Sunday, March 24, 2019

Breaking News

    दिल्लीः NGT ने जर्मन कार कंपनी वोक्सवैगन पर 500 करोड़ का जुर्माना ठोंका     ||    दिल्लीः राहुल गांधी 11 मार्च को बूथ कार्यकर्ता सम्मेलन को संबोधित करेंगे     ||    हैदराबाद: टीका लगाने के बाद एक बच्चे की मौत, 16 बीमार पड़े     ||   मध्य प्रदेश के ब्रांड एंबेसडर होंगे सलमान खान, CM कमलनाथ ने दी जानकारी     ||   पाकिस्तान को FATF से मिली राहत, ग्रे लिस्ट में रहेगा बरकरार     ||   आय से अधिक संपत्ति केसः हिमाचल के पूर्व CM वीरभद्र सिंह के खिलाफ आरोप तय     ||   भीमा-कोरेगांव केसः बॉम्बे HC ने आनंद तेलतुंबड़े की याचिका पर सुनवाई 27 तक टाली     ||   हिमाचल प्रदेश: किन्नौर जिले में आया भूकंप, तीव्रता 3.5     ||   PAK सेना के ISPR के डीजी ने कहा- हम युद्ध की तैयारी नहीं कर रहे, भारत धमकी दे रहा है     ||   ICC को खत लिखेगी BCCI- आतंक समर्थक देश के साथ खत्म हो क्रिकेट संबंध     ||

मुख्यमंत्री बनते ही बिप्लव देब चले पीएम की राह,कहा- न खाऊंगा और न खाने दूंगा

अंग्वाल न्यूज डेस्क
मुख्यमंत्री बनते ही बिप्लव देब चले पीएम की राह,कहा- न खाऊंगा और न खाने दूंगा

नई दिल्ली। उत्तरपूर्वी राज्य त्रिपुरा में 25 सालों के वामदल के शासन का अंत करने के बाद पहली बार भाजपा के मुख्यमंत्री बिप्लव कुमार देब ने शनिवार को अपना पद संभाल लिया। पद संभालते ही सीएम बिप्लव कुमार देव प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी के नक्शेकदम पर चलना शुरू कर दिया है। उन्होंने कहा कि ‘‘मैं न खाऊंगा और न खाने दूंगा’’। राज्य के विकास में जो भी बाधा खड़ी खड़ेगा उस पर कार्रवाई की जाएगी। नए मुख्यमंत्री ने कहा कि अब राज्य में यूनियन के लोग हफ्ता नहीं वसूल पाएंगे। 

गौरतलब है कि मुख्यमंत्री का पदभार संभालने के बाद बिप्लव कुमार देव ने कहा कि ‘मैं यूनियन को तोड़ने के लिए सीएम नहीं बना हूं लेकिन राज्य में यूनियन के नाम पर जो गुंडागर्दी होती है और कोई उद्योग लगाने से रोकता है तो मैं ऐसा नहीं होने दूंगा। सीएम ने कहा कि मेरा मानना है कि यूनियन इसलिए जरूरी होती है कि किसी कर्मचारी के साथ कोई अन्याय न होने पाए लेकिन अगर यूनियन हफ्ता वसूलेगी या फिर पार्टी के लिए फंड जुटाएगी तो मैं यह नहीं होने दूंगा। मैं राज्य में संविधान जो कहता है, वही लागू करुंगा। 


ये भी पढ़ें - अब बैंकों से 50 करोड़ से ज्यादा का लोन वालों को देना होगा पासपोर्ट डिटेल, वित्त मंत्रालय ने जा...

यहां बता दें कि जब उनसे पिछली सरकार के भ्रष्टाचार की जांच के बारे में पूछा गया तो उन्होंने कहा कि उनकी सरकार भ्रष्टाचार करने वाले किसी भी व्यक्ति को उनकी सरकार नहीं छोड़ेगी। उन्होंने कहा कि मैंने अपने कैबिनेट के मंत्रियों से भी कहा कि मेरी सरकार का मंत्र भी प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी की ही तरह है- न खाऊंगा और ना खाने दूंगा। हम राज्य में वैसा ही शासन चलाएंगे जैसा पीएम मोदी चाहते हैं। 

Todays Beets: