Friday, April 26, 2019

Breaking News

   भाजपा के संकल्प पत्र में आतंकवाद और भ्रष्टाचार के खिलाफ कार्रवाई का वादा     ||   सुप्रीम कोर्ट ने लोकसभा चुनाव में ईवीएम और वीवीपैट के मिलान को पांच गुना बढ़ाया    ||    दिल्लीः NGT ने जर्मन कार कंपनी वोक्सवैगन पर 500 करोड़ का जुर्माना ठोंका     ||    दिल्लीः राहुल गांधी 11 मार्च को बूथ कार्यकर्ता सम्मेलन को संबोधित करेंगे     ||    हैदराबाद: टीका लगाने के बाद एक बच्चे की मौत, 16 बीमार पड़े     ||   मध्य प्रदेश के ब्रांड एंबेसडर होंगे सलमान खान, CM कमलनाथ ने दी जानकारी     ||   पाकिस्तान को FATF से मिली राहत, ग्रे लिस्ट में रहेगा बरकरार     ||   आय से अधिक संपत्ति केसः हिमाचल के पूर्व CM वीरभद्र सिंह के खिलाफ आरोप तय     ||   भीमा-कोरेगांव केसः बॉम्बे HC ने आनंद तेलतुंबड़े की याचिका पर सुनवाई 27 तक टाली     ||   हिमाचल प्रदेश: किन्नौर जिले में आया भूकंप, तीव्रता 3.5     ||

विधानसभा चुनावों के दौरान होने वाले संदिग्ध लेन-देन पर चुनाव आयोग सख्त, बैंकों को देनी होगी जानकारी

अंग्वाल न्यूज डेस्क
विधानसभा चुनावों के दौरान होने वाले संदिग्ध लेन-देन पर चुनाव आयोग सख्त, बैंकों को देनी होगी जानकारी

नई दिल्ली। चुनाव के दौरान होने वाले बेतहाशा खर्चे और संदिग्ध लेन-देन पर चुनाव आयोग सख्त हो गया है। आयोन ने दिशा निर्देश जारी करते हुए बैंकों से संदिग्ध लेन-देन की जानकारी देने के लिए कहा है। बता दें कि इस संबंध में कलेक्टर और मुख्य निर्वाचन पदाधिकारी को दिशानिर्देश भी जारी किए गए हैं। विधानसभा चुनाव को ध्यान में रखते हुए 1 लाख से अधिक के होने वाले सभी संदिग्ध लेन-देन की निगरानी की जाएगी। 

गौरतलब है कि चुनाव आयोग विधानसभा चुनाव के दौरान होने वाले वित्तीय अनियमितताओं को रोकने के लिए सख्त कदम उठा रहा है। चुनाव आयोग ने बैंकों को दिशा निर्देश जारी करते हुए पिछले 2 महीनों में जिस भी खाते में 1 लाख या उससे ज्यादा की रकम जमा की गई या फिर निकाली गई है उसकी जानकारी देने के लिए कहा गया है। 


ये भी पढ़ें- LIVE: कुलगाम में सुरक्षाबलों ने 3 आतंकियों को किया ढेर, 2 जवान भी घायल, ट्रेन और इंटरनेट सेवा बंद

यहां बता दें कि बैंकों को किसी खास खाते के जरिए अन्य लोगों के खाते में भेजी गई रकम पर ध्यान देने के लिए कहा गया है। ऐसा कोई भी बड़ा लेन-देन जो बिना आरटीजीएस के माध्यम से हुआ हो उसका व्यौरा भी मांगा गया है। गौर करने वाली बात है कि चुनाव आयोग उम्मीदवारों के द्वारा शपथ पत्र में बताए गए संबंधियों के भी खातों की जानकारी ली जाएगी। इसके लिए एक टीम का गठन होगा जो बैंक में जाकर इन संदिग्ध लेन-देन की जांच करेगी। यह टीम किसी भी बैंक में औचक निरीक्षण भी कर सकती है। किसी भी खाते में 10 लाख रुपये से ज्यादा का लेन-देन होने पर इसकी जानकारी आयकर विभाग को भी देने का निर्देश है।

Todays Beets: