Friday, December 15, 2017

Breaking News

   पशु तस्करों और पुलिस में मुठभेड़, जवाबी गोलीबारी में एक मरा, घायल गायें बरामद    ||   RTI में खुलासा- भगत सिंह-राजगुरु-सुखदेव को अब तक नहीं मिला शहीद का दर्जा, सरकारी किताब में बताया गया 'आतंकी'     ||    गुजरात चुनाव: रैली में बोले BJP नेता- दाढ़ी-टोपी वालों को कम करना पड़ेगा, डराने आया हूं ताकि वो आंख न उठा सकें    ||   मध्य प्रदेश: बाबरी विध्वंस पर जुलूस निकाल रहे विहिप-बजरंग दल कार्यकर्ता पर पथराव, भड़क गई हिंसा    ||   बैंक अकाउंट को आधार से जोड़ने की तारीख बढ़ी, जानिए क्या है नई तारीख    ||   पशु तस्करों और पुलिस में मुठभेड़, जवाबी गोलीबारी में एक मरा, घायल गायें बरामद     ||   अश्विन ने लगाया विकेटों का सबसे तेज 'तिहरा शतक', लिली को छोड़ा पीछे     ||   पूरा हुआ सपना चौधरी का 'सपना', बेघर होने के साथ बॉलीवुड से मिला बड़ा ऑफर    ||   PAK सरकार ने शर्तें मानीं, प्रदर्शन खत्म करने कानून मंत्री को देना पड़ा इस्तीफा    ||   मैदान पर विराट के आक्रामक रवैये पर राहुल द्रविड़ को सताई चिंता     ||

सेना के ऑपरेशन 'क्लीन स्वीप' के तहत 4 आतंकियों को किया ढेर, 2 जवान घायल

अंग्वाल न्यूज डेस्क
सेना के ऑपरेशन

श्रीनगर । घाटी में आतंकियों के साथ जारी मुठभेड़ में सुरक्षा बलों को बड़ी सफलता मिली है। सेना ने घाटी में ऑपरेशन क्लीन स्वीप को जारी रखते हुए दो मुठभेड़ों में जैश और हिज्ब के कमांडरों सहित चार दुर्दात आतंकियों को ढे़र कर दिया है। ये आतंकी घाटी में कई वारदातों को अंजाम दे चुके थे। इनमें से जैश का ऑपरेशन हैड कमांडर उमर खालिद पर 12 लाख का इनाम था। उसने ही पिछले माह सितंबर में जिला पुलिस लाइन पुलवामा और 3 अक्टूबर को श्रीनगर एयरपोर्ट के पास हुमहामा क्षेत्र में बीएसएफ कैंप पर आत्मघाती हमले की साजिश रची थी।

सुरक्षा बलों ने खालिद के साथ ही दक्षिण कश्मीर के शोपियां में भी हिजबुल मुजाहिदीन के जिला कमांडर जाहिद समेत तीन आतंकियों को मार गिराया है। हालांकि इस कार्रवाई में दो जवान भी घायल हो गए हैं। खालिद के बारे में सुरक्षा बलों को ठोस जानकारी मिली थी, जिसके बाद से उसे दबोचने की रणनीति बनाई गई थी, हालांकि वह तीन बार बचकर भाग निकलने में कामयाब हो गया था, लेकिन सुरक्षा बलों ने आखिरकार उसे ढ़ेर कर ही दिया। 

बता दें कि सुरक्षा बलों को सोमवार सुबह खालिद को लेकर एक पुख्ता जानकारी मिली। जानकारी के अनुसार, खालिद एक टैक्सी में सवार होकर किसी से मिलने जाने वाला है। इस दौरान यह भी साफ हुआ कि वह जिस गाड़ी में जाएगा वह एक टाटा सूमो होगी। इसके बाद सुरक्षा बलों ने सादी वर्दी में नाका लगाया और खालिद का इंतजार करने लगे। मिली सूचना सही साबित हुई और सुरबा बलों को खालिद नजर आ गया। सुरक्षा बलों ने जैसे ही उसे रुकने का इशारा किया वह वहां ग्रेनेड फेंक फरार हा गया। सुरक्षा बलों ने उसका पीछा किया तो वह स्कूल के पास बने एक स्कूल के छिप गया। हालांकि सुरक्षा बलों ने इस घर को घेरकर खालिद को ढ़ेर कर दिया। 


वहीं एक अन्य मुठभेड़ में सुरक्षा बलों को जानकारी मिली थी कि हिजबुल के कुछ आतंकी शोपियां के गटीपोरा गांव में आए हैं। जवानों ने गांव की घेराबंदी शुरू की। खुद को घिरा पाकर आतंकियों ने गोली चलाई तो सुर7ा बलों ने जवाबी कार्रवाई की। इस दौरान सुरक्षा बलों ने वहां छिपे 3 आतंकियों को ढेर कर दिया। 

आइजीपी कश्मीर मुनीर अहमद खान ने आतंकियों के मारे जाने की बातों की पुष्टि करते हुए कहा कि मारे गए खालिद के अलावा सुरक्षा बलों के हाथों मारे गए तीनों आतंकी हिजबुल के थे। इनमें जिला कमांडर जाहिद मीर उर्फ उबैद के अलावा आसिफ और इरफान हैं। तीनों ही जिला शोपियां के रहने वाले थे। अंतिम पहचान के लिए इन तीनों के परिजनों को बुलाया गया है।

Todays Beets: