Tuesday, March 26, 2019

Breaking News

    दिल्लीः NGT ने जर्मन कार कंपनी वोक्सवैगन पर 500 करोड़ का जुर्माना ठोंका     ||    दिल्लीः राहुल गांधी 11 मार्च को बूथ कार्यकर्ता सम्मेलन को संबोधित करेंगे     ||    हैदराबाद: टीका लगाने के बाद एक बच्चे की मौत, 16 बीमार पड़े     ||   मध्य प्रदेश के ब्रांड एंबेसडर होंगे सलमान खान, CM कमलनाथ ने दी जानकारी     ||   पाकिस्तान को FATF से मिली राहत, ग्रे लिस्ट में रहेगा बरकरार     ||   आय से अधिक संपत्ति केसः हिमाचल के पूर्व CM वीरभद्र सिंह के खिलाफ आरोप तय     ||   भीमा-कोरेगांव केसः बॉम्बे HC ने आनंद तेलतुंबड़े की याचिका पर सुनवाई 27 तक टाली     ||   हिमाचल प्रदेश: किन्नौर जिले में आया भूकंप, तीव्रता 3.5     ||   PAK सेना के ISPR के डीजी ने कहा- हम युद्ध की तैयारी नहीं कर रहे, भारत धमकी दे रहा है     ||   ICC को खत लिखेगी BCCI- आतंक समर्थक देश के साथ खत्म हो क्रिकेट संबंध     ||

कांग्रेस ने यूपी में चला मास्टर स्टोक , 11 सीटों पर लोकसभा उम्मीदवारों का ऐलान कर सपा-बसपा को मारी चोट

अंग्वाल संवाददाता
कांग्रेस ने यूपी में चला मास्टर स्टोक , 11 सीटों पर लोकसभा उम्मीदवारों का ऐलान कर सपा-बसपा को मारी चोट

नई दिल्ली । लोकसभा चुनावों की 'हवाओं' के बीच भारतीय वायुसेना की पाकिस्तान पर की गई एयरस्ट्राइक ने सियासी दलों की रणनीति में कई छेद कर दिए हैं। जहां यूपी में सपा-बसपा द्वारा अपने गठबंधन में कांग्रेस को जगह देने की खबरें आईं, वहीं अब कांग्रेस ने अपनी नई चाल चलते हुए यूपी की 11 सीटों पर अपने उम्मीदवारों के नाम का ऐलान कर दिया है। इस सब के बाद अब ये चर्चा हो रही है कि क्या कांग्रेस के इस फैसले के बाद वह यूपी में सपा-बसपा-रालोद वाले गठबंधन का हिस्सा बनेगी । कांग्रेस ने अपने उम्मीदवारों का ऐलान ऐसे समय में किया है जब पिछले दिनों खुद राहुल गांधी यह कहते सुनाई दिए थे कि पार्टी सपा-बसपा के साथ यूपी में गठबंधन को लेकर बातचीत कर रही है, बात आगे बढ़ रही है लेकिन इस सब के बाद यूपी में अपने उम्मीदवारों का ऐलान करने के बाद अब कांग्रेस के गठबंधन में शामिल होने की संभावनाएं कमजोर नजर आ रही हैं। वहीं कुछ लोग इस सपा-बसपा और कांग्रेस की साझा रणनीति का हिस्सा बता रहे हैं।

खुफिया एजेंसियों का अलर्ट , राजौरी के निकट LOC पर आतंकियों के दो समूह घुसपैठ की फिराक में

बता दें कि सियासी दलों की रणनीति में बदलाव केंद्र की मोदी सरकार को पुलवामा हमले के बाद पाकिस्तान पर की गई कार्रवाई के बाद देखा जा रहा है। एक समय यूपी की 80 लोकसभा सीटे आपस में बांटने वाली सपा-बसपा ने कांग्रेस को कमजोर पार्टी करार देते हुए उसे गठबंधन से दूर रखने की बातें कहीं थी। इस सब के बाद पुलवामा हमला और उसके बाद मोदी सरकार की इच्छाशक्ति पर वायुसेना द्वारा पाकिस्तान पर एयर स्ट्राइक ने हवाएं भाजपा के पक्ष में कर दी हैं, जिससे घबराए सियासी दल अब अपनी रणनीति में बदलाव कर रहे हैं।

PM LIVE - मोदी ने कुदाल चलाकर रखी काशी विश्वनाथ कॉरिडोर की नींव , कहा- खुद भोले बाबा ने तय किया होगा, यहां आओ कुछ करके दिखाओ


बहरहाल , कांग्रेस ने गुरुवार को यूपी में लोकसभा की 11 सीटों के लिए अपने उम्मीदवारों का ऐलान कर दिया । पार्टी ने साफ कर दिया कि लोकसभा चुनाव 2019 में सोनिया गांधी रायबरेली से तो कांग्रेस अध्‍यक्ष राहुल गांधी अपनी सीट अमेठी से ही चुनाव लड़ेंगे। इसके साथ ही कांग्रेस ने दो ऐलान भी कर दिए कि अभी सोनिया गांधी राजनीति से सन्यास नहीं लेने जा रही हैं , वहीं नवनिर्वाचित प्रियंका गांधी वाड्रा रायबरेली से चुनाव लड़ने नहीं जा रही हैं।  कांग्रेस ने सोनिया और राहुल के अलावा उत्‍तरप्रदेश की उन्‍हीं सीटों के उम्‍मीदवारों की सूची जारी की है जहां पार्टी का मजबूत जनाधार माना जाता है। सपा बसपा से गठबंधन अगर होता भी तो ये लगभग सभी सीटें कांग्रेस के खाते में आतीं।

UN ने आतंकी हाफिज सईद की याचिका खारिज की , कहा- प्रतिबंधित आतंकियों की सूची से नहीं हटाया जाएगा नाम

असल में कांग्रेस ने पूर्वांचल की कुशीनगर सीट से पूर्व केंद्रीय राज्‍यमंत्री आरपीएन सिंह , धौरहरा से पूर्व केंद्रीय राज्‍यमंत्री जितिन प्रसाद , फरूर्खाबाद से सलमान खुर्शीद, फैजाबाद से निर्मल खत्री, सहारनपुर से इमरान मसूद, उन्‍नाव से अनु टंडन, बदायूं से सलीम शेरवानी, जालौन सुरक्षित सीट से बृजलाल खबरी और अकबरपुर से राजाराम पाल को उम्‍मीदवार बनाया गया है। हालाकि प्रियंका गांधी वाड्रा के लोकसभा चुनाव लड़ने के कयासों पर से अभी तक पर्दा नहीं हटा है। ऐसे कयास लगाए जा रहे हैं कि प्रियंका पूर्वी यूपी की ही किसी सीट से चुनाव लड़ सकती हैं।

Todays Beets: