Saturday, December 15, 2018

Breaking News

   कुशल भ्रष्टाचार और अक्षम प्रशासन का मॉडल है कांग्रेस-कम्युन‍िस्ट सरकार-PM मोदी     ||   CBI: राकेश अस्थाना केस में द‍िल्ली हाई कोर्ट में सुनवाई 20 द‍िसंबर तक टली     ||   बैडम‍िंटन खि‍लाड़ी साइना नेहवाल ने पी कश्यप से की शादी     ||   गुलाम नबी आजाद ने जीवन भर कांग्रेस की गुलामी की है: ओवैसी     ||   बाबा रामदेव रांची में खोलेंगे आचार्यकुलम, क्लास 1 से क्लास 4 तक मिलेगी शिक्षा     ||   मैंने महिलाओं व अन्य वर्गों के लिए काम किया, मेरा काम बोलेगा: वसुंधरा राजे     ||   बजरंगबली पर दिए गए बयान को लेकर हिन्दू महासभा ने योगी को कानूनी नोटिस भेजा     ||   पीएम मोदी 3 द‍िसंबर को हैदराबाद में लेंगे पब्ल‍िक मीट‍िंग     ||   भगत स‍िंह आतंकवादी नहीं, हमारे देश को उन पर गर्व है- फारुख अब्दुल्ला     ||   अन‍िल अंबानी की जेब में देश का पैसा जा रहा है-राहुल गांधी     ||

बोर्ड की परीक्षाओं में होने वाले फर्जीवाड़े पर लगेगी लगाम, शिक्षकों को जारी होंगे विशेष कोड

अंग्वाल न्यूज डेस्क
बोर्ड की परीक्षाओं में होने वाले फर्जीवाड़े पर लगेगी लगाम, शिक्षकों को जारी होंगे विशेष कोड

लखनऊ। राज्य सरकार ने बोर्ड की परीक्षा में होने वाले फर्जीवाड़े पर लगाम लगाने की कवायद तेज कर दी गई है। उत्तरप्रदेश में पहली बार यह फैसला लिया गया है कि बोर्ड की परीक्षा में ड्यूटी देने वाले हर शिक्षक को विशेष कोड दिया जाएगा ताकि परीक्षा के दौरान कोई भी फर्जी शिक्षक बनकर गार्डिंग न कर सके। बता दें कि पहले ही घटनाओं से सबक लेते हुए राज्य के शिक्षा विभाग ने यह फैसला लिया है।

शिक्षकों को मिलेंगे विशेष कोड

गौरतलब है कि राज्य में होने वाली परीक्षाओं के दौरान बड़े पैमाने पर फर्जीवाड़े के मामला सामने आते रहे हैं जिससे सरकार की काफी किरकिरी हुई है। अब योगी सरकार ने इस पर लगाम लगाने की प्रक्रिया तेज कर दी है। यहां बता दें कि इस साल होने वाली बोर्ड परीक्षा मार्च में शुरू होने वाली है ऐसे में अब शिक्षकों को विशेष कोड देने की तैयारी की जा रही है।

ये भी पढ़ें - तमिलनाडू में विधायकों को मिलेगी दोगुनी सैलरी, सीएम ने सदन में किया विधेयक पेश, किसानों की मां...


शिक्षकों की विशेष पहचान

आपको बता दें कि शिक्षकों के परिचय पत्र के साथ शिक्षकों का ब्योरा परीक्षा कार्यालय में जमा किया जा रहा है। इसके आधार पर विभाग सभी शिक्षकों को विशेष कोड जारी करेगा। इस कोड से ही ड्यूटी करने वाले शिक्षक पहचाने जाएंगे बता दें कि यह कोड विभाग के साथ ही शिक्षक के परिचय पत्र पर भी अंकित होगा। बोर्ड परीक्षा में निरीक्षण के समय कोड देखकर ही शिक्षक का पूरा ब्योरा सामने आ जाएगा। यहां यह भी जान लें कि शिक्षा विभाग ने परीक्षा के दौरान शिक्षकों की ड्यूटी प्रक्रिया में भी बदलाव किया है। अब खुद विभाग ही शिक्षकों की ड्यूटी निर्धारित करेगा। पहले यह जिम्मेदारी केन्द्र निरीक्षक को दी जाती थी वे फोन कर शिक्षकों को ड्यूटी के लिए बुलाते थे। 

 

Todays Beets: