Thursday, November 23, 2017

Breaking News

   मैदान पर विराट के आक्रामक रवैये पर राहुल द्रविड़ को सताई चिंता     ||   अजहर को अंतर्राष्ट्रीय आतंकी घोषित नहीं करेगा चीन, प्रस्ताव पर रोक लगाने के संकेत     ||   दुनिया की सबसे लंबी सुरंग बनाकर चीन अब ब्रह्मपुुत्र नदी का पानी रोकने का बना रहा है प्लान     ||   पीएम मोदी को शीला दीक्षित ने दिया जवाब- हमने नहीं भुलाया पटेल का योगदान    ||   पटना पहुंचे मोहन भागवत, यज्ञ में भाग लेने जाएंगे आरा, नीतीश भी जाएंगे    ||   अखिलेश को आया चाचा शिवपाल का फोन, कहा- आप अध्यक्ष हैं आपको बधाई    ||   अमेरिका में सभी श्रेणियों में H-1B वीजा के लिए आवश्यक कार्रवाई बहाल    ||   रोहिंग्या पर किया वीडियो पोस्ट, म्यांमार की ब्यूटी क्वीन का ताज छिना    ||   अब गेस्ट टीचरों को लेकर CM केजरीवाल और LG में ठनी    ||   केरल में अमित शाह के बाद योगी की पदयात्रा, राजनीतिक हत्याओं पर लेफ्ट को घेरने की रणनीति    ||

युद्ध की धमकियों के मद्देनजर रक्षा मंत्रालय ने केंद्र से मांगा 20 हजार करोड़ का अतिरिक्त बजट

अंग्वाल न्यूज डेस्क
युद्ध की धमकियों के मद्देनजर रक्षा मंत्रालय ने केंद्र से मांगा 20 हजार करोड़ का अतिरिक्त बजट

नई दिल्ली । सीमा विवाद को लेकर चीन की धमकियों के बीच भारत के रक्षा मंत्रालय ने सरकार से 20 हजार करोड़ रुपये का अतिरिक्त बजट मांगा है। भारत और चीन के बीच डोकलाम को लेकर तनाव चरम पर है। आए दिन चीन भारत पर हमले की चेतावनी दे रहा है, लेकिन भारत ने अपना रुख साफ कर दिया है कि वह डोकलाम से अपने सैनिकों को नहीं हटाएगा, जिसपर मंगलवार को चीनी अखबार की ओर से कहा गया कि चीन भारत को आखिरी चेतावनी दे रहा है, अगर भारतीय सैनिक पीछे नहीं हुए तो चीन युद्ध करने से पीछे नहीं हटेगा। यह सब बयान बाजी उस समय और गंभीर हो जाती है जब नियंत्रक एवं महालेखापरीक्षक (कैग) अपनी एक रिपोर्ट में कह चुका हो कि भारतीय फौज के पास सिर्फ 10 दिन युद्ध करने का ही गोला बारूद है। ऐसे में रक्षा मंत्रालय ने केंद्र सरकार से 20 हजार करोड़ रुपये का अतिरिक्त बजट मांगा है। 

ये भी पढ़ें- चीन की धमकी, कहा- यह युद्ध की अंतिम चेतावनी, पीछे नहीं हटे तो होगा युद्ध, नेहरू जैसी नादानी न करें

असल में पिछले 50 दिनों से भारत और चीनी सैनिक डोकलाम में डटे पड़े हैं। उधर, कश्मीर मुद्दे को लेकर पाकिस्तान की ओर से संघर्ष विराम की घटनाएं बदस्तूर जारी हैं। चीन लगातार भारत को सैनिकों के पीछे नहीं हटने की सूरत में गंभीर परिणाम भुगतने की धमकी दे रहा है। हालांकि भारत सरकार इस मुद्दे को कूटनीति के साथ सुलझाने की जुगत में जुटा है। इस सब के बीच चीन ने डोकलाम विवाद में अब तक की सबसे बड़ी धमकी दी है, जिसमें उसने अंतिम चेतावनी देते हुए गंभीर परिणाम भुगतने के लिए कहा है। 

ये भी पढ़ें- चीन में जबरदस्त भूकंप से भारी तबाही, 100 की मौत, सैकड़ों जख्मी, 13000 से ज्यादा घरों को नुकसान


ऐसे हालात को देखते हुए रक्षा मंत्रालय ने सरकार से अतिरिक्त बजट की मांग की है। बता दें कि पिछले दिनों नियंत्रक एवं महालेखापरीक्षक (कैग) ने एक रिपोर्ट पेश की थी। उस रिपोर्ट में कहा गया था कि भारतीय सेना के पास सिर्फ 10 दिनों के युद्ध के लिए भी पर्याप्त गोला बारूद नहीं है। 

ये भी पढ़ें- दुनियाभर के सामने चीनी सेना हुई शर्मसार, सैन्य गेम्स में उड़े चीनी टैंक के परखच्चे

बता दें कि 2017 में केंद्र सरकार ने 2,74,113 करोड़ रुपये का रक्षा बजट पेश किया था। यह बजट पिछले साल के मुकाबले 6 फीसदी अधिक है। रक्षामंत्रालय के सूत्रों का कहना है कि बजट का आधा हिस्सा उन्हें मिल चुका है, जिसमें से एक तिहाई हिस्सा खर्च भी हो चुका है। 

ये भी पढ़ें- जम्मू—कश्मीर में घुसपैठ की कोशिश नाकाम, पांच आतंकी ढेर, भारी मात्रा में गोला—बारूद बरामद

Todays Beets: