Tuesday, August 14, 2018

Breaking News

   मंगल ग्रह पर आशियाना बनाएगा इंसान, वैज्ञानिकों को मिली पानी की सबसे बड़ी झील     ||   भाजपा नेता का अटपटा ज्ञान, 'मृत्युशैया पर हुमायूं ने बाबर से कहा था, गायों का सम्मान करो'     ||   आज से एक हुए IDEA-वोडाफोन! अब बनेगी देश की सबसे बड़ी टेलीकॉम कंपनी     ||   गोवा में बड़ी संख्‍या में लोग बीफ खाते हैं, आप उन्‍हें नहीं रोक सकते: बीजेपी विधायक     ||   चीन फिर चल रहा 'चाल', डोकलाम में चुपचाप फिर शुरू कीं गतिविधियां : अमेरिकी अधिकारी     ||   नीरव मोदी, चोकसी के खिलाफ बड़ा एक्शन, 25-26 सितंबर को कोर्ट में पेश होने के आदेश     ||   जापान में फ़्लैश फ्लड से 200 लोगों की मौत     ||   देहरादून में जलभराव पर सरकार ने लिया संज्ञान अधिकारियों को दिए निर्देश     ||   भारत ने टॉस जीता फील्डिंग करने का फैसला     ||   उपेन्द्र राय मनी लाउंड्रिंग मामले में सीबीआई ने 2 अधिकारियों को गिरफ्तार किया     ||

पत्थरबाजों के केस वापस लेने वाले मामले पर भाजपा सांसद का बड़ा बयान, कहा- गोली मार देनी चाहिए

अंग्वाल न्यूज डेस्क
पत्थरबाजों के केस वापस लेने वाले मामले पर भाजपा सांसद का बड़ा बयान, कहा- गोली मार देनी चाहिए

नई दिल्ली। जम्मू कश्मीर में पत्थरबाजों पर दर्ज मामले को वापस लेने पर नेताओं की प्रतिक्रिया जारी है। अब हरियाणा के भिवानी जिले से भाजपा के राज्यसभा सांसद डीके वत्स ने पत्थरबाजों को लेकर एक बड़ा बयान दिया है। उन्होंने कहा कि इन लोगों को गोली मार देनी चाहिए। बता दें कि कुछ दिनों पहले सेना के अधिकारियों के बच्चों द्वारा दायर याचिका में पूछा गया है कि जिन सुरक्षाबल के मानवाधिकार का हनन हो रहा है क्या उन्हें मानवाधिकारों की रक्षा करने वालों की जरुरत नहीं है?

गौरतलब है कि सेना के अधिकारियों के बच्चों द्वारा याचिका में इस बता का भी जिक्र किया गया था कि भारतीय नागरिक खासकर सेना के जवानों के बच्चे होने की वजह से उन्हें उन जवानों की चिंता है जिनकी नियुक्ति अशांत क्षेत्रों में की गई है। अब इस याचिका को लेकर केन्द्र सरकार ने मानवाधिकार आयोग को अपना जवाब दिया है। केन्द्र सरकार ने कहा कि पत्थरबाजों के केस वापस लेने से सेना का मनोबल गिरेगा। 


ये भी पढ़ें - पीएनबी को करोड़ों का चूना लगाने वाला नीरव मोदी भागा लंदन, मांगी राजनीतिक शरण

यहां बता दें कि केन्द्र सरकार ने यह भी कहा कि इस तरह की घटनाओं से आतंकियों को नागरिकों का इस्तेमाल मानव ढाल के तौर पर करने और आतंकी गतिविधियों को अंजाम देने का बढ़ावा मिलेगा। सरकार का दायित्व है कि वह जजवानों के मानवाधिकारों को बचाने के लिए पत्थरबाजों और उकसाने वाले लोगों के खिलाफ कड़ी कार्रवाई करें।

Todays Beets: