Monday, September 24, 2018

Breaking News

   ग्रेटर नोएडा प्राधिकरण के पूर्व जीएम के ठिकानों पर आयकर के छापे     ||   बिहार: पूर्व मंत्री मदन मोहन झा बनाए गए प्रदेश कांग्रेस के अध्यक्ष। सांसद अखिलेश सिंह बनाए गए अभियान समिति के अध्यक्ष। कौकब कादिरी समेत चार बनाए गए कार्यकारी अध्यक्ष।     ||   कर्नाटक के मंत्री शिवकुमार के खिलाफ ED ने मनी लॉन्ड्रिंग का केस दर्ज किया    ||   सीतापुर में श्रद्धालुओें से भरी बस खाई में पलटी 26 घायल, 5 की हालत गंभीर     ||   मंगल ग्रह पर आशियाना बनाएगा इंसान, वैज्ञानिकों को मिली पानी की सबसे बड़ी झील     ||   भाजपा नेता का अटपटा ज्ञान, 'मृत्युशैया पर हुमायूं ने बाबर से कहा था, गायों का सम्मान करो'     ||   आज से एक हुए IDEA-वोडाफोन! अब बनेगी देश की सबसे बड़ी टेलीकॉम कंपनी     ||   गोवा में बड़ी संख्‍या में लोग बीफ खाते हैं, आप उन्‍हें नहीं रोक सकते: बीजेपी विधायक     ||   चीन फिर चल रहा 'चाल', डोकलाम में चुपचाप फिर शुरू कीं गतिविधियां : अमेरिकी अधिकारी     ||   नीरव मोदी, चोकसी के खिलाफ बड़ा एक्शन, 25-26 सितंबर को कोर्ट में पेश होने के आदेश     ||

टीम से बाहर चल रहे युवराज की बढ़ सकती हैं मुश्किलें, घरेलू हिंसा का मामला दर्ज

अंग्वाल न्यूज डेस्क
टीम से बाहर चल रहे युवराज की बढ़ सकती हैं मुश्किलें, घरेलू हिंसा का मामला दर्ज

नई दिल्ली। भारतीय क्रिकेट टीम से बाहर चल रहे युवराज सिंह की मुश्किलें और बढ़ सकती हैं। युवराज की भाभी आकांक्षा शर्मा ने युवराज और उसके परिवार के खिलाफ घरेलू हिंसा का आरोप लगाते हुए मामला दर्ज कराया है। इस मामले में सुनवाई 21 अक्टूबर को होगी। 

 

आभूषण वापस मांगे

गौरतलब है कि आकांक्षा की वकील स्वाति सिंह मलिक ने बताया कि उनकी मुवक्किल ने पति जोरावर सिंह, सास शबनम सिंह और देवर युवराज सिंह के खिलाफ घरेलू हिंसा का केस दर्ज कराया है। मामले की सुनवाई 21 अक्टूबर को होगी। यहां बता दें कि युवराज की भाभी की वकील स्वाति का कहना है कि युवी की मां शबनम सिंह ने हाल ही में आकांक्षा के खिलाफ एक शिकायत दर्ज कराई थी जिसमें उन्होंने शादी में दिए गए आभूषण और दूसरे सामान वापस मांगे थे। 


ये भी पढ़ें - पूर्व राष्ट्रपति ने ममता बनर्जी को ‘जन्मजात विद्रोही’ बताया, कहा-उनका भी किया था अपमान

युवी की चुप्पी

आपको बता दें कि युवराज पर केस दर्ज कराने को लेकर आकांक्षा के वकील ने बताया कि ‘घरेलू हिंसा का मतलब सिर्फ शारीरिक हिंसा नहीं है। इसका मतलब मानसिक और आर्थिक उत्पीड़न से भी है। युवराज पर भी ये बात लागू होती है क्योंकि जब आकांक्षा के साथ गलत हो रहा था, तब वे (युवराज सिंह) इसपर कुछ नहीं बोल रहे थे।’ स्वाति ने आरोप लगाया कि शबनम, जोरावर और आकांक्षा की जिंदगी में बहुत दखल देती थीं।

Todays Beets: