Monday, July 23, 2018

Breaking News

   जापान में फ़्लैश फ्लड से 200 लोगों की मौत     ||   देहरादून में जलभराव पर सरकार ने लिया संज्ञान अधिकारियों को दिए निर्देश     ||   भारत ने टॉस जीता फील्डिंग करने का फैसला     ||   उपेन्द्र राय मनी लाउंड्रिंग मामले में सीबीआई ने 2 अधिकारियों को गिरफ्तार किया     ||   नीतीश का गठबंधन को जवाब कहा गठबंधन सिर्फ बिहार में है बाहर नहीं     ||   जापान में बारिश का कहर जारी 100 से ज्यादा लोगों की मौत     ||   PM मोदी के नोएडा दौरे से पहले लगा भारी जाम, पढ़ें पूरी ट्रैफिक एडवाइजरी     ||    नीतीश ने दिए संकेत: केवल बिहार में है भाजपा और जदयू का गठबंधन, राष्ट्रीय स्तर पर हम साथ नहीं    ||   निर्भया मामले में तीनों दोषियों को होगी फांसी, सुप्रीम कोर्ट ने याचिका ठुकराई    ||   उत्तर भारत में धूल: चंडीगढ़ में सुबह 11 बजे अंधेरा छाया, 26 उड़ानें रद्द; दिल्ली में भी धूल कायम     ||

खट्टर से बातचीत करने चंडीगढ़ पहुंचे केजरीवाल को दिखाए काले झंडे, पराली जलाने के मुद्दे पर होगी चर्चा

अंग्वाल न्यूज डेस्क
खट्टर से बातचीत करने चंडीगढ़ पहुंचे केजरीवाल को दिखाए काले झंडे, पराली जलाने के मुद्दे पर होगी चर्चा

चंडीगढ़ । दिल्ली-एनसीआर में प्रदूषण को लेकर पिछले कुछ दिनों से मचे हो-हल्ले और सुप्रीमकोर्ट-एनजीटी की फटकार के बीच दिल्ली के मुख्यमंत्री अरविंद केजरीवाल बुधवार दोपहर हरियाणा के सीएम मनोहर लाल खट्टर से मुलाकात करने चंडीगढ़ पहुंचे। हालांकि इस दौरान दोनों मुख्यमंत्रियों के बीच प्रदूषण को कम करने के लिए चर्चा होगी, लेकिन इससे पहले ही केजरीवाल का चंडीगढ़ आने पर कांग्रेस और अकाली दल के कार्यकर्ताओं ने भी उन्हें काले झंडे दिखाए। इस दौरान कुछ किसानों ने भी उनका विरोध किया। उनका कहना है कि अभी तक उन्हें फसलों का मुआवजा नहीं मिला।

ये भी पढ़ें- दुनिया भर के 15 हजार वैज्ञानिक बोले- मानव जाति के अस्तित्व पर खतरा बढ़ा, बचने का अंतिम मौका

बता दें कि प्रदूषण के स्तर को कम करने के लिए दिल्ली सरकार के एक बार फिर से ऑड-इवन यातायात व्यवस्था लागू करने का आदेश दिया था, लेकिन एनजीटी ने इस मामले में केजरीवाल सरकार को फटकार लगाते हुए कहा था कि जिस स्वरूप में उन्होंने ऑड-इवन को लागू किया है, क्या वह कारगर है। इतना ही नहीं एनजीटी ने फटकार लगाते हुए कहा कि आखिर पिछली बार दिल्ली सरकार ने प्रदूषण कम करने के लिए जो बातें कहीं थी अभी तक उन्हें पूरा क्यों नहीं किया। हालांकि इस सब के बीच दिल्ली सरकार ने भी एनसीआर के शहरों में ऑड इवन लागू करने की मांग की थी, साथ ही प्रदूषण कम करने के लिए अपने यहां भी प्रभावी कमद उठाने की बात कही थी। 

ये भी पढ़ें- तेज रफ्तार ट्रेन को रोकते थे 2 रुपये के सिक्के से, बाद में बोगी में चढ़कर लूटपाट करने वाले दो बदमाश गिरफ्तार


हरियाणा-पंजाब के खेतों में जलाई जाने वाली पराली को इस प्रदूषण का एक बड़ा कारण माना गया, जिसके चलते उन्होंने हरियाणा और पंजाब के मुख्यमंत्री से मुलाकात कर इस मुद्दे पर चर्चा करने की मांग की थी। इसी के मद्देनजर हरियाणा के सीएम खट्टर से मिलने बुधवार सुबह केजरीवाल चंडीगढ़ पहुंचे। लेकिन यहां उन्हें विरोध प्रदर्शन का सामना करना पड़ा। चंडीगढ़ पहुंचने पर कांग्रेस और अकाली दल के कार्यकर्ताओं ने भी उन्हें काले झंडे दिखाए।

ये भी पढ़ें- दीपिका पादुकोण के बयान से भड़के फिल्म पद्मावति के विरोधी, सिनेमाघरों में तोड़फोड़, प्रदर्शन- हंगामा

वहीं मुलाकात को लेकर पंजाब के सीएम कैप्टन अमरिंदर सिंह ने कहा कि केजरीवाल को अच्छी तरह से पता है कि पराली मुद्दे पर उनके साथ बैठक करने का कोई नतीजा नहीं निकलना है। इसके बावजूद यह कहना मुश्किल है कि केजरीवाल इस मुद्दे में अपना हाथ क्यों काला करना चाह रहे है। कैप्टन ने कहा कि सड़क छाप राजनीतिक करने वाले अरविंद केजरीवाल इस मुद्दे पर दिल्ली सरकार की असफलता से लोगों का ध्यान भटकाने के लिए यह राजनीतिक हथकंडा अपना रहे हैं। कैप्टन ने कहा कि जिस तरह ऑड एंड ईवन स्कीम पर दिल्ली सरकार पलट गई वैसे ही उसका अन्य मुद्दों पर भी कोई स्टैंड नहीं है।

Todays Beets: