Monday, January 21, 2019

Breaking News

   ताबड़तोड़ एनकाउंटर पर योगी सरकार को SC का नोटिस, CJI बोले- विस्तृत सुनवाई की जरूरत     ||   तेहरान में बोइंग 707 किर्गिज कार्गो प्लेन क्रैश, 10 क्रू मेंबर की मौत     ||   PM मोदी बोले- जवानों के बाद किसानों की आंखों में धूल झोंक रही कांग्रेस     ||   PM मोदी बोले- हम ईमानदारी से कोशिश करते हैं, झूठे सपने नहीं दिखाते     ||   कुशल भ्रष्टाचार और अक्षम प्रशासन का मॉडल है कांग्रेस-कम्युन‍िस्ट सरकार-PM मोदी     ||   CBI: राकेश अस्थाना केस में द‍िल्ली हाई कोर्ट में सुनवाई 20 द‍िसंबर तक टली     ||   बैडम‍िंटन खि‍लाड़ी साइना नेहवाल ने पी कश्यप से की शादी     ||   गुलाम नबी आजाद ने जीवन भर कांग्रेस की गुलामी की है: ओवैसी     ||   बाबा रामदेव रांची में खोलेंगे आचार्यकुलम, क्लास 1 से क्लास 4 तक मिलेगी शिक्षा     ||   मैंने महिलाओं व अन्य वर्गों के लिए काम किया, मेरा काम बोलेगा: वसुंधरा राजे     ||

नोटबंदी पर विपक्षी हमले से सरकार के बचाव में उतरे वित्त मंत्री, कहा- बैंकों में पैसे जमा करवाना मकसद नहीं

अंग्वाल न्यूज डेस्क
नोटबंदी पर विपक्षी हमले से सरकार के बचाव में उतरे वित्त मंत्री, कहा- बैंकों में पैसे जमा करवाना मकसद नहीं

नई दिल्ली। केंद्र सरकार द्वारा 2 साल पहले की गई नोटबंदी पर विपक्ष लगातार हमलावर है। कांग्रेस के नेताओं की ओर से सरकार और प्रधानमंत्री पर किए जा रहे हमले पर वित्त मंत्री अरुण जेटली उनके बचाव में आ गए हैं। जेटली  ने सोशल मीडिया पर दिए जवाब में कहा कि सरकार का मकसद पूरे पैसों को बैंकों में जमा करने की नहीं थी। उन्होंने कहा कि देश को सही आर्थिक दिशा देने के लिए यह काफी जरूरी था। बता दें कि कांग्रेस के नेता मनीष तिवारी और पूर्व प्रधानमंत्री डाॅक्टर मनमोहन सिंह ने भी नोटबंदी के फैसले को गलत बताया है। कांग्रेस ने पीएम से देश से माफी मांगने की बात कहते हुए कल यानी की 9 नवंबर को पूरे देश में काला दिवस मनाकर इसका विरोध करने का ऐलान किया है।

गौरतलब है कि प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी ने 8 नवंबर 2016 को 500 और 1000 रुपये के नोटों के चलन पर प्रतिबंध लगा दिया था। सरकार के इस फैसले के बाद से विपक्ष पूरी तरह से उसपर हमलावर हो गया। कांग्रेस ने तो इसे देश का सबसे बड़ा घोटाला करार दिया था। सरकार का मानना था कि नोटबंदी से आतंकवाद और कालेधन पर लगाम लगेगी लेकिन ऐसा कुछ भी नहीं हुआ।

ये भी पढ़ें - नोटबंदी को लेकर कांग्रेस का सरकार पर हमला, कल पूरे देश में करेगी विरोध प्रदर्शन 


यहां बता दें कि विपक्ष के लगातार हमले पर सरकार और पीएम का बचाव करते हुए सोशल मीडिया पर लिखा कि कर व्यवस्था को समझना बड़ा मुश्किल हो गया था।जेटली ने आगे लिखा- “नोटबंदी को लेकर गलत आलोचना यह की जा रही है कि सारे पैसे बैंकों में जमा कर लिए गए। पैसे की जब्ती करना नोटबंदी का मकसद नहीं था। अर्थव्यवस्था को दुरुस्त करने और कर चुकाना इसके व्यापक लक्ष्य था।”

गौर करने वाली बात है कि भारतीय रिजर्व बैंक ने अपनी सालाना रिपोर्ट में कहा था कि नोटबंदी के बाद करीब 99 फीसदी पैसे वापस बैंकों में जमा हो गए हैं।  इसके बाद सरकार की काफी आलोचना हुई थी।

 

Todays Beets: