पाकिस्तान स्तब्ध है। वहीं कुछ पाकिस्तानी जानकार मान रहे हैं कि यह उनके देश के लिए अच्छी खबर नहीं है। आने वाले समय में इसका खामियाजा लोगों को भुगतना पड़ सकता है। 

ये भी पढ़े- आतंकी जाकिर मूसा को उसके ही गांव के लोगों ने पथराव कर साथियों समेत भगाया, त्राल में दबोचने के लिए दबिश

आरोपों के बाद अब परियोजनाओं में होगी देरी

समाचार पत्र 'डॉन' के अनुसार चीन सरकार द्वारा पाकिस्तान नेशनल हाइवे अथॉरिटी (NHA) की फंडिंग रोके जाने से अरबों डॉलर की सड़क परियोजनाओं को करारा झटका लगेगा। इसके कारण कम से कम तीन परियोजनाओं में देरी की आशंका पैदा हो गई है। मीडिया रिपोर्ट के मुताबिक,  पेइचिंग द्वारा नई गाइडलाइंस जारी होने के बाद अब फंड जारी किया जाएगा। CPEC चीन के प्रतिष्ठित 'वन बेल्ट वन रोड' परियोजना का हिस्सा है। यह परियोजना पाकिस्तान अधिकृत कश्मीर (PoK) के हिस्से से भी गुजरेगी। इस परियोजना के जरिए चीन का शिनजियांग इलाका पाकिस्तान के बलूचिस्तान प्रांत से जुड़ेगा। 


ये भी पढ़े- सुप्रीम कोर्ट ने डोनाल्ड ट्रंप सरकार के फैसले का किया समर्थन, 6 मुस्लिम देशों पर लग सकता है ट्रैवल बैन

भ्रष्टाचार के आरोपों से ये परियोजनाएं प्रभावित 

चीन द्वारा फंड रोके जाने के कारण जिन रोड परियोजनाओं पर असर पड़ेगा उनमे 210 किलोमीटर लंबा डेरा इस्माइल खान-झोब रोड 81 अरब की लागत से बन रहा है। इसके अलावा 110 किलोमीटर लंबा खुजदार-बसिमा रोड करीब 20 अरब की लागत से बन रहा है। तीसरी परियोजना जो फंड रोके जाने से प्रभावित हो सकती है वह है रायकोट से थाकोट के बीच काराकोरम हाइवे। 136 किलोमीटर लंबी इस सड़क के निर्माण पर करीब 8.5 अरब रुपये खर्च होने का अनुमान है। 

ये भी पढ़े- राहुल गांधी ने सुधारी अपनी गलती, आंकड़ों को सही करने के बाद फिर ट्वीट कर भाजपा से पूछा सवाल

Todays Beets: