Thursday, August 16, 2018

Breaking News

   मंगल ग्रह पर आशियाना बनाएगा इंसान, वैज्ञानिकों को मिली पानी की सबसे बड़ी झील     ||   भाजपा नेता का अटपटा ज्ञान, 'मृत्युशैया पर हुमायूं ने बाबर से कहा था, गायों का सम्मान करो'     ||   आज से एक हुए IDEA-वोडाफोन! अब बनेगी देश की सबसे बड़ी टेलीकॉम कंपनी     ||   गोवा में बड़ी संख्‍या में लोग बीफ खाते हैं, आप उन्‍हें नहीं रोक सकते: बीजेपी विधायक     ||   चीन फिर चल रहा 'चाल', डोकलाम में चुपचाप फिर शुरू कीं गतिविधियां : अमेरिकी अधिकारी     ||   नीरव मोदी, चोकसी के खिलाफ बड़ा एक्शन, 25-26 सितंबर को कोर्ट में पेश होने के आदेश     ||   जापान में फ़्लैश फ्लड से 200 लोगों की मौत     ||   देहरादून में जलभराव पर सरकार ने लिया संज्ञान अधिकारियों को दिए निर्देश     ||   भारत ने टॉस जीता फील्डिंग करने का फैसला     ||   उपेन्द्र राय मनी लाउंड्रिंग मामले में सीबीआई ने 2 अधिकारियों को गिरफ्तार किया     ||

मध्य प्रदेश में बलात्कारियों को मिलेगी फांसी की सजा, विधेयक को मिली मंजूरी

अंग्वाल न्यूज डेस्क
मध्य प्रदेश में बलात्कारियों को मिलेगी फांसी की सजा, विधेयक को मिली मंजूरी

भोपाल। मध्यप्रदेश में 12 साल और उससे कम उम्र की लड़कियों से बलात्कार करने वालों को फांसी की सजा मिलेगी। मध्यप्रदेश विधानसभा के शीतकालीन सत्र में इसे मंजूरी दे दी गई है। बता दें कि इस विधेयक को सर्वसम्मति से पास किया गया है और अब इस विधेयक को कानूनी रूप देने के लिए राष्ट्रपति के पास भेजा जाएगा।

सख्त प्रावधान

गौरतलब है कि मध्यप्रदेश की शिवराज सिंह सरकार ने कहा कि इस मामले में नैतिक आंदोलन चलाने की जरूरत है। शिवराज ने कहा, ‘महिलाएं विशेषकर बेटियों की सुरक्षा एक चिंता का विषय है और इसी को लेकर विधानसभा ने एक ऐतिहासिक विधेयक पास किया है जिसमें 12 साल या उससे कम उम्र की बेटियों के साथ दुराचार करने वाले आरोपियों को फांसी की सजा देने का प्रावधान किया गया है। बेटियों का पीछा करने वाले आरोपियों के खिलाफ भी सख्त प्रावधान इस विधेयक में किया गया है। 


ये भी पढ़ें - गुजरात चुनाव के लिए कांग्रेस ने जारी किया अपना घोषणा पत्र, खुश गुजरात, खुशहाल गुजरात का दिया नारा

जुर्माने का प्रावधान

विधानसभा में पारित हुए विधेयक के मुताबिक आईपीसी की धारा 376 (बलात्कार) और 376 डी (सामूहिक बलात्कार) में संशोधन प्रस्ताव को मंजूरी प्रदान की है। दोनों धाराओं में दोषी को फांसी की सजा देने का प्रावधान शामिल किया गया है। महिलाओं के साथ छेड़छाड़ और उन्हें घूरने जैसे मामले में दोषियों को सजा के साथ एक लाख रुपये के जुर्माने का प्रावधान है। यहां बता दें कि मध्यप्रदेश सरकार की पिछली कैबिनेट बैठक में ग्रामीण विकास मंत्री गोपाल भार्गव ने आशंका जताई थी कि बलात्कारियों के लिए मौत की सजा के प्रावधान से अपराधी पीड़ितों को मारने की कोशिश करेंगे। ऐसे में सरकार को सोच समझ कर फैसले लेने चाहिए।

Todays Beets: