Saturday, May 25, 2019

Breaking News

   अमित शाह बोले - साध्वी प्रज्ञा ठाकुर के गोसडे पर दिए बयान से भाजपा का सरोकार नहीं    ||   भाजपा के संकल्प पत्र में आतंकवाद और भ्रष्टाचार के खिलाफ कार्रवाई का वादा     ||   सुप्रीम कोर्ट ने लोकसभा चुनाव में ईवीएम और वीवीपैट के मिलान को पांच गुना बढ़ाया    ||    दिल्लीः NGT ने जर्मन कार कंपनी वोक्सवैगन पर 500 करोड़ का जुर्माना ठोंका     ||    दिल्लीः राहुल गांधी 11 मार्च को बूथ कार्यकर्ता सम्मेलन को संबोधित करेंगे     ||    हैदराबाद: टीका लगाने के बाद एक बच्चे की मौत, 16 बीमार पड़े     ||   मध्य प्रदेश के ब्रांड एंबेसडर होंगे सलमान खान, CM कमलनाथ ने दी जानकारी     ||   पाकिस्तान को FATF से मिली राहत, ग्रे लिस्ट में रहेगा बरकरार     ||   आय से अधिक संपत्ति केसः हिमाचल के पूर्व CM वीरभद्र सिंह के खिलाफ आरोप तय     ||   भीमा-कोरेगांव केसः बॉम्बे HC ने आनंद तेलतुंबड़े की याचिका पर सुनवाई 27 तक टाली     ||

LIVE - चुनाव आयोग ने रमजान में मतदान विवाद पर दी सफाई, कहा- रमजान पूरे महीने चलता है, जुमे का रखा गया ध्यान

अंग्वाल संवाददाता
LIVE - चुनाव आयोग ने रमजान में मतदान विवाद पर दी सफाई, कहा- रमजान पूरे महीने चलता है, जुमे का रखा गया ध्यान

नई दिल्ली । लोकसभा चुनावों की मतगणना के दौरान रमजान आने को लेकर उठे विवादों के बीच चुनाव आयोग ने भी अपनी ओर से बयान जारी किया है। कुछ मुस्लिम धर्मगुरू और कुछ सियासी पार्टियों के नेताओं द्वारा इस मुद्दे पर बयान देने के बाद अब चुनाव आयोग ने कहा है कि रमजान पूरे महीने चलता है, ऐसे में चुनाव नहीं टाले जा सकते थे ।  हालांकि, आयोग ने ये कहा कि तारीख तय करते वक्त मुख्य पर्व और जुमे का ध्यान रखा गया है। इस सब के बीच भारतीय जनता पार्टी पश्चिम बंगाल में चुनाव को लेकर चुनाव आयोग से मुलाकात करेगी। भाजपा की मांग है कि पश्चिम बंगाल में केंद्रीय फोर्स के मौजूदगी में चुनाव होने चाहिए, उन्हें पश्चिम बंगाल पुलिस पर भरोसा नहीं है।

ओवैसी का बड़ा बयान , कहा- मुसलमान रोजा भी रखेगा और वोट भी डालेगा, कुछ लोग बेवजह हंगामा कर रहे हैं

बता दें कि  चुनाव आयोग ने रविवार को देश में 17वीं लोकसभा के लिए होने वाले चुनावों की तारीखों का ऐलान कर दिया है। इस दौरान मई में रमजान के दौरान वोटिंग होने पर ईदगाह इमाम मौलाना खालिद रशीद फरंगी महली ने नाराजगी जताई है। रमजान के बीच लोकसभा चुनाव होने पर  उन्होंने चुनाव आयोग से मुसलमानों की भावना का खयाल रखने और चुनाव तिथि रमजान माह से पहले या बाद में करने की मांग की है। मौलाना खालिद रशीद फिरंगी महली ने कहा, 5 मई को मुसलमानों के सबसे पवित्र महीना रमजान का चांद देखा जाएगा। चांद दिख जाता है तो 6 मई को पहला रोजा होगा। रोजे के दौरान देश में 6 मई, 12 मई व 19 मई को मतदान की घोषणा की गई है। इससे करोड़ों रोजेदारों को परेशानी होगी। उन्होंने चुनाव आयोग से 6, 12 व 19 मई को होने वाले मतदान की तिथि बदलने पर विचार करने की मांग की है।

लोकसभा चुनाव 2019 - 18-19 साल के डेढ़ करोड़ युवा वोटर निभाएं अहम भूमिका , इस बार बढ़े 8 करोड़ 43 लाख वोटर


उनके इस बयान के बाद पश्चिम बंगाल की तेलगुदेशम पार्टी , नेशनल कॉंफ्रेंस के अलावा कई अन्य सियासी दलों ने विरोध दर्ज करवाया है। इन दलों के नेताओं का कहना है कि रमजान के दौरान मुस्लिम समुदाय के लोग धूप में कैसे मतदान के लिए जाएंगे। हालांकि देश के कई मुस्लिम नेताओं ने ही इन नेताओं पर पलटवार करते हुए कहा कि जब मुस्लिम रमजान के दौरान अपने अन्य सभी काम करते हैं तो उन्हें रमजान के दौरान मतदान करने में भी कोई समस्या नहीं है।

Breaking News- सुप्रीम कोर्ट ने गरीब सवर्णों को 10% आरक्षण पर रोक लगाने से किया मना , अगली सुनवाई 28 मार्च को

इस सब के बीच चुनाव आयोग का बयान सामने आया है जिसमें उन्होंने कहा -क्योंकि रमजान पूरे महीने चलता है ऐसे में चुनाव पूरे महीने के लिए नहीं टाले जा सकते थे। हालांकि हमने शुक्रवार का ध्यान रखा है।

Todays Beets: