Monday, September 24, 2018

Breaking News

   ग्रेटर नोएडा प्राधिकरण के पूर्व जीएम के ठिकानों पर आयकर के छापे     ||   बिहार: पूर्व मंत्री मदन मोहन झा बनाए गए प्रदेश कांग्रेस के अध्यक्ष। सांसद अखिलेश सिंह बनाए गए अभियान समिति के अध्यक्ष। कौकब कादिरी समेत चार बनाए गए कार्यकारी अध्यक्ष।     ||   कर्नाटक के मंत्री शिवकुमार के खिलाफ ED ने मनी लॉन्ड्रिंग का केस दर्ज किया    ||   सीतापुर में श्रद्धालुओें से भरी बस खाई में पलटी 26 घायल, 5 की हालत गंभीर     ||   मंगल ग्रह पर आशियाना बनाएगा इंसान, वैज्ञानिकों को मिली पानी की सबसे बड़ी झील     ||   भाजपा नेता का अटपटा ज्ञान, 'मृत्युशैया पर हुमायूं ने बाबर से कहा था, गायों का सम्मान करो'     ||   आज से एक हुए IDEA-वोडाफोन! अब बनेगी देश की सबसे बड़ी टेलीकॉम कंपनी     ||   गोवा में बड़ी संख्‍या में लोग बीफ खाते हैं, आप उन्‍हें नहीं रोक सकते: बीजेपी विधायक     ||   चीन फिर चल रहा 'चाल', डोकलाम में चुपचाप फिर शुरू कीं गतिविधियां : अमेरिकी अधिकारी     ||   नीरव मोदी, चोकसी के खिलाफ बड़ा एक्शन, 25-26 सितंबर को कोर्ट में पेश होने के आदेश     ||

डेरा चेयरपर्सन विपश्यना और हनीप्रीत पहले गले मिलकर रोईं, पूछताछ शुरू हुई तो भिड़ने को तैयार

अंग्वाल न्यूज डेस्क
डेरा चेयरपर्सन विपश्यना और हनीप्रीत पहले गले मिलकर रोईं, पूछताछ शुरू हुई तो भिड़ने को तैयार

चंडीगढ़ ।  डेरा सच्चा सौदा प्रमुख गुरमीत राम रहीम सिंह के गोरखधंधों की राजदार हनीप्रीत और डेरा की चेयरपर्सन विपश्यना से शुक्रवार को हरियाणा पुलिस के साथ एसआईट टीम ने पांच घंटे तक पूछताछ की। सूत्रों के अनुसार, एसआईटी ने दोनों को एक दूसरे के सामने बैठा दिया, जिसमें एक दूसरे को देखते ही पहले तो विपश्यना और हनीप्रीत ने बड़े प्यार से लगे लगकर एक दूसरे से मुलाकात की। इस दौरान दोनों की आंखों से आंसू बह रहे थे, लेकिन जैसे ही दोनों को आमने-सामने बैठाकर पूछताछ शुरू हुई, दोनों एक दूसरे को झूठा साबित करने में जुट गई। दोनों के बीच तीखी तकरार हुईं, जिसे जांच दल ने चुप करवाया। हालांकि इस सब के बीच विपश्यना की निशानदेही पर पुलिस ने हनीप्रीत के मोबाइल को बरामद कर लिया है।

बता दें कि हनीप्रीत ने अपनी रिमांड के दौरान बताया था कि उसने अपना मोबाइल और लैपटॉप डेरा की चेयरपर्सन विपश्यना को सौंप दिया था। इसके बाद एसआईटी टीम ने विपश्यना को पूछताछ के लिए बुलाया था। गुरुवार को वह तबीयत खराब होने का बहाना बनाते हुए पूछताछ के लिए नहीं आई लेकिन मेडिकल जांच में सब ठीक पाए जाने पर शुक्रवार को वह पूछताछ के लिए पंचकुला के थाने में पहुंची। 

सूत्रों के अनुसार, इस दौरान हनीप्रीत और उसे आमने सामने बैठाकर पूछताछ की गई, लेकिन जैसे ही दोनों ने एक दूसरे को देखा, दोनों गले लगकर रोने लगीं। फिर जांच टीम ने दोनों से पूछताछ शुरू की तो दोनों का हाई वोल्टेड ड्रामा शुरू हो गया। जानकारी के अनुसार, पूछताछ में हनीप्रीत ने कहा कि 25 अगस्त को पंचकूला में हुई हिंसा की तैयारियों को लेकर 17 अगस्त को जो बैठक सिरसा डेरे में हुई थी, उसमें डेरा प्रबंधन समिति की चेयरपर्सन विपश्यना इंसा भी शामिल थी। 


प्राप्त जानकारी के अनुसार, जैसे ही हनीप्रीत ने विपश्यना इंसा पर 17 अगस्त की बैठक में शामिल होने का आरोप लगाया तो वह भड़क गई। विपश्यना ने हनीप्रीत के आरोपों को खारिज कर दिया। इस मुद्दे पर दोनों एक दूसरे से भिड़ने को तैयार हो गईं। दोनों के बीच जमकर बहस हुई, जिसे पुलिसकर्मियों ने शांत कराया। 

अपने जवाबों में विपश्यना ने सवालों के जवाब नहीं देते हुए उन्हें टाला। वह कह रही थी कि वह डेरे में जरूर होती है, लेकिन इसके अलावा भी काफी काम होते हैं। हालांकि विपश्यना ने हनीप्रीत द्वारा उसे मोबाइल दिए जाने की बात कबूली। हालांकि लैपटॉप और कोई डायरी दिए जाने की बातों को विपश्यना ने खारिज कर दिया।

Todays Beets: