Friday, November 24, 2017

Breaking News

   मैदान पर विराट के आक्रामक रवैये पर राहुल द्रविड़ को सताई चिंता     ||   अजहर को अंतर्राष्ट्रीय आतंकी घोषित नहीं करेगा चीन, प्रस्ताव पर रोक लगाने के संकेत     ||   दुनिया की सबसे लंबी सुरंग बनाकर चीन अब ब्रह्मपुुत्र नदी का पानी रोकने का बना रहा है प्लान     ||   पीएम मोदी को शीला दीक्षित ने दिया जवाब- हमने नहीं भुलाया पटेल का योगदान    ||   पटना पहुंचे मोहन भागवत, यज्ञ में भाग लेने जाएंगे आरा, नीतीश भी जाएंगे    ||   अखिलेश को आया चाचा शिवपाल का फोन, कहा- आप अध्यक्ष हैं आपको बधाई    ||   अमेरिका में सभी श्रेणियों में H-1B वीजा के लिए आवश्यक कार्रवाई बहाल    ||   रोहिंग्या पर किया वीडियो पोस्ट, म्यांमार की ब्यूटी क्वीन का ताज छिना    ||   अब गेस्ट टीचरों को लेकर CM केजरीवाल और LG में ठनी    ||   केरल में अमित शाह के बाद योगी की पदयात्रा, राजनीतिक हत्याओं पर लेफ्ट को घेरने की रणनीति    ||

खट्टर से बातचीत करने चंडीगढ़ पहुंचे केजरीवाल को दिखाए काले झंडे, पराली जलाने के मुद्दे पर होगी चर्चा

अंग्वाल न्यूज डेस्क
खट्टर से बातचीत करने चंडीगढ़ पहुंचे केजरीवाल को दिखाए काले झंडे, पराली जलाने के मुद्दे पर होगी चर्चा

चंडीगढ़ । दिल्ली-एनसीआर में प्रदूषण को लेकर पिछले कुछ दिनों से मचे हो-हल्ले और सुप्रीमकोर्ट-एनजीटी की फटकार के बीच दिल्ली के मुख्यमंत्री अरविंद केजरीवाल बुधवार दोपहर हरियाणा के सीएम मनोहर लाल खट्टर से मुलाकात करने चंडीगढ़ पहुंचे। हालांकि इस दौरान दोनों मुख्यमंत्रियों के बीच प्रदूषण को कम करने के लिए चर्चा होगी, लेकिन इससे पहले ही केजरीवाल का चंडीगढ़ आने पर कांग्रेस और अकाली दल के कार्यकर्ताओं ने भी उन्हें काले झंडे दिखाए। इस दौरान कुछ किसानों ने भी उनका विरोध किया। उनका कहना है कि अभी तक उन्हें फसलों का मुआवजा नहीं मिला।

ये भी पढ़ें- दुनिया भर के 15 हजार वैज्ञानिक बोले- मानव जाति के अस्तित्व पर खतरा बढ़ा, बचने का अंतिम मौका

बता दें कि प्रदूषण के स्तर को कम करने के लिए दिल्ली सरकार के एक बार फिर से ऑड-इवन यातायात व्यवस्था लागू करने का आदेश दिया था, लेकिन एनजीटी ने इस मामले में केजरीवाल सरकार को फटकार लगाते हुए कहा था कि जिस स्वरूप में उन्होंने ऑड-इवन को लागू किया है, क्या वह कारगर है। इतना ही नहीं एनजीटी ने फटकार लगाते हुए कहा कि आखिर पिछली बार दिल्ली सरकार ने प्रदूषण कम करने के लिए जो बातें कहीं थी अभी तक उन्हें पूरा क्यों नहीं किया। हालांकि इस सब के बीच दिल्ली सरकार ने भी एनसीआर के शहरों में ऑड इवन लागू करने की मांग की थी, साथ ही प्रदूषण कम करने के लिए अपने यहां भी प्रभावी कमद उठाने की बात कही थी। 

ये भी पढ़ें- तेज रफ्तार ट्रेन को रोकते थे 2 रुपये के सिक्के से, बाद में बोगी में चढ़कर लूटपाट करने वाले दो बदमाश गिरफ्तार


हरियाणा-पंजाब के खेतों में जलाई जाने वाली पराली को इस प्रदूषण का एक बड़ा कारण माना गया, जिसके चलते उन्होंने हरियाणा और पंजाब के मुख्यमंत्री से मुलाकात कर इस मुद्दे पर चर्चा करने की मांग की थी। इसी के मद्देनजर हरियाणा के सीएम खट्टर से मिलने बुधवार सुबह केजरीवाल चंडीगढ़ पहुंचे। लेकिन यहां उन्हें विरोध प्रदर्शन का सामना करना पड़ा। चंडीगढ़ पहुंचने पर कांग्रेस और अकाली दल के कार्यकर्ताओं ने भी उन्हें काले झंडे दिखाए।

ये भी पढ़ें- दीपिका पादुकोण के बयान से भड़के फिल्म पद्मावति के विरोधी, सिनेमाघरों में तोड़फोड़, प्रदर्शन- हंगामा

वहीं मुलाकात को लेकर पंजाब के सीएम कैप्टन अमरिंदर सिंह ने कहा कि केजरीवाल को अच्छी तरह से पता है कि पराली मुद्दे पर उनके साथ बैठक करने का कोई नतीजा नहीं निकलना है। इसके बावजूद यह कहना मुश्किल है कि केजरीवाल इस मुद्दे में अपना हाथ क्यों काला करना चाह रहे है। कैप्टन ने कहा कि सड़क छाप राजनीतिक करने वाले अरविंद केजरीवाल इस मुद्दे पर दिल्ली सरकार की असफलता से लोगों का ध्यान भटकाने के लिए यह राजनीतिक हथकंडा अपना रहे हैं। कैप्टन ने कहा कि जिस तरह ऑड एंड ईवन स्कीम पर दिल्ली सरकार पलट गई वैसे ही उसका अन्य मुद्दों पर भी कोई स्टैंड नहीं है।

Todays Beets: