Tuesday, November 20, 2018

Breaking News

   एसबीआई ने क्लासिक कार्ड से पैसे निकालने के बदले नियम    ||   बाजार में मंगलवार को आई बहार, सेंसेक्स और निफ्टी में बढ़त     ||   हिंदूराव अस्पताल के ऑपरेशन थियेटर में निकला सांप , हंगामा     ||   सीबीआई के स्पेशल डायरेक्टर राकेश अस्थाना के आरोपों के बाद हो सकता है उनका लाइ डिटेक्टर टेस्ट    ||   देहरादून की मॉडल ने किया मुंबई में हंगामा , वाचमैन के साथ की हाथापाई , पुलिस आई तो उतार दिए कपड़े     ||   दंतेवाड़ा में नक्सली हमला, दो जवान शहीद , दुरदर्शन के कैमरामैन की भी मौत     ||   सेना हर चुनौती से न‍िपटने के ल‍िए तैयार, सर्जिकल स्ट्राइक भी व‍िकल्‍प: रणबीर सिंह    ||   BJP विधायक मानवेंद्र ने बदला पाला, राज्यवर्धन बोले- कांग्रेस ने 70 साल में मंत्री नहीं बनाया    ||   सबरीमाला मंदिर में महिलाओं के प्रवेश पर छिड़ी जंग, हिरासत में 30 प्रदर्शनकारी    ||   विवेक तिवारी हत्याकांडः HC की लखनऊ बेंच ने CBI जांच की मांग ठुकराई    ||

लद्दाख में ‘ड्रैगन’ ने फिर से की घुसपैठ, 400 मीटर अंदर आकर गाड़ दिए 5 टेंट

अंग्वाल न्यूज डेस्क
लद्दाख में ‘ड्रैगन’ ने फिर से की घुसपैठ, 400 मीटर अंदर आकर गाड़ दिए 5 टेंट

नई दिल्ली। नियंत्रण रेखा पर ‘ड्रैगन’ अपनी हरकतों से बाज नहीं आ रहा है। भारत और चीन के बीच करीब 4057 किलोमीटर की लंबी नियंत्रण रेखा पर चीनी सेना के द्वारा अक्सर ही ऐसे कारनामों को अंजाम दिया जाता रहा है जो भारतीय सेना को उकसाने का काम करता है। चीनी सेना द्वारा लद्दाख के डेमचोक इलाके में 300 से 400 मीटर तक अंदर आ गए और वहां अपने 5 टेंट लगा दिए। भारतीय सैनिकों के विरोध जताने के बाद भी उन्होंने अपने टेंट नहीं हटाए लेकिन जब ब्रिगेडियर स्तर की बातचीत का दवाब डाला गया तो 3 टेंट हटा लिए गए।

गौरतलब है कि चीनी सेना कुछ समय पहले गड़ेरियों के वेश में भारतीय सीमा के अंदर घुस आए थे और भारत के विरोध के बावजूद वे वहां से नहीं हटे। इसके बाद भारतीय सैनिकों ने सीमा पर बैनर मार्च किया। यहां गौर करने वाली बात है कि डोकलाम विवाद के बाद दोनों देशों ने सीमा पर से अपने सैनिकों की संख्या कम करने पर सहमत हो गए थे। भारत ने तो संख्या कम कर दी लेकिन चीन ने ऐसा नहीं किया। 


ये भी पढ़ें - मुख्य सचिव मारपीट मामले में दिल्ली पुलिस ने सीएम पर कसा शिकंजा, अपनों की गवाही ने बढ़ाई केजरीव...

बताया जा रहा है कि लद्दाख प्रशासन की ओर से वहां सड़क का निर्माण किया  जा रहा है जिसका चीन विरोध कर रहा है। बता दें कि डेमचोक उन विवादित जगहों में से एक है जिसकी सीमा अरुणाचल प्रदेश तक फैली है। अनसुलझी सीमा अनसुलझी सीमा को लेकर अलग-अलग धारणाओं के कारण इस सेक्टर में अकसर दोनों देशों की सेनाओं के बीच गतिरोध होता रहता है। दोनों एक दूसरे पर अपने क्षेत्र में अतिक्रमण करने का आरोप लगाती रहती हैं। लद्दाख में दूसरे विवादित क्षेत्रों में ट्रिग हाईट्स, डमचेले, चुमार, स्पैन्गुर गैप और पैन्गॉन्ग सो शामिल हैं। इस साल चीन सैनिकों द्वारा एलएसी पर 170 से ज्यादा बार घुसपैठ की कोशिश हुई है। 

Todays Beets: