Wednesday, December 13, 2017

Breaking News

   पशु तस्करों और पुलिस में मुठभेड़, जवाबी गोलीबारी में एक मरा, घायल गायें बरामद    ||   RTI में खुलासा- भगत सिंह-राजगुरु-सुखदेव को अब तक नहीं मिला शहीद का दर्जा, सरकारी किताब में बताया गया 'आतंकी'     ||    गुजरात चुनाव: रैली में बोले BJP नेता- दाढ़ी-टोपी वालों को कम करना पड़ेगा, डराने आया हूं ताकि वो आंख न उठा सकें    ||   मध्य प्रदेश: बाबरी विध्वंस पर जुलूस निकाल रहे विहिप-बजरंग दल कार्यकर्ता पर पथराव, भड़क गई हिंसा    ||   बैंक अकाउंट को आधार से जोड़ने की तारीख बढ़ी, जानिए क्या है नई तारीख    ||   पशु तस्करों और पुलिस में मुठभेड़, जवाबी गोलीबारी में एक मरा, घायल गायें बरामद     ||   अश्विन ने लगाया विकेटों का सबसे तेज 'तिहरा शतक', लिली को छोड़ा पीछे     ||   पूरा हुआ सपना चौधरी का 'सपना', बेघर होने के साथ बॉलीवुड से मिला बड़ा ऑफर    ||   PAK सरकार ने शर्तें मानीं, प्रदर्शन खत्म करने कानून मंत्री को देना पड़ा इस्तीफा    ||   मैदान पर विराट के आक्रामक रवैये पर राहुल द्रविड़ को सताई चिंता     ||

पाकिस्तान आर्थिक गलियारे में भ्रष्टाचार के आरोपों के बाद चीन ने फंडिंग पर लगाई रोक

अंग्वाल न्यूज डेस्क
पाकिस्तान आर्थिक गलियारे में भ्रष्टाचार के आरोपों के बाद चीन ने फंडिंग पर लगाई रोक

नई दिल्ली । चीन-पाकिस्तान के आर्थिक गलियारे के तहत बन रहे तीन बड़ी रोड परियोजनाओं पर भी भ्रष्टाचार की चोट लगी है। करोड़ों डॉलर की कीमत से बनने वाले इस गलियारे पर भ्रष्टाचार के आरोप लगे हैं, जिसके चलते चीन ने फिलहाल अस्थायी रूप से इस परियोजना के लिए फंडिंग पर रोक लगाने का फैसला लिया है। मंगलवार के इससे संबंधित एक मीडिया रिपोर्ट जारी हुई। उधर, चीन के इस रुक से पाकिस्तान स्तब्ध है। वहीं कुछ पाकिस्तानी जानकार मान रहे हैं कि यह उनके देश के लिए अच्छी खबर नहीं है। आने वाले समय में इसका खामियाजा लोगों को भुगतना पड़ सकता है। 

ये भी पढ़े- आतंकी जाकिर मूसा को उसके ही गांव के लोगों ने पथराव कर साथियों समेत भगाया, त्राल में दबोचने के लिए दबिश

आरोपों के बाद अब परियोजनाओं में होगी देरी

समाचार पत्र 'डॉन' के अनुसार चीन सरकार द्वारा पाकिस्तान नेशनल हाइवे अथॉरिटी (NHA) की फंडिंग रोके जाने से अरबों डॉलर की सड़क परियोजनाओं को करारा झटका लगेगा। इसके कारण कम से कम तीन परियोजनाओं में देरी की आशंका पैदा हो गई है। मीडिया रिपोर्ट के मुताबिक,  पेइचिंग द्वारा नई गाइडलाइंस जारी होने के बाद अब फंड जारी किया जाएगा। CPEC चीन के प्रतिष्ठित 'वन बेल्ट वन रोड' परियोजना का हिस्सा है। यह परियोजना पाकिस्तान अधिकृत कश्मीर (PoK) के हिस्से से भी गुजरेगी। इस परियोजना के जरिए चीन का शिनजियांग इलाका पाकिस्तान के बलूचिस्तान प्रांत से जुड़ेगा। 


ये भी पढ़े- सुप्रीम कोर्ट ने डोनाल्ड ट्रंप सरकार के फैसले का किया समर्थन, 6 मुस्लिम देशों पर लग सकता है ट्रैवल बैन

भ्रष्टाचार के आरोपों से ये परियोजनाएं प्रभावित 

चीन द्वारा फंड रोके जाने के कारण जिन रोड परियोजनाओं पर असर पड़ेगा उनमे 210 किलोमीटर लंबा डेरा इस्माइल खान-झोब रोड 81 अरब की लागत से बन रहा है। इसके अलावा 110 किलोमीटर लंबा खुजदार-बसिमा रोड करीब 20 अरब की लागत से बन रहा है। तीसरी परियोजना जो फंड रोके जाने से प्रभावित हो सकती है वह है रायकोट से थाकोट के बीच काराकोरम हाइवे। 136 किलोमीटर लंबी इस सड़क के निर्माण पर करीब 8.5 अरब रुपये खर्च होने का अनुमान है। 

ये भी पढ़े- राहुल गांधी ने सुधारी अपनी गलती, आंकड़ों को सही करने के बाद फिर ट्वीट कर भाजपा से पूछा सवाल

Todays Beets: