Saturday, January 20, 2018

Breaking News

   98 साल की उम्र में MA करने वाले राज कुमार का संदेश, कहा-हमेशा कोशिश करते रहें     ||   मुंबई स्टॉक एक्सचेंज ने पार किया 34000 का आंकड़ा, ऑफिस में जश्न का माहौल     ||   पं. बंगाल: मालदा से 2 लाख रुपये के फर्जी नोट बरामद, एक गिरफ्तार    ||   सेक्स रैकेट का भंड़ाभोड़: दिल्ली की लेडी डॉन सोनू पंजाबन अरेस्ट    ||   रूपाणी कैबिनेट: पाटीदारों का दबदबा, 1 महिला को भी मंत्रिमंडल में मिली जगह    ||   पशु तस्करों और पुलिस में मुठभेड़, जवाबी गोलीबारी में एक मरा, घायल गायें बरामद    ||   RTI में खुलासा- भगत सिंह-राजगुरु-सुखदेव को अब तक नहीं मिला शहीद का दर्जा, सरकारी किताब में बताया गया 'आतंकी'     ||    गुजरात चुनाव: रैली में बोले BJP नेता- दाढ़ी-टोपी वालों को कम करना पड़ेगा, डराने आया हूं ताकि वो आंख न उठा सकें    ||   मध्य प्रदेश: बाबरी विध्वंस पर जुलूस निकाल रहे विहिप-बजरंग दल कार्यकर्ता पर पथराव, भड़क गई हिंसा    ||   बैंक अकाउंट को आधार से जोड़ने की तारीख बढ़ी, जानिए क्या है नई तारीख    ||

डेरे की 'विष कन्याएं' चुनती थीं राम रहीम के लिए सुंदर साध्वियां, संबंध बनाने के लिए करती थीं विवश 

अंग्वाल न्यूज डेस्क
डेरे की

चंडीगढ़ । सिरसा के डेरा सच्चा सौदा के गुरुमीत राम रहीम को लेकर हर दिन नया खुलासा हो रहा है। अब खुलासा हुआ है रा रहीम की विषकन्याओं का जो इस बलात्कारी बाबा के लिए सुंदर साध्वियों का चुनाव करती थी और उन्हें राम रहीम के साथ संबंध बनाने के लिए मानसिक रूप से तैयार करती थी।  जो साध्वियों इसके लिए तैयार नहीं होती थी उसे कड़ी सजा भी मिलती थी। वहीं ये विषकन्याएं डेरा में आने वाली सुंदर साध्वियों को अच्छे काम में लगाती थीं, जबकि देखने में सामान्य साध्वियों को सफाई समेत अन्य काम दिए जाते थे। इस सबके लिए बकायदा एक ग्रुप बनाया गया था, जो डेरा में आने वाली साध्वियों को उनके रूप-रंग के आधार पर उन्हें काम देता था और बाबा से संबंध बनाने के लिए विवश करता था। 

डेरा में आने के साथ ही होता था चुनाव

डेरा सच्चा सौदा में राम रहीम के रहस्यों से पर्दा एक-एक करके उठता जा रहा है, अब खुलासा हुआ है कि डेरा में आने वाली युवतियों और महिलाओं को डेरा की 'विषकन्याएं'  पहले ही चुन लेती थीं। इनमें सुंदर काया वाली साध्वियों को बाबा की सेवा के काम में लगाया जाता था जबकि सामान्य साध्वियों को डेरा में सफाई, खाना-पकाना समेत अन्य कामों में लगाया जाता था। खुलासा हुआ है कि डेरा की ये विषकन्याएं सुंदर साध्वियों को ऐसे कामों में लगाती थीं, जहां वह राम रहीम के ज्यादा से ज्यादा संपर्क में रहें। उन्हें आसान काम दिए जाते थे। वहीं ये विषकन्याएं इन साध्वियों को राम रहीम से संबंध बनाने के लिए धीरे-धीरे मानसिक रूप से तैयार करती थीं। 


वरिष्ठ साध्वियां थी ये 'विषकन्याएं'

ये बातें भी सामने आईं है कि राम रहीम के लिए इस तरह के कार्यो को अंजाम देने वाली डेरा की वरिष्ठ साध्वियां होती थीं, जो पहले बाबा के शोषण का शिकार हो चुकी थीं और अब नई साध्वियों को इस सब में धकेलने का जिम्मा उठाती थीं। बाबा की ओर से ऐसी वरिष्ठ साध्वियों को खास सुविधाएं दी गई थीं। बताया जा रहा है कि इन साध्वियों को भी बाबा के कई राजों के बारे में जानकारी है। ये गुफा के कई अंजाने रास्तों से भलि-भांति परिचित थी।  

Todays Beets: