Monday, September 24, 2018

Breaking News

   ग्रेटर नोएडा प्राधिकरण के पूर्व जीएम के ठिकानों पर आयकर के छापे     ||   बिहार: पूर्व मंत्री मदन मोहन झा बनाए गए प्रदेश कांग्रेस के अध्यक्ष। सांसद अखिलेश सिंह बनाए गए अभियान समिति के अध्यक्ष। कौकब कादिरी समेत चार बनाए गए कार्यकारी अध्यक्ष।     ||   कर्नाटक के मंत्री शिवकुमार के खिलाफ ED ने मनी लॉन्ड्रिंग का केस दर्ज किया    ||   सीतापुर में श्रद्धालुओें से भरी बस खाई में पलटी 26 घायल, 5 की हालत गंभीर     ||   मंगल ग्रह पर आशियाना बनाएगा इंसान, वैज्ञानिकों को मिली पानी की सबसे बड़ी झील     ||   भाजपा नेता का अटपटा ज्ञान, 'मृत्युशैया पर हुमायूं ने बाबर से कहा था, गायों का सम्मान करो'     ||   आज से एक हुए IDEA-वोडाफोन! अब बनेगी देश की सबसे बड़ी टेलीकॉम कंपनी     ||   गोवा में बड़ी संख्‍या में लोग बीफ खाते हैं, आप उन्‍हें नहीं रोक सकते: बीजेपी विधायक     ||   चीन फिर चल रहा 'चाल', डोकलाम में चुपचाप फिर शुरू कीं गतिविधियां : अमेरिकी अधिकारी     ||   नीरव मोदी, चोकसी के खिलाफ बड़ा एक्शन, 25-26 सितंबर को कोर्ट में पेश होने के आदेश     ||

दिल्ली-मेरठ एक्सप्रेसवे का काम मार्च 2019 तक होगा पूरा, प्रदूषण पर भी लगेगी लगाम- नितिन गडकरी

अंग्वाल न्यूज डेस्क
दिल्ली-मेरठ एक्सप्रेसवे का काम मार्च 2019 तक होगा पूरा, प्रदूषण पर भी लगेगी लगाम- नितिन गडकरी

नई दिल्ली। केन्द्रीय परिवहन और राजमार्ग मंत्री नितिन गडकरी ने शुक्रवार को इस बात का ऐलान किया कि दिल्ली से मेरठ के बीच बनने वाले 90 किलोमीटर के एक्सप्रेस वे का काम मार्च 2019 तक पूरा हो जाएगा। उन्होंने कहा कि इस एक्सप्रेसवे  के तैयार हो जाने से जहां दिल्ली से मेरठ के बीच की दूरी महज 40 मिनटों में तय की जा सकेगी वहीं इससे प्रदूषण को भी कम करने में काफी मदद मिलेगी। फिलहाल देश के इस पहले 14 लेन वाले एक्सप्रेसवे के पहले चरण का काम पूरा हो चुका है और प्रधानमंत्री 27 मई को इसे जनता को समर्पित करेंगे। इस मौके पर पीएम के साथ सड़क परिवहन मंत्री नितिन गडकरी के अलावा दिल्ली के राज्यपाल और मुख्यमंत्री के भी मौजूद रहने की उम्मीद जताई जा रही है। 

गौरतलब है कि दिल्ली-एनसीआर की सड़कों पर दिन-प्रतिदिन बढ़ते ट्रैफिक से निजात दिलाने के लिए केंद्र सरकार की तरफ से दिल्ली और मेरठ के 14 लेनों वाले एक्सप्रेसवे का निर्माण करने का निर्णय लिया है। करीब 90 किलोमीटर लंबी इस सड़क के निर्माण के पहले चरण का काम पूरा कर लिया गया है। सराय कालेखां में इस मार्ग पर बने फ्लाईओवर के बीच का हिस्सा (स्टील ट्रस) बनाने का काम भी पूरा हो गया है। शनिवार 27 मई को पीएम नरेन्द्र मोदी इसे जनता की आवाजाही के लिए खोल देंगे। इसके साथ ही दिल्ली के लोगों को ईस्टर्न पेरीफरल एक्सप्रेसवे का भी फायदा मिल जाएगा।  

ये भी पढ़ें - अभी- अभी  : आतंकियों ने कुलगाम में राष्ट्रीय राइफल के कैंप पर किया ग्रेनैड से हमला


यहां बता दें कि एक्सप्रेसवे के उद्घाटन से पहले पीएम मोदी दिल्ली के प्रगति मैदान से लेकर यूपी गेट तक खुली जीप में रोड शो करेंगे। बताया जा रहा है कि इस रास्ते को एनएच 24 से जोड़कर सीधे एनएच 58 से मिलाया जाएगा ताकि दूसरे राज्यों से आने वाले भारी वाहनों को भी जाम से निजात मिल सके। 

गौर करने वाली बात है कि दिल्ली-मेरठ एक्सप्रेसवे का दिल्ली में 8.7 किलोमीटर हिस्सा है जबकि गाजियाबाद में 42 किलोमीटर का हिस्सा आता है। इसके बाद डासना के पास यह एक्सप्रेस-वे इस्टर्न पेरीफेरल एक्सप्रेस-वे से मिल जाएगा। पहले दिल्ली-मेरठ एक्सप्रेस-वे का उद्घाटन अप्रैल में होना था लेकिन काम पूरा नहीं होने की वजह से इसे टाल दिया गया था। एक्सप्रेस-वे के उद्घाटन में पीएम मोदी के अलावा परिवहन और राजमार्ग मंत्री नितिन गडकरी, दिल्ली के उपराज्यपाल अनिल बैजल समेत कई केंद्रीय मंत्री मौजूद रहेंगे। दिल्ली के मुख्यमंत्री अरविंद केजरीवाल को भी आमंत्रित किया जाएगा।

 

Todays Beets: