Friday, December 15, 2017

Breaking News

   पशु तस्करों और पुलिस में मुठभेड़, जवाबी गोलीबारी में एक मरा, घायल गायें बरामद    ||   RTI में खुलासा- भगत सिंह-राजगुरु-सुखदेव को अब तक नहीं मिला शहीद का दर्जा, सरकारी किताब में बताया गया 'आतंकी'     ||    गुजरात चुनाव: रैली में बोले BJP नेता- दाढ़ी-टोपी वालों को कम करना पड़ेगा, डराने आया हूं ताकि वो आंख न उठा सकें    ||   मध्य प्रदेश: बाबरी विध्वंस पर जुलूस निकाल रहे विहिप-बजरंग दल कार्यकर्ता पर पथराव, भड़क गई हिंसा    ||   बैंक अकाउंट को आधार से जोड़ने की तारीख बढ़ी, जानिए क्या है नई तारीख    ||   पशु तस्करों और पुलिस में मुठभेड़, जवाबी गोलीबारी में एक मरा, घायल गायें बरामद     ||   अश्विन ने लगाया विकेटों का सबसे तेज 'तिहरा शतक', लिली को छोड़ा पीछे     ||   पूरा हुआ सपना चौधरी का 'सपना', बेघर होने के साथ बॉलीवुड से मिला बड़ा ऑफर    ||   PAK सरकार ने शर्तें मानीं, प्रदर्शन खत्म करने कानून मंत्री को देना पड़ा इस्तीफा    ||   मैदान पर विराट के आक्रामक रवैये पर राहुल द्रविड़ को सताई चिंता     ||

मध्य प्रदेश में बलात्कारियों को मिलेगी फांसी की सजा, विधेयक को मिली मंजूरी

अंग्वाल न्यूज डेस्क
मध्य प्रदेश में बलात्कारियों को मिलेगी फांसी की सजा, विधेयक को मिली मंजूरी

भोपाल। मध्यप्रदेश में 12 साल और उससे कम उम्र की लड़कियों से बलात्कार करने वालों को फांसी की सजा मिलेगी। मध्यप्रदेश विधानसभा के शीतकालीन सत्र में इसे मंजूरी दे दी गई है। बता दें कि इस विधेयक को सर्वसम्मति से पास किया गया है और अब इस विधेयक को कानूनी रूप देने के लिए राष्ट्रपति के पास भेजा जाएगा।

सख्त प्रावधान

गौरतलब है कि मध्यप्रदेश की शिवराज सिंह सरकार ने कहा कि इस मामले में नैतिक आंदोलन चलाने की जरूरत है। शिवराज ने कहा, ‘महिलाएं विशेषकर बेटियों की सुरक्षा एक चिंता का विषय है और इसी को लेकर विधानसभा ने एक ऐतिहासिक विधेयक पास किया है जिसमें 12 साल या उससे कम उम्र की बेटियों के साथ दुराचार करने वाले आरोपियों को फांसी की सजा देने का प्रावधान किया गया है। बेटियों का पीछा करने वाले आरोपियों के खिलाफ भी सख्त प्रावधान इस विधेयक में किया गया है। 


ये भी पढ़ें - गुजरात चुनाव के लिए कांग्रेस ने जारी किया अपना घोषणा पत्र, खुश गुजरात, खुशहाल गुजरात का दिया नारा

जुर्माने का प्रावधान

विधानसभा में पारित हुए विधेयक के मुताबिक आईपीसी की धारा 376 (बलात्कार) और 376 डी (सामूहिक बलात्कार) में संशोधन प्रस्ताव को मंजूरी प्रदान की है। दोनों धाराओं में दोषी को फांसी की सजा देने का प्रावधान शामिल किया गया है। महिलाओं के साथ छेड़छाड़ और उन्हें घूरने जैसे मामले में दोषियों को सजा के साथ एक लाख रुपये के जुर्माने का प्रावधान है। यहां बता दें कि मध्यप्रदेश सरकार की पिछली कैबिनेट बैठक में ग्रामीण विकास मंत्री गोपाल भार्गव ने आशंका जताई थी कि बलात्कारियों के लिए मौत की सजा के प्रावधान से अपराधी पीड़ितों को मारने की कोशिश करेंगे। ऐसे में सरकार को सोच समझ कर फैसले लेने चाहिए।

Todays Beets: