Sunday, May 27, 2018

Breaking News

   कानपुर जहरीली शराब मामले में 5अधिकारी निलंबित     ||   अब जल्द ही बिना नेटवर्क भी कर सकेंगे कॉल, बस Wi-Fi की होगी जरुरत     ||   मौलाना मदनी ने भी की एएमयू से जिन्‍ना की तस्‍वीर हटाने की वकालत     ||   भारत-चीन सेना के बीच हॉटलाइन की तैयारी, LoC पर तनाव होगा दूर     ||   कसौली में धारा 144 लागू, आरोपित पुलिस की गिरफ्त से बाहर     ||   स्कूली बच्चों पर पत्थरबाजी से भड़के उमर अब्दुल्ला, कहा- ये गुंडों जैसी हरकत     ||   थर्ड फ्रंट: ममता, कनिमोझी....और अब केसीआर की एसपी चीफ अखिलेश यादव के साथ बैठक     ||   मायावती का पलटवार, कहा- सत्ता के अहंकार में जनता को मूर्ख समझ रही BJP; शाह के गुरू मोदी ने गिराया पार्टी का स्तर     ||   चीन के स्‍पर्म बैंक ने रखी अनोखी शर्त, सिर्फ कम्‍युनिस्‍टों का समर्थन करने वाले ही दान कर सकेंगे स्‍पर्म     ||   CBSE पेपर लीक: हिमाचल से टीचर समेत 3 गिरफ्तार, पूछताछ में हो सकता है अहम खुलासा     ||

मध्य प्रदेश में बलात्कारियों को मिलेगी फांसी की सजा, विधेयक को मिली मंजूरी

अंग्वाल न्यूज डेस्क
मध्य प्रदेश में बलात्कारियों को मिलेगी फांसी की सजा, विधेयक को मिली मंजूरी

भोपाल। मध्यप्रदेश में 12 साल और उससे कम उम्र की लड़कियों से बलात्कार करने वालों को फांसी की सजा मिलेगी। मध्यप्रदेश विधानसभा के शीतकालीन सत्र में इसे मंजूरी दे दी गई है। बता दें कि इस विधेयक को सर्वसम्मति से पास किया गया है और अब इस विधेयक को कानूनी रूप देने के लिए राष्ट्रपति के पास भेजा जाएगा।

सख्त प्रावधान

गौरतलब है कि मध्यप्रदेश की शिवराज सिंह सरकार ने कहा कि इस मामले में नैतिक आंदोलन चलाने की जरूरत है। शिवराज ने कहा, ‘महिलाएं विशेषकर बेटियों की सुरक्षा एक चिंता का विषय है और इसी को लेकर विधानसभा ने एक ऐतिहासिक विधेयक पास किया है जिसमें 12 साल या उससे कम उम्र की बेटियों के साथ दुराचार करने वाले आरोपियों को फांसी की सजा देने का प्रावधान किया गया है। बेटियों का पीछा करने वाले आरोपियों के खिलाफ भी सख्त प्रावधान इस विधेयक में किया गया है। 


ये भी पढ़ें - गुजरात चुनाव के लिए कांग्रेस ने जारी किया अपना घोषणा पत्र, खुश गुजरात, खुशहाल गुजरात का दिया नारा

जुर्माने का प्रावधान

विधानसभा में पारित हुए विधेयक के मुताबिक आईपीसी की धारा 376 (बलात्कार) और 376 डी (सामूहिक बलात्कार) में संशोधन प्रस्ताव को मंजूरी प्रदान की है। दोनों धाराओं में दोषी को फांसी की सजा देने का प्रावधान शामिल किया गया है। महिलाओं के साथ छेड़छाड़ और उन्हें घूरने जैसे मामले में दोषियों को सजा के साथ एक लाख रुपये के जुर्माने का प्रावधान है। यहां बता दें कि मध्यप्रदेश सरकार की पिछली कैबिनेट बैठक में ग्रामीण विकास मंत्री गोपाल भार्गव ने आशंका जताई थी कि बलात्कारियों के लिए मौत की सजा के प्रावधान से अपराधी पीड़ितों को मारने की कोशिश करेंगे। ऐसे में सरकार को सोच समझ कर फैसले लेने चाहिए।

Todays Beets: