Thursday, September 21, 2017

Breaking News

   जम्मू कश्मीर के नौगाम में लश्कर कमांडर अबू इस्माइल के साथ मुठभेड़,     ||   राम रहीम मामले पर गौतम का गंभीर प्रहार, कहा- धार्मिक मार्केटिंग का यह एक क्लासिक उदाहरण    ||   ट्राई ने ओवरचार्जिंग के लिए आइडिया पर लगाया 2.9 करोड़ का जुर्माना    ||   मदरसों का 15 अगस्त को ही वीडियोग्राफी क्यों? याचिका दायर, सुनवाई अगले सप्ताह    ||   पंचकूला से लंदन तक दिखा राम-रहीम विवाद का असर, ब्रिटेन ने जारी की एडवाइजरी    ||   PAK कोर्ट ने हिंदू लड़की को मुस्लिम पति के साथ रहने की मंजूरी दी    ||   बिहार आए पीएम मोदी, बाढ़ से हुई तबाही की गहन समीक्षा की    ||   जेल में ही वीडियो कांफ्रेंसिंग के जरिए राम रहीम को सुनाई जाएगी सजा    ||   मच्छल में घुसपैठ नाकाम, पांच आतंकी ढेर, भारी मात्रा में गोलाबारूद बरामद    ||   जापान के बाद अब अमेरिका के साथ युद्धाभ्यास की तैयारी में भारत    ||

डेरे की 'विष कन्याएं' चुनती थीं राम रहीम के लिए सुंदर साध्वियां, संबंध बनाने के लिए करती थीं विवश 

अंग्वाल न्यूज डेस्क
डेरे की

चंडीगढ़ । सिरसा के डेरा सच्चा सौदा के गुरुमीत राम रहीम को लेकर हर दिन नया खुलासा हो रहा है। अब खुलासा हुआ है रा रहीम की विषकन्याओं का जो इस बलात्कारी बाबा के लिए सुंदर साध्वियों का चुनाव करती थी और उन्हें राम रहीम के साथ संबंध बनाने के लिए मानसिक रूप से तैयार करती थी।  जो साध्वियों इसके लिए तैयार नहीं होती थी उसे कड़ी सजा भी मिलती थी। वहीं ये विषकन्याएं डेरा में आने वाली सुंदर साध्वियों को अच्छे काम में लगाती थीं, जबकि देखने में सामान्य साध्वियों को सफाई समेत अन्य काम दिए जाते थे। इस सबके लिए बकायदा एक ग्रुप बनाया गया था, जो डेरा में आने वाली साध्वियों को उनके रूप-रंग के आधार पर उन्हें काम देता था और बाबा से संबंध बनाने के लिए विवश करता था। 

डेरा में आने के साथ ही होता था चुनाव

डेरा सच्चा सौदा में राम रहीम के रहस्यों से पर्दा एक-एक करके उठता जा रहा है, अब खुलासा हुआ है कि डेरा में आने वाली युवतियों और महिलाओं को डेरा की 'विषकन्याएं'  पहले ही चुन लेती थीं। इनमें सुंदर काया वाली साध्वियों को बाबा की सेवा के काम में लगाया जाता था जबकि सामान्य साध्वियों को डेरा में सफाई, खाना-पकाना समेत अन्य कामों में लगाया जाता था। खुलासा हुआ है कि डेरा की ये विषकन्याएं सुंदर साध्वियों को ऐसे कामों में लगाती थीं, जहां वह राम रहीम के ज्यादा से ज्यादा संपर्क में रहें। उन्हें आसान काम दिए जाते थे। वहीं ये विषकन्याएं इन साध्वियों को राम रहीम से संबंध बनाने के लिए धीरे-धीरे मानसिक रूप से तैयार करती थीं। 


वरिष्ठ साध्वियां थी ये 'विषकन्याएं'

ये बातें भी सामने आईं है कि राम रहीम के लिए इस तरह के कार्यो को अंजाम देने वाली डेरा की वरिष्ठ साध्वियां होती थीं, जो पहले बाबा के शोषण का शिकार हो चुकी थीं और अब नई साध्वियों को इस सब में धकेलने का जिम्मा उठाती थीं। बाबा की ओर से ऐसी वरिष्ठ साध्वियों को खास सुविधाएं दी गई थीं। बताया जा रहा है कि इन साध्वियों को भी बाबा के कई राजों के बारे में जानकारी है। ये गुफा के कई अंजाने रास्तों से भलि-भांति परिचित थी।  

Todays Beets: